शिक्षक मोर्चा का आरोप…कोर्ट निर्देशों की हुई अनदेखी…विक्रम ने बताया शिक्षक और छात्र हित में लेंगे निर्णय

IMG-20180110-WA0000बिलासपुर—-शिक्षक मोर्चा ने अतिशेष प्रक्रिया निरस्त करने बिल्हा विकासखण्ड को ज्ञापन दिया है। शिक्षक मोर्चा ने विकास खंड बिल्हा में सहायक शिक्षक पंचायत की अतिशेष सूची एवं नवीन विद्यालय में पदस्थापना आदेश को निरस्त करने की मांग की है। शिक्षक मोर्चा पदाधिकारियों ने बताया कि विकास खंड के कुछ शिक्षकों ने छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय में याचिका दायर किया है। उच्च न्यायालय ने निर्देश दिया है कि मुख्य कार्यपालन अधिकारी  मामले में आवश्यक कार्यवाही करें।
                      छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के आदेश का हवाला देते हुए शिक्षक मोर्चा पदाधिकारियों ने बिल्हा जनपद पंचायत अध्यक्ष गीतांजलि कौशिक, उपाध्यक्ष विक्रम सिंह ठाकुर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी और विकास खंड शिक्षा अधिकारी को मिड सेशन में युक्तियुक्तकरण प्रक्रिया को निरस्त करने की मांग की है।
                शिक्षक मोर्चा पदाधिकारी आलोक पांडेय ने बताया कि बिल्हा ब्लॉक में की गई युक्ति युक्तकरण की प्रक्रिया में काफी गड़बड़ी है। पिछले शैक्षणिक सत्र में दर्ज संख्या के आधार पर सहायक शिक्षक पंचायत का युक्ति युक्तकरण किया गया है। आलोक ने गीतांजली कौशिक और विक्रम सिंह को बताया कि सितंबर के बाद विद्यालय का यूडाईस बदल चुकाह है। स्कूलों में बच्चों की दर्ज संख्या भी बदल चुकी है। पिछले सत्र के दर्ज संख्या के आधार पर किया गया समायोजन जानबूझकर किया गया है। जो काफी विसंगति पूर्ण भी है।
                                        आलोक पाण्डेय ने विक्रम सिंह,गीतांजली कौशिक और सीईओ को बताया कि मध्य सत्र में शिक्षकों का स्थानांतरण औचित्यहीन है। ऐसा लगता है कि मध्य सत्र में स्थानांतरण शिक्षकों को करने के लिए किया गया है। जिसके कारण ना केवल शिक्षक परेशान हैं बल्कि छात्राों की पढ़ाई भी प्रभावित हुई है।
            आलोक बिल्हा विकासखण्ड के जन प्रतिनिधियों और अधिकारियों को बताया कि उच्च न्यायालय के आदेश की ना केवल अनदेखी की गयी है। बल्कि मध्यसत्र में स्थानान्तरण और युक्तियुक्तकरण से न्यायालय का अपमान भी हुई है। इसलिए प्रक्रिया को तत्काल निरस्त किया जाना चाहिए।

 

                                            प्रदीप पांडेय ने बताया कि मध्यसत्र में युक्ति युक्तियुक्रण के नाम पर शिक्षकों को मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है। प्रदीप ने पुराने आदेश को तत्काल रोकने की मांग की है।
           शिक्षक मोर्चा को बिल्हा जनपद पंचायत  उपाध्यक्ष विक्रम सिंह ठाकुर ने आश्वासन दिया है कि किसी भी शिक्षक को बेवजह परेशान नहीं किया जाएगा। किसी को परेशान होने की जरूरत नहीं है। 12 जनवरी को जनपद पंचायत की बैठक होगी। शिक्षकों की शिकायतों को सबके सामने रखा जाएगा। विक्रम ने बताया कि जरूरत पड़ी तो बैठक में पुराने आदेश को निरस्त करने का प्रस्ताव भी लाया लाया जाएगा।
              मोर्चा प्रतिनिधियों की मांग पर विक्रम ने कहा कि यह सच है कि परामर्श दात्री समिति की बैठक लंबे समय से नहीं हुई है। बड़े बाबू को बुलाकर अतिशीघ्र परामर्श दात्री समिति की बैठक आयोजित करने को कहा जाएगा।

 

                                       जनपद पंचायत बिल्हा उपाध्यक्ष से मुलाकात के दौरान शिक्षक मोर्चा नेता आलोक पांडेय, प्रदीप पांडेय के अलावा सुशील कैवर्त ,राकेश शुक्ला, कमलनारायण गौरहा,चंद्रशेखर नवरत्न समेत कई लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>