kamleshwar singh Archive

MP की तरह छत्तीसगढ़ में भी किया जा सकता है शिक्षा कर्मियों का संविलयन…. कमलेश्वर ने कहा प्रथम नियुक्ति से मिले वरिष्ठता

रायपुर । छत्तीसगढ़ व्याख्याता पंचायत संघ के प्राताध्यक्ष कमलेश्वर सिंह ने कहा  है कि मध्यप्रदेश में सरकार ने अध्यापक वर्ग का शिक्षा विभाग में संविलयन करेने की घोषणा कर दी है। इसी तरह छत्तीसगढ़ में शिक्षा कर्मियों का संविलयन किया जा सकता है। उन्होने मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह  की ओऱ से दिए जारहे संकेत को सकारात्मक

शिक्षा – कर्मियों का वेतन निर्धारण मूल वेतन के आधार पर हो…. कमलेश्वर ने उठाई माँग

 रायपुर ।    भूतलक्षी प्रभाव से समयमान /क्रमोन्नत वेतनमान में प्राप्त कर रहे मूल वेतन के आधार पर वेतन निर्धारण किये जाने पर ही शिक्षक पंचायत / नगरीय निकाय को  को आर्थिक लाभ होगा । उक्तशाय की मांग छत्तीसगढ़  व्यख्याता(पं)संघ के प्रान्ताध्यक्ष एवम् संचालक आम शिक्षक (पं/ननि)कर्मचारी एकता मंच के  कमलेश्वर सिंह ने राज्य शासन

शिक्षा कर्मियों का संविलयन राजस्थान मॉडल पर उचित नहीं….कमलेश्वर की माँग…शासकीय शिक्षकों के समान मिले सभी सुविधाएं

रायपुर । कमलेश्वर सिंह प्रान्ताध्यक्ष छ.ग.व्यख्याता(पंचायत )संघ एवम् संचालक एकता मंच  ने कहा है कि छत्तसीगढ़ शासन लोकशिक्षण संचानलाय के अधिकारियो को राजस्थान शिक्षा विभाग में संविलयन की प्रक्रिया का अध्ययन करने भेजा है जो कि स्वागत योग्य है ।किसी भी राज्य की शिक्षा व्यवस्था का अध्ययन करने में  कोई आपत्ति  नही है । परन्तु छत्तीसगढ़

व्याख्याता पंचायत को हर महीने कैसे हो रहा 10 हजार रुपए का नुकसान..?कमलेश्वर ने की विसंगति दूर करने की माँग

रायपुर ।छत्तीसगढ़ व्याख्याता पंचायत संघ के प्रांताध्यक्ष कमलेश्वर सिंह ने मांग की है कि    समयमान/क्रमोन्नत वेतनमान के आधार पर वेतन पुनरीक्षण का लाभ दिया जाये। उन्होने कहा कि   शिक्षा कर्मियो को समयमान/क्रमोन्नत वेतनमान के आधार पर वेतन पुनरीक्षण का लाभ नही मिलने से प्रत्येक माह 10हजार रूपये का आर्थिक क्षति उठानी पड़ रही है