वायरलेस कालोनी मे चोरी का खुलासाःबच्चों ने की थी चोरी,टेडीबियर भी ले गए थे

cfa_index_1_jpgIMG-20171206-WA0001बिलासपुर । पुलिस ने रेल्वे इलाके के वायरलेस कालोनी में दो-तीन दिन पहले हुई चोरी की वारदात का खुलासा करने में कामयाबी हासिल की है। इस मामले में चोरी गया सामान बरामद कर सभी आरोपियों के पकड़ लिया गया है। चोरी करने वालों में एक 22 साल का और बाकी  नाबालिग बच्चे हैं। जिनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।पुलिस नें बताया कि वायरलेस कालोनी में रहने वाले सत्येन्द्र सिंह ने 5 दिसंबर को तारबाहर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। जिसमें कहा गया था कि वे सपरिवार 2 दिसंबर को चिरमिरी गए थे। घर में ताला लगा था। 4 दिसंबर केो वापस लौटे तो घर के सामने का ताला टूटा हुआ था और घर के अँदर के सामान अस्त-व्यस्त बिखरे हुए थे। देखने पर पता चला कि घर से दो कैमरे, चाँदी का सिक्का , पायल, चाँदी की मूर्ति , टाप्स, माला, प्लेट, लोटा -थाली, बैग ,पर्स चोरी हो गए हैं। इस रिपोर्ट पर तारबाहर पुलिस ने आईपीसी की धारा 452,380 के तहत मामला दर्ज कर लिया।
डाउनलोड करें CGWALL News App और रहें हर खबर से अपडेट
https://play.google.com/store/apps/details?id=com.cgwall

इधर सूने घरों में हो रही चोरी की वारदातों को देखते हुए जिला पुलिस कप्तान मयंक श्रीवास्तव ने सभी थाना -चौकी प्रभारियों को पतासाजी करने के निर्देश दिए थे। साथ ही एएसपी (शहर) नीरज चँद्राकर  औऱ सीएसपी शलभ सिन्हा की अगुवाई में एक स्पेशल टीम का गठन किया था। इसके बाद चोरी के मामलों की पतासाजी की मुहिम शुरू कर दी गई थी। इसी दौरान खबर मिली कि वायरलेस कालोनी में जिस जगह पर चोरी हुई थी, वहा कुछ लड़कों को घर के आस-पास घूमते देखा गया था.

इस बारे में आला अफसरों को बताया गया । साथ ही संदेह के आधार पर डेविड टंडन को घेराबंदी कर पकड़ा गया। उससे पूछताछ की गई तो पहले उसने गुमराह करने की कोशिश की। लेकिन कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने जुर्म कबूल कर लिया। उसने बताया कि उसने विधि के विरुद्ध संघर्षरत तीन नाबालिग साथियों के साथ मिलकर चोरी की है और चोरी का सामान आपस में बांट लिया है।पुलिस ने निशानदेही पर उनके पास से चोरी का सामान बरामद कर लिया है। जिसमें कैमरा. 6 चाँदी का सिक्का, 1 जोडी चाँदी का पायल,1 घड़ी, 1 चाँदी की लक्ष्मी की मूर्ति, टाप्स 1 हार, 1 माला, 2 प्लेट,1 लोटा, 1 राड,सिक्का, टेडीबियरबैग,छोटा पर्सऔर एक बड़ा पर्स बरामद किया गया  है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>