samvilyan Archive

शिक्षा कर्मियों में संविलयन के बाद भी क्यों है.. असंतोष…. ? खाली हाथ शिक्षा विभाग में हो रही बिदाई…

रायपुर ।    छत्तीसगढ़ सरकार ने शिक्षा कर्मियो की लंबित मांग संविलियन को अपने वादे के अनुसार कर ही दिया है  । प्रदेश में आठ वर्ष पूर्ण किये शिक्षा कर्मियो का संविलियन हो चुका है ।  एक जुलाई से संविलियन हुए शिक्षक संवर्ग को राज्य के कोषालय से वेतन भुगतान भी हो जायेगा ।  ऐसी

संविलयन की रेस में छत्तीसगढ़ की जीत….. लेकिन वेतन विसंगति- वर्ष बंधन के कारण जीत अधूरी… वीरेन्द्र दुबे बोले – संघर्ष जारी रहेगा

रायपुर।23 वर्षों से जारी विसंगतियों एवं तदर्थ पूर्ण नीतियों को समाप्त करते हुए संविलियन का ऐतिहासिक एवं साहसिक निर्णय प्रदेश के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने लिया और न केवल निर्णय बल्कि बहुत कम समय में इसको क्रियान्वयन हेतु आगे बढ़ाया। वर्तमान में संविलियन को मिशन मोड में आगे बढ़ाते हुए छत्तीसगढ़ मध्य प्रदेश से आगे

शिक्षा कर्मी संविलयनः हाईपावर कमेटी की रिपोर्ट रद्दी की टोकरी में….? उठ रहे विरोध के स्वर… मोर्चा की महाबैठक 21 को रायपुर में

रायपुर।शिक्षक पंचायत न.नि.मोर्चा की महाबैठक 21जुलाई शनिवार  को रायपुर में कलेक्टर गार्डन में दोपहर 1 बजे रखी गई है।शिक्षक पंचायत न.नि.मोर्चा के संचालक चंद्र देव राय ने बताया कि संविलियन से व संविलियन के बाद हुई विसंगतियों , वंचित वर्ग की हितों को लेकर  महा बैठक बुलाई गई है। जिसमे प्रदेश के सभी पंजीकृत संगठन प्रमुख को

शिक्षा कर्मी संविलयनः वरिष्ठता सूची प्रकाशित करने शिक्षा सचिव ने जारी किया आदेश

रायपुर  । शिक्षाकर्मियों के शिक्षा विभाग में संविलियन की प्रक्रिया तेजी से जारी है ।  इस सिलसिले में एक टाइम टेबल बनाकर काम किया जा रहा है  । जिसके तहत 16 जुलाई को शिक्षाकर्मियों की वरिष्ठता सूची का प्रकाशन किया जाना था ।  इसे लेकर स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव ने सोमवार को एक आदेश

शिक्षाकर्मी संविलयनः व्याख्याता (एल बी) को मिलेगा गजटेड का दर्जा.? लेकिन प्रक्रिया पूरी होने में लगेगा समय..

रायपुर।छत्तीसगढ़ के सरकारी स्कूलों में काम कर रहे शिक्षाकर्मियों के संविलयनके बाद उम्मीद की जा रही है कि बरसों से अपने अधिकार के लिए  संघर्ष कर रहे शिक्षकों को उनका हक भी मिलेगा और सम्मान भी हासिल  हो सकेगा। इसी कड़ी में एक अहम् सवाल है कि क्या अब तक शिक्षा कर्मी वर्ग एक या  

शिक्षा कर्मी संविलयन नया आदेशः प्रथम नियुक्ति के आधार पर होगी वरिष्ठता…. वेतनवृद्धि के साथ मिलेगा सातवां वेतनमान

रायपुर।  छत्तीसगढ़ के सरकारी स्कूलों में काम कर रहे शिक्षाकर्मियों के शिक्षा विभाग में संविलियन को लेकर स्कूल शिक्षा विभाग ने शुक्रवार को नया आदेश जारी किया है ।  जिसमें सभी पंचायत और स्थानीय निकायों को संविलियन के दौरान सेवाकाल की गणना  ,अतिशेष शिक्षकों की स्थिति , स्थानांतरण के लंबित मामले और सातवें वेतनमान के

MP में अध्यापकों के संविलयन को लेकर कुछ भी साफ नहीं….. भ्रम औऱ तनाव के बीच एक बार फिर आँदोलन की तैयारी… CM के गृह जिलें में मीटिंग 8 को….

भोपाल ।मध्यप्रदेश में अध्यापकों के संविलयन की घोषणा कर दी गई है । लेकिन इसे लेकर अध्यापकों में भ्रम की स्थिति है और उनके सामने अभी भी यह स्पष्ट नहीं है कि उन्हे आखिर क्या मिलेगा..। भ्रम औऱ तनाव के दौर से गुजर रहे अध्यापकों ने एक बार फिर से आँदोलन का बिगुल फूंक दिया

शिक्षा कर्मी संविलयनः 8 वर्ष का बंधन और क्रमोन्नति- वेतन विसंगति का मुद्दा विधानसभा में उठााएंगे टीएस सिंहदेव……. मोर्चा को दिया आश्वासन

रायपुर । शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा के प्रान्तीय संचालक विकास सिंह राजपूत व चन्द्रदेव राय के नेतृत्व मे शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा का एक प्रतिनिधिमंडल टी.एस. सिंहदेव नेता प्रतिपक्ष छत्तीसगढ़  विधानसभा से मुलाकात कर आठ वर्ष का बन्धन समाप्त कर वेतन विसंगति मे सुधार करते हुए क्रमोन्नति वेतनमान सहित संविलियन करने व दिवंगत

शिक्षाकर्मी- वर्ग तीन की वेतन विसंगति आखिर है क्या ..?यहाँ पढ़िए संविलयन से पहले क्रमोन्नत वेतनमान देकर कैसे दूर किया जा सकता है आक्रोश..

रायपुर । छत्तीसगढ़ के सरकारी स्कूलों में काम कर रहे शिक्षा कर्मियों के संविलयन की घोषणा और कैबिनेट की मंजूरी मिलने के बाद भी इसे लेकर कयासों और अनुमानों का दौर जारी है। इस सिलसिले में यह बात भी उठ रही है कि संविलयन के इस मसौदे से शिक्षा कर्मी वर्ग – 3 को काफी

MP में समान कार्य- समान वेतन को लेकर स्थिति अब भी स्पष्ट नहीं….” CM वादा निभाओ सम्मेलन ” करेंगे अध्यापक..

भोपाल । मध्यप्रदेश में संविलयन के बाद भी तरह-तरह की विसंगतियों का सामना कर रहे अध्यापकों का आंदोलन भले ही समाप्त हो गया है। लेकिन इस मामले में सरकार की ओर से जिस तरह वायदा खिलाफी की जाती रही है, उससे आक्रोश और आँदोलन की चिंगारी अभी भी पूरी तरह से नहीं बुझी है।समान कार्य-

संविलयन नहीं चाह रहे शिक्षा कर्मियों का नाम वरिष्ठता सूची से रहेगा बाहर….. तबादले में आए शिक्षा कर्मियों की वरिष्ठता पर पड़ेगा असर … सीआर के साथ संपत्ति का ब्यौरा भी होगा तैयार…

बिलासपुर ।  शिक्षाकर्मियों के संविलियन की प्रक्रिया में लगातार तेजी  आती जा रही है ।  इस सिलसिले में बिलासपुर के जिला शिक्षा अधिकारी ने भी सभी विकास खंड शिक्षा अधिकारियों को आदेश भेजकर संविलियन के संबंध में प्रक्रिया पूरी करने के निर्देश दिए हैं ।  इसमें विशेष रूप से सभी शिक्षाकर्मियों के पिछले 6 साल

शिक्षा कर्मी संविलयन से किसको-कितना फायदा..कितना नुकसान..? सोशल मीडिया में वायरल हो रही दिलचस्प दलीलें

रायपुर । छत्तीसगढ़ में कैबिनेट की बैठक में हुए शिक्षा कर्मीयो के संविलियन के निर्णय के बाद शिक्षा कर्मीयो का सोशल मीडिया प्लेटफार्म काफी एक्टिव हो गया है। प्रदेश में हुए संविलियन को लेकर सोशल मीडया में तर्क और कुतर्क का घमासान मचा हुआ है। कोई पक्ष और कोई विपक्ष में अपने अपने से  जोरदार

संविलयन के मुद्दे पर MP में अध्यापकों का आँदोलनः 24 जून को विधानसभा का घेराव….25 से आमरण अनशन

  भोपाल । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा 21 जनवरी को मुख्यमंत्री निवास में आयोजित अध्यापक सम्मेलन में समान कैडर के पदों – सहायक शिक्षक, शिक्षक एवं व्याख्याता के पदों पर अध्यापक संवर्ग का संविलियन कर राज्य कर्मचारियों का दर्जा दिए जाने की घोषणा एवं डेढ़ वर्ष पूर्व मुंबई में आयोजित पत्रकार वार्ता में अध्यापक

पहले सभी शिक्षाकर्मियों का हो संविलयन..फिर हो शिक्षकों की नई भर्ती..विकास राजपूत की चेतावनी-करेंगे पूरी ताकत से विरोध

रायपुर।नवीन शिक्षाकर्मी संघ के प्रदेशाध्यक्ष व मोर्चा के प्रदेश संचालक विकास सिंह राजपूत ने कहा है की अंग्रेजी व विज्ञान सहित अन्य विषयों के रिक्त पदों पर राज्य सरकार नियमित शिक्षको के भर्ती के पहले 1 जुलाई 2018 से प्रदेश मे कार्यरत शिक्षाकर्मियों का आठ वर्षबन्धन समाप्त कर समस्त शिक्षाकर्मियों का स्कूल शिक्षा विभाग मे

शिक्षाकर्मी संविलयनःकमलेश्वर बोले-वेतन विसंगति दूर किए बिना नहीं मिलेगा आर्थिक लाभ

रायपुर ।छत्तीसगढ़ के सरकारी स्कूलों में काम कर रहे शिक्षाकर्मियों को सोमवार को होने वाली कैबिनेट मीटिंग में संविलयन की सौगात मिलने की उम्मीद है। इसके साथ ही अनुमान और कयास लगाए जा रहे हैं कि संविलयन पर कैबिनेट की मुहर लगने के बाद किस तरह की स्थिति बनेगी। इसे लेकर  लोगों की अपनी -अपनी

नए शिक्षा सत्र का पहला दिन…..”संविलयन – गुलदस्ते ” से होगा स्वागत…1 लाख 80 हजार शिक्षा कर्मियों को कैबिनेट फैसले का इंतजार….

रायपुर ।  छत्तीसगढ़ के सरकारी स्कूल का नया शैक्षणिक सत्र सोमवार 18 जून से शुरू हो रहा है। यूं तो हर साल इस दिन की अपनी अलग अहमियत होती है। चूंकि भावी पीढ़ी – बच्चों के लिए यह दिन नए उत्साह के साथ स्कूल में दाखिल होने का दिन होता है और अपने स्कूल में

संविलयनः वर्ग-3 और 8 साल से कम वाले शिक्षा कर्मियों के मन की बात लेकर अभिषेक सिंह से मिले वीरेन्द्र दुबे…. पढ़िए क्या कहा सांसद ने…

  रायपुर ।  मुख्यमंत्री द्वारा संविलियन की घोषणा पश्चात,मीडिया द्वारा संविलियन के स्वरूप और वेतनमान पर काफी अटकलें और अनुमान लगाया जा रहा है,जिसमें 8 साल का वर्ष बन्धन और वर्ग 3 के वेतन में वर्ग 2,1के अनुपात में कम दर्शाया जा रहा है।जबकि यह मसला अत्यंत गोपनीय है,संविलियन के स्वरूप की जानकारी केवल मुख्यमंत्री

शिक्षा कर्मियों के संविलियन की घोषणा का संजय शर्मा ने किया स्वागतः वेतन विसंगति दूर हो तभी आएगा संघर्ष का सुखद परिणाम

बिलासपुर  । शिक्षक (पं/न.नि.) मोर्चा के  प्रदेश संचालक संजय शर्मा नें अम्बिकापुर की सभा में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष  अमित शाह की उपस्थिति में मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह द्वारा शिक्षाकर्मियों के संविलियन किये जाने के बहुप्रतीक्षित मांग पर की गई घोषणा को स्वागतेय बताते हुए कहा कि उनका यह कदम शिक्षाकर्मियों के समस्याओं का स्थायी समाधान

शिक्षा कर्मियों का संविलयनः MP जैसा न हो छत्तीसगढ़ का हाल….. मंत्री केदार कश्यप से मिले मोर्चा के पदाधिकारी

रायपुर । मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की ओर से शिक्षा कर्मियों के संविलयन के एलान के बाद संघठन के नेताओँ ने शिक्षा मंत्री केदार कश्यप से मिलकर खुशी का इजहार किया और सरकार की इस घोषणा को लेकर आभार व्यक्त किया। साथ ही शिक्षा मंत्री से यह अनुरोध भी किया कि संविलयन के आदेश से

MP में शिक्षा कर्मियों के संविलयन का फैसला 20 साल के संघर्ष का सुखद परिणामः विकास राजपूत बोले – अब छत्तीसगढ़ में भी जल्ही हो एलान

रायपुर । मध्यप्रदेश सरकार की ओर से शिक्षा कर्मियों के संविलयन के फैसले को लेकर छत्तीसगढ़ में भी व्यापक प्रतिक्रिया हो रही है। यहां के शिक्षा कर्मी नेताओँ और आम शिक्षा कर्मियों ने मध्यप्रदेश सरकार के इस फैसले का व्यापक रूप से स्वागत किया है। लोग इसे  बीस साल के संघर्ष का सुखद परिणाम मान