जेलों में तैयार किये गये विधिक वालेंटियर्स

JALEबिलासपुर— जस्टिस महादेव कातुलकर के मार्गदर्शन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण और जिला न्यायालय, बिलासपुर, कोटा, बिल्हा, तखतपुर, लोरमी, मुंगेली, पेण्ड्रा रोड और मरवाही के न्यायिक अधिकारियों और सचिव, शैलेश शर्मा, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन जेल में  किया जा रहा है। केन्द्रीय जेल, बिलासपुर और उप जेल पेण्ड्रा रोड में निरूद्ध बंदियों में से दस-दस अभिरक्षा में निरूद्ध व्यक्तियों को पैरालीगल वालंटियर्स के रूप में प्रशिक्षित किया गया है। ताकि अभिरक्षा में निरूद्ध व्यक्तियों की विधिक समस्याओं एवं उनके अधिकारों, स्वास्थ्य संबंधी किसी भी प्रकार की समस्या का निराकरण किया जा सके।
जिला विधिक प्राधिकरण के सचिव शैलेश ने बताया कि  उच्चतम न्यायालय के दिशा-निर्देश में अण्डर ट्रायल रिव्यूव कमेटी का गठन किया गया है। जिला न्यायाधीश महोदय कमेटी के अध्यक्ष हैं।  12 सितम्बर को नेशनल लोक अदालत केवल आपराधिक मामलों के संबंध में आयोजित किया जाएगा। सभी न्यायिक अधिकारियों, केन्द्रीय जेल, बिलासपुर एवं उप जेल पेण्ड्रा रोड, लीगल एड क्लिनीक में कार्यरत् अधिवक्ताओं को इस आशय का पत्र भी जारी कर दिया गया है।  ऐसे मामले जिनकी जमानत हो चुकी है परंतु अन्य कारणों से अभिरक्षा में निरूद्ध हैं या ऐसे मामले जो राजीनामा योग्य है और उसमें अभिरक्षा में निरूद्ध हैं तो उनकी जानकारी प्रेषित करने को कहा कहा गया है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण,द्वारा विधिक जागरूकता शिविर लगाकर न केवल गांव में बल्कि जेल, शैक्षणिक संस्थानों, सुदूर ग्रामीण अंचलों एवं प्रभावित क्षेत्रों में भी व्यापक रूप से प्रचार-प्रसार किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *