cgwall Archive

बिलासपुर की सरलता ही चुनौती…नहीं मिला एक्सपोजर…मयंक ने बताया…आउट स्पोकेन नहीं..आउट वर्ल्डिंग बने

बिलासपुर—बिलासपुर प्रदेश का तीसरा बड़ा जिला है..लेकिन शहर बहुत छोटा है…लोग बहुत सरल हैं..शहर को ठीक से एक्सपोजर नहीं मिला…यही कारण है बिलासपुर का शहरीकरण ठीक से नहीं हुआ। बिलासपुर की सबसे बडी चुनौती यातायात है। यहां के लोग जल्द ही किसी पर विश्वास कर लेते हैं। कुछ हद तक अपराध का कारण भी है।

देखें VIDEO:धरम लाल कौशिक बोले-पहले व्यक्तिगत नहीं सैद्धांतिक थी राजनीति..कई क्षेत्रों में बढ़ा है राजनीति का दखल..

मीडिया के आज के दौर में सियासत Byte…. से चलती है…..। आरोप हो…. प्रत्यारोप हो…. या किसी को अपनी कोई बात सामने रखना हो…. Byte… के जरिए ही लोगों तक पहुंचती है….। “ एक ….Byte …और…” के जरिए हम राजनीतिक लोगों तक सियासत में आ रहे बदलाव से जुड़े  सवालों को लेकर पहुंच रहे हैं, जिसके जरिए यह समझने की कोशिश है कि

जिला पंचायत का यू टर्न…मूत्रालय निरीक्षण का तुगलकी फरमान वापस..कैसे हुआ…बच्चों और शिक्षकों का अपमान

बिलासपुर—जिला पंचायत धमतरी ने जिले के समस्त संकुल और स्कूलों  को जारी मू्त्रालय निरीक्षण का तुगलकी फरमान वापस ले लिया है। जिला पंचायत राजीव शिक्षा मिशन से जारी आदेश के अनुसार क्लास टीचर और मानिटर को मूत्रालय उपयोग के समय फोटो लेने का आदेश था। सुनिश्चित करने को कहा गया था कि मूत्रालय का उपयोग

इन एक्सप्रेस ट्रेनो मे लगेंगे एक्सट्रा कोच

बिलासपुर।रेलवे प्रशासन द्वारा यात्रियों की होने वाली अतिरिक्त भीड़़़ को ध्यान में रखते हुए निम्न एक्सप्रेस गाडियों में अतिरिक्त कोच अस्थायी रुप से लगाने की व्यवस्था की गई है। जिसका सीधा लाभ यात्रियों को कंफर्म सीट के रूप में मिलेगा।ट्रेन नंबर 12834/12833 हावडा-अहमदाबाद-हावडा एक्सप्रेस  मे 01 स्लीपर, हावडा से – 05 अगस्त से 07 अगस्त