संविलियन Archive

संविलयन फैसले में क्यों छला हुआ महसूस कर रहे शिक्षा कर्मी ? …. मंथन और रणनीति के लिए 23 जून को बुलाई बैठक

रायपुर । शिक्षक पं./न.नि.मोर्चा के आंदोलन दौरान सरकार द्वारा बनाई गई हाई पावर कमेटी में आशा अनुरुप परिणाम नही दिख रहा है,अनेक खामिया नजर आ रही है,सही मायने में कहे तो आधा अधूरा परिणाम है।असल में ज्यादातर साथियों के लिए कुछ भी लाभ नही हो रहा है।08 वर्ष से कम वाले साथियों को संविलियन नही

संविलयनःअहम् सवाल-शिक्षाकर्मी सरकारी कर्मचारी माने जाएंगे या नहीं,कमलेश्वर सिंह बोले-8 साल से कम सेवा वालों के साथ हुआ अन्याय

रायपुर।छत्तीसगढ़ मंत्रिमंडल की ओर से शिक्षा कर्मियों के संविलयन पर मुहर लगाए जाने के बाद से शिक्षा कर्मी संगठन के नेताओँ की प्रतिक्रियाएँ सामने आ रही हैं। जिसमें संविलयन की प्रक्रिया के लेकर भी सवाल उठाए जा रहे हैं। एक अहम् सवाल यह भी है कि नए संवर्ग में शिक्षा विभाग के अधीन किए जा

शिक्षाकर्मियों के लिए “अच्छे दिन” लाए सरकार..विरेन्द्र दुबे बोले-सबका साथ सबका विकास चरितार्थ करें

रायपुर।प्रदेश के शिक्षाकर्मियों की धड़कने सोमवार को होने वाली कैबिनेट बैठक को लेकर बढ़ी हुई है।मुख्यमंत्री द्वारा संविलियन की घोषणा होने से शिक्षाकर्मियों में हर्ष का वातावरण बना क्योंकि यह उनके सपनों को साकार होने जैसा था।संविलियन के लिए शिक्षाकर्मियों ने 22 वर्षो से अपना आंदोलन सतत जारी रखा,कई यातनाएं सही, अंततः आज वे अपने

शिक्षाकर्मीःतेजी से उठ रही माँग..2016 से सातवाँ वेतनमान देकर सभी शिक्षाकर्मियों का शिक्षा विभाग में हो संविलयन

जांजगीर।पिछले दिनों प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह द्वारा विकास यात्रा के दौरान अंबिकापुर की सभा में राज्यसभा सांसद व भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में छत्तीसगढ़ के शिक्षाकर्मियों के संविलियन की घोषणा कीथी।जिसके बाद जांजगीर प्रवास पर आए रायपुर कलेक्टर ओपी चौधरी  से संघ के पदाधिकारियों ने छत्तीसगढ़ पंचायत नगरीय निकाय शिक्षक संघ के प्रांतीय उपाध्यक्ष बसन्त

शिक्षाकर्मी संविलयनःMP में CM की घोषणा औऱ कैबिनेट फैसले में भारी अँतर,आक्रोशित अध्य़ापक उतरे सड़क पर

छिंदवाड़ा।समय समय पर प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा अध्यापक संवर्ग के लिए की गई घोषणाएं और उनके नेतृत्व में ही  मंत्रिमंडल द्वारा लिए गए 29 मई के निर्णय में भारी अंतर को देखते हुए मध्यप्रदेश का हर अध्यापक आक्रोशित है।उन्हें अपना भविष्य और बुढ़ापा अंधकारमय नजर आ रहा है।संभावित आदेश से अध्यापकों को कोई बड़ी राहत मिलते

संविलयन के फार्मूले को लेकर शिक्षाकर्मियों में बेचैनी:संजय शर्मा बोले-कैबिनेट मीटिंग के पहले सार्वजनिक हो संविलयन-ड्राफ्ट

बिलासपुर।प्रदेशभर  के  शिक्षाकर्मियों ने मुख्यमंत्री द्वारा किए गए संविलियन की घोषणा का स्वागत किया है पूरे प्रदेश के शिक्षाकर्मियों में इस घोषणा से हर्ष व्याप्त है।किंतु संविलियन के ड्राफ्ट सार्वजनिक नहीं होने से तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा के प्रदेश संचालक संजय शर्मा ने सरकार से मांग किया है

नारी शक्ति ने कहा सबका संविलियन करे सरकार,भेदभाव नही होगा स्वीकार

बिलासपुर।नवीन शिक्षाकर्मी संघ महिला प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष उमा जाटव व प्रवक्ता गंगा पासी,संगीता राणे,बलविंदर कौर,नंदिनी देशमुख,नानकी अंदानि,संगीता बैस,वीणा तुली,निर्मला पांडेय,गीता चन्द्राकर,ज्योति राजपूत ने कहा है की मां अम्बिका के सानिध्य मे बसे अम्बिकापुर के जनसभा मे विकास यात्रा के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के उपस्थिति मे प्रदेश के मुख्यमंत्री जी शिक्षा के क्षेत्र मे

संविलयन पर MP के नेताओँ की प्रतिक्रिया-सावधान और सचेत रहे…सरकार देती कम और ढिंढोरा अधिक पीटती है

भोपाल।छत्तीसगढ़ से पहले मध्यप्रदेश के शिक्षा कर्मियों के संविलयन का एलान हो चुका है। लेकिन इसकी प्रक्रिया अब भी जारी है। इस पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए मध्यप्रदेश अध्यापक संघर्ष समिति के सदस्य रमेश पाटिल ने कहा है कि इस घोषणा के बाद अब छत्तीसगढ़ के शिक्षा कर्मियों को ज्यादा सचेत और सावधान रहने की

छत्तीसगढ़ के शिक्षाकर्मियों को मिली ऐतिहासिक सौगात,अमित शाह बोले-अनुसूचित जाति जनजाति अधिनियम-आरक्षण की व्यवस्था कभी नहीं बदल सकती

अंबिकापुर।छत्तीसगढ़ राज्य की शिक्षा व्यवस्था की धुरी माने जाने वाले शिक्षाकर्मियों का संविलियन किया जाएगा। वहीं अनुसूचित जाति जनजाति अधिनियम में कभी बदलाव नहीं होगा और न आरक्षण की व्यवस्था कभी बदलेगी। राज्य में इन दिनों चल रही प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने उत्तर छत्तीसगढ़ अम्बिकापुर में यह ऐलान कर

PHOTO:शिक्षाकर्मियों में खुसुर फुसुर,क्या 24 वीं कमिटी तक करँगे इंतजार,फिर विश्व की सबसे ऊंची चोटी पर लिखा संविलियन

रायपुर।छत्तीसगढ़ में शिक्षाकर्मियों की संविलियन सहित अन्य मांगों को लेकर बनाई गई कमेटी लगता है कि अब ये अंतिम दौर में पहुंच गई है। मुख्यमंत्री का दिया हुआ बयान इसी ओर इशारा भी करता है।शिक्षाकर्मियों पर बनी अब तक 23 कमेटियों के बाद यह 24वीं कमेटी अपनी क्या रिपोर्ट पेेेेश करेगी। यह तो कमेटी की रिपोर्ट

पहले वेतन विसंगति दूर हो फिर मध्यप्रदेश से बेहतर संविलियन पेश करे छत्तीसगढ़ सरकार-कमलेश्वर सिंह

बिलासपुर।मानव संसाधन विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा सर्व शिक्षा अभियान एवम् राष्ट्रिय  माध्यमिक शिक्षा अभियान को एकीकृत करते हुए “समग्र शिक्षा अभियान ” के तहत कक्षा 1 ली से 12 वीं तक एक ही विभाग के अधीन संचालित करने के आदेश दिया हुआ है। मध्यप्रदेश में हुआ संविलियन फार्मूला “समग्र शिक्षा अभियान” की ओर एक महत्वपूर्ण

मंगलवार को मध्यप्रदेश शिक्षाकर्मियों के भाग्य का फैसला…कैबिनेट में संविलियन पर होगी चर्चा..छत्तीसगढ शिक्षकों की रहेगी टकटकी

बिलासपुर—मंगलवार को मध्यप्रदेश सरकार की कैबिनेट बैठक में  प्रदेश के दो लाख 84 हजार व्याख्याता शिक्षक, सहायक शिक्षक  के भाग्य का फैसला हो जाएगा। कयास लगाया जा रहा है कि शिवराज सिंह सदन में प्रदेश के शिक्षाकर्मियों की लंबे समय की संविलियन की मांग पर मुहर लगा देंगे। इसी के साथ ही छत्तीसगढ़ में शिक्षाकर्मियों में

शिक्षाकर्मियों के मामले में CM के बयान का कमलेश्वर ने किया स्वागत,शासकीय शिक्षक के बराबर मिले सुविधाएं

रायपुर।छत्तीसगढ़ के मुख्यमन्त्री डॉ रमन सिंह ने विकास यात्रा के दौरान संकेत दिया है कि मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित समिति ने शिक्षा कर्मियो की बहुप्रतीक्षित मांग स्कूल शिक्षा विभाग में संविलयन हेतु मार्ग निकाल लिया है समिति की रिपोर्ट आते ही इस पर निर्णय ले लिया जायेगा।छत्तीसगढ़ व्यख्याता(पं)संघ के प्रान्ताध्यक्ष कमलेश्वर सिंह ने

शिक्षाकर्मियों ने शुरू किया पोस्ट कार्ड अभियान,बनाफर बोले-CM तक पहुंचेगी हर एक सहायक शिक्षक की चिट्ठी

रायपुर।मंगलवार को रायपुर के कलेक्टोरेट गार्डन मे पंचायत /नगरीय निकाय सहायक शिक्षक कल्याण संघ का बैठक आयोजित की गई ।इस बैठक मे कई निर्णय लिए गए और संघ की ओर से चलाए जा रहे पोस्ट कार्ड अभियान की विधिवत शुरूआत की गई।बैठक की शुरूआत मे पंचायत नगरीय निकाय सहायक शिक्षक कल्याण संघ के द्वारा चलाये

शिक्षाकर्मियों का संविलयन संकल्प दिवस: केदार जैन बोले 26 मई को दिखाएंगे एकजुटता

रायपुर।संयुक्त शिक्षाकर्मी संघ के प्रांताध्यक्ष और मोर्चा के प्रदेश संचालक केदार जैन ने बताया कि 26 मई को मनाए जाने वाले संविलियन संकल्प दिवस पर प्रदेश के 1 लाख 80 हजार शिक्षाकर्मी अपने संविलयन के लिए तन,मन धन से संकल्पित होंगे।सभी 90 विधान सभा क्षेत्रो में आयोजित होने वाला यह संकल्प दिवस पूर्णतः गैर राजनीतिक

संविलयन को आम लोगों से जोड़ने-शिक्षाकर्मियों की मुहिम..संकल्प सभा के साथ लगाएंगे पोस्टर-बैनर

बालोद। 11 मई के संविलियन महापंचायत के निर्णय अनुसार अब जिले मे 26 मई के संकल्प सभा की तैयारी शुरू हो गई है।जिला मोर्चा संचालक दिलीप साहू एवं जिला सहसंचालक रघुनंदन गंगबोईर नै बताया कि जिले के अंतर्गत तीन विधानसभा क्षेत्र संजारी बालोद,गुंडरदेही व डौंडीलोहारा आते है ।तीनो विधानसभा मुख्यालय मे 26 मई को संकल्प सभा

महिला शिक्षाकर्मियों की महापंचायत में रहेगी सक्रिय हिस्सेदारी..तैयारी में जुटा संगठन

बालोद–11 मई को रायपुर मे होने वाले महापंचायत के लिए जिले के सभी विकास खंड मे तैयारी चल रही है।विदित हो कि मोर्चा द्वारा हुए पिछले 15 दिनो के आंदोलन मे महिला शिक्षा कर्मियो ने बढ चढ़कर हिस्सा लिया था व आंदोलन मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।छ ग पं न नि शिक्षक संघ ने प्रदेश

शिक्षाकर्मियों की अनोखी मुहिम सोशल मीडिया में वायरल,मेरा परिवार उसी के साथ,जो देगा संविलियन की सौगात

सूरजपुर।संयुक्त शिक्षाकर्मी संघ जिला सुरजपुर के शिक्षाकर्मियों ने संविलयन के लिए शोशल मीडिया पर एक अनोखी मुहिम छेड़ी है जो पूरे प्रदेश के पंचायत शिक्षकों के बीच तेजी से वायरल हो रही है।मेरा परिवार उसी के साथ,जो देगा संविलियन की सौगात, इस स्लोगन के साथ शिक्षाकर्मी अपने परिवार की सेल्फी शोशल मीडिया पर पोस्ट कर

शिक्षाकर्मियों को बांटने की साजिश,संविलियन के लिए महापंचायत की बैठक को सफल बनाने की तैयारी

प्रतापपुर।पिछले दिनों शिक्षक (पं./ननि) मोर्चा के बैनर तले प्रदेश भर के 1 लाख 80 हजार शिक्षाकर्मी 15 दिनों तक आंदोलनरत किया था।जिसके फलस्वरूप छत्तीसगढ़ शासन के द्वारा शिक्षाकर्मियों के माँगो पर सकारात्मक विचार करने के लिए दिसम्बर में मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमेटी का गठन किया गया था किन्तु हाई पावर कमेटी शिक्षाकर्मियों के मांग

शिक्षाकर्मियों को अब आदेश का इंतजार..संजय ने कहा…1 लाख 80 हजार शिक्षकों का सरकार करे फैसला

बिलासपुर–शिक्षाकर्मियों की 9 सूत्रीय मांग और उग्र आंदोलन के बाद राज्य सरकार की टीम राजस्थान पैटर्न को पढ़ने के बाद वापस आ गयी है। शिक्षक मोर्चा के संचालक संजय शर्मा ने बताया कि जो हमने बताया था सरकार की टीम ने वही पाया है। उम्मीद है कि सरकार हमारी मांग को लेकर अब 9 सूत्रीय