शिक्षाकर्मी हड़ताल के बाद बदला स्कूलों का टाइम टेबल

cfa_index_1_jpgmantralay_rpr♦गुरूवार 7 दिसम्बर से लागू होगा आदेश
♦कोर्स पूरा करने छुट्टियों में भी खोले जा सकेंगे स्कूल
रायपुर।
राज्य सरकार ने पंचायत संवर्ग के शिक्षकों (शिक्षाकर्मियों) की हड़ताल के कारण स्कूलों में बारह कार्य दिवसों की पढ़ाई प्रभावित होने की वजह से बच्चों के हितों को ध्यान में रखकर एक पाली में संचालित होने वाले सरकारी स्कूलों में अध्यापन कार्य की अवधि बढ़ाने का निर्णय लिया है।
स्कूल शिक्षा विभाग प्रमुख सचिव विकासशील ने आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) से इस आशय का आदेश सभी जिला कलेक्टरों और जिला शिक्षा अधिकारियों को जारी कर दिया। सामान्य कार्य दिवसों में एक पाली वाले स्कूल सवेरे 10 बजे से शाम चार बजे तक खुलते हैं। शिक्षाकर्मियों की हड़ताल के कारण बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होने की वजह से इसमें सुबह और शाम आधे-आधे घण्टे की वृद्धि की गई है।
डाउनलोड करें CGWALL News App और रहें हर खबर से अपडेट
https://play.google.com/store/apps/details?id=com.cgwall

प्रमुख सचिव द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि एक पाली में संचालित होने वाले सभी सरकारी स्कूलों का संचालन गुरूवार 7 दिसम्बर से 28 फरवरी 2018 तक प्रतिदिन सवेरे 9.30 बजे से शाम 4.30 बजे तक किया जाए। इस अवधि में शनिवार को भी स्कूल सवेरे 9.30 बजे से शाम 4.30 बजे तक लगाया जाए। आदेश में कहा गया है कि एक पाली में संचालित स्कूलों में भी पाठ्यक्रम पूर्ण करने की दृष्टि से छुट्टियों के दिनों में भी आवश्यकता के अनुसार स्कूल खोले जा सकते हैं।

इसी कड़ी में प्रमुख सचिव ने आदेश में कहा है कि दो पालियों में लगने वाले सरकारी स्कूलों का समय यथावत रहेगा, लेकिन उनमें शीतकालीन अवकाश सहित अन्य अवकाश दिवसों में भी अतिरिक्त कक्षाएं लगाकर पाठ्यक्रमों को पूर्ण करना होगा। ये निर्देश सभी सरकारी स्कूलों के लिए लागू होंगे।उन्होंने आदेश में जिला कलेक्टरों और जिला शिक्षा अधिकारियों से कहा है कि वे स्कूलों के संचालन समय में हुए परिवर्तन के बारे में सभी शाला प्रमुखों को कक्षाओं के टाईमटेबल में प्रतिदिन दो अतिरक्त कालखण्ड (पीरियड) निर्धारित करने के निर्देश दे और वहां अर्धवार्षिक मूल्यांकन के लिए पाठ्यक्रम चालू माह दिसम्बर के अंत तक पूर्ण करवाएं। इसके साथ ही आदेश में अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए भी कहा गया है कि स्कूलों में अर्धवार्षिक मूल्यांकन जनवरी के प्रथम सप्ताह में हो जाए और सम्पूर्ण पाठ्यक्रमों को फरवरी 2018 के अंत तक पूर्ण कर लिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>