RDA के छोटे फ्लैटों में लिफ्ट व पार्किंग की सुविधा ने लोगों को किया आकर्षित

rda_index_300x250♦प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत आवास ऋण लेने पर अनुदान भी मिलेगा
♦3 बीएचके फ्लैट्स की बुकिंग खत्म, 2 बीएचके के फ्लैट्स का हो रहा पंजीयन

रायपुर-
रायपुर विकास प्राधिकरण व्दारा बनाये जा रहे प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत फ्लैट्स में सार्वजनिक लिफ्ट तथा पार्किंग स्थल भी दिया जाएगा. कमल विहार योजना में प्राधिकरण व्दारा बनाए जाने वाले ईड्ब्लूएस तथा एलआईजी फ्लैट्स में के साथ ही इन्द्रप्रस्थ रायपुरा में बन रहे ईड्ब्लूएस तथा एलआईजी फ्लैट्स में भी लिफ्ट और पार्किंग की सुविधा का प्रावधान किया गया है.प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एम.डी. कावरे ने बताया कि कमल विहार में प्राधिकरण व्दारा प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत सन् 2022 तक सबको आवास मिशन के अतंर्गत 768 ईड्ब्लूएस, 768 एलआईजी 1 तथा 512 एलआईजी 2 फ्लैट्स बना रहा है. आधुनिक सुविधाओं के साथ कमल विहार की लोकेशन और फ्लैट्स में दी जा रही सुविधा के कारण इन फ्लैट्स को जनता का अच्छा रिस्पांस मिल रहा है. 2 बीएचके के 768 ईडब्लूएस फ्लैट्स जिसका कारपेट एरिया 322 वर्गफुट तथा कीमत 5 लाख रुपए है इसमें आज की तिथि तक 342 फ्लैट्स का पंजीयन हो चुका है. जबकि 2 बीएचके के 768 एलआईजी 1 फ्लैट्स जिसकी कीमत 8 लाख रुपए है इसका कारपेट एरिया 586 वर्गफुट है  इसमें की स्थिति में 596 फ्लैट्स का पंजीयन हो चुका है. इन फ्लैट्स के आवेदन करने की तिथि 31 जनवरी 2018 तक है.

कावरे ने बताया कि प्राधिकऱण वर्तमान में इन्द्रपस्थ रायपुरा में प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत निर्माणाधीन 1472 ईडब्लएस फ्लैट्स की बुकिंग की जा रही जिसमें लगभग 1200 फ्लैट्स की बुकिंग हो चुकी है. 2 बीएचके की सुविधा वाले इस निर्माणाधीन फ्लैट्स की अनुमानित कीमत 4.79 लाख रुपए है. बोरियाखुर्द में भी 2बीएचके के एलआईजी फ्लैट्स जिसकी अनुमानित कीमत 7.88 लाख रुपए है की बुकिंग भी प्राधिकरण के न्यू राजेन्द्रनगर स्थित कार्यालय में अभी की जा रही है. इन फ्लैट्स हेतु बैंक से ऋण लेने पर ईडब्लूएस फ्लैट्स में 1.50 का अनुदान व एलआईजी फ्लैट्स हेतु आवास ऋण के ब्याज में 6.50 प्रतिशत का अनुदान भी प्रधानमंत्री आवास योजना के अतंर्गत बैंकों के माध्यम से मिलेगा.

मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने बताया कि कमल विहार योजना में बेहतर अधोसंरचना के रुप में चौड़ी सड़कें, हाइड्रोन्यूमैटिक प्रणाली के माध्यम से जल आपूर्ति की व्यवस्था हेतु 5 रिजरवायर का निर्माण किया गया है. पानी की आपूर्ति हेतु वॉटर मीटर भी लगाया जाएगा. योजना में उद्यान व खेल के मैदान विकसित किए जा रहे हैं. गंदे पानी की निकासी के लिए 48 करोड़ रुपए की लागत 6 सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाया जाएगा. सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट देश में उपयोग की जा रही जांची परखी तकनीक एसबीआर (सीक्वेनशिल बैच रियक्टर) पर आधारित है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>