किसने कहा…सिम्स का करूंंगा औचक निरीक्षण…साहब समय शिकायत की नहीं…सहयोग और काम करने का है

ajay_chandrakar_indexबिलासपुर— देखिये साहब समय शिकायत करने का नहीं है….शिकायतों पर कार्रवाई होगी…कठोर कार्रवाई होगी….। लेकिन समय आकाल से लड़ने का है। आज हमने अधिकारियों के साथ बैठक की। आकाल से लड़ने का संकल्प लिया। लोगों को राहत पहुंचाने के लिए विचांर विमर्श किया है। हमने कैबिनेट में फैसला किया है कि आकाल के चपेट से बचने के लिए क्या किया जाए। आम लोगों तक कितने जल्दी और बिना देरी किए राहत पहुंचायी जाए। यह बातें कलेक्टर कार्यालय स्थित मंथन संभागार में समीक्षा बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान प्रभारी सचिव अजय चन्द्राकर ने कही।

                           पत्रकारों ने सवाल किया कि राजस्व विभाग में अराकता की स्थिति है। कोई कर्मचारी चाहे पटवारी हो या तहसीलदार किसी की नहीं सुनते हैं। उन्होने कहा इसकी जानकारी हमें हो गयी है। प्रशासन को सख्त कार्रवाई करने को कहा है। कोई कितना भी दबंग हो किसी को बख्शा नहीं जाएगा। लेकिन समय आकाल से लड़ने और कुछ करने का है। रही बात अराजकता कि तो दो तीन के भीतर कार्रवाई हो जाएगी। जिम्मेदार अधिकारी को कार्रवाई करने का आज पर्याप्त निर्देश दिया गया है।

                                        अजय चन्द्राकर ने कहा कि आकाल की स्थिति को देखते हुए मुख्य विषय है कि हमारे पास आज रोजगार की स्थिति क्या है। हमारे पास पानी कितना है…हम कितना पानी लोगों को दे सकते हैं….बिजली की स्थिति क्या है…रोजारोन्मुख कार्यक्रम को कारगर कैसे बनाएं..ज्यादा से ज्यादा लोगों को कैसे काम दे। कार्याजना कैसी हो…जिससे सभी को राहत मिले। तमाम बिन्दुओं पर आज अधिकारियों के साथ चर्चा हुई। अधिकारियों को सचेत रहने को कहा गया है। लापरवाही से बचने को भी कहा है।

                    अजय चन्द्राकर ने बताया कि एक दिन पहले कैबिनेट ने निर्णय लिया है कि नहर की पेट्रोलिंग करने के साथ तालाबों पर विशेष निगरानी हो। सिंचाई विभाग को निर्देश दिया गया है कि जलस्रोत पर नजर रखें। अन्य विभागों को भी आकाल से निपटने के लिए विशेष रूप से तैयार रहने की बात कही।

                                   स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि नहीं बताउंगा कि सिम्स का निरीक्षण  कब करूंगा। लेकिन करूंगा जरूर…निरीक्षण औचक होगा…तारीख बताने का अर्थ लोग सावधान हो जाएंगे। सामने कुछ नहीं आएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>