जिला सहकारी बैंक में कलेक्टर की जंगी बैठक…सेवामुक्त कर्मचारियों की हुई सुनवाई..धान पंजीयन तारीख का एलान

बिलासपुर— जिला सहकारी बैंक के प्राधिकृत अधिकारी कलेक्टर पी.दयानन्द ने विभिन्न कमेटियों के साथ बैठक कर काम काज की समीक्षा की। बैठक की अध्यक्षता कलेक्टर ने की। इस दौरान बोर्ड,लोन कमेटी, ऋण कमेटी, और स्टाफ के लोग मौजूद थे। बैठक में जरूरी काम काज के बाद बैंक कार्यक्षेत्र में आने वाले किसानों के लिए करोड़ों की ऋण स्वीकृत को हरी झण्डी मिली।

                  प्राधिकृत अधिकारी पी.दयानन्द ने जिला सहकारी बैंक अधिकारियों की बैठक की। बैठक का आयोजन जिला सहकारी बैंक कार्यालय में किया गया। इस दौरान अतिरिक्त कर्मचारियों के महंगाई भत्ता,मूल्य सूचकांक आधारित महंगाई भत्ता और ग्रेच्यूटी की सीमा को 10 से 20 लाख किए जाने पर मुहर लगाया गया।  इसके अलावा अन्य संबधित प्रस्तावों को भी स्वीकृत दी गयी।

            स्टाफ कमेटी अंतर्गत अनियमित भर्ती के दोषी सेवामुक्त कर्मचारियों की व्यक्तिगत सुनवाई भी हुई। लंबित अनुकम्पा नियुक्ति के प्रकरणों का निराकरण भी किया गया। कलेक्टर ने सभी को भय मुक्त वातावरण में काम करने का निर्देश भी दिया।

              बैठक में मुख्य रूप से संयुक्त पंजीयक केएल ढारगावे, उप पंजीयक दिलीप जायसवाल, उप संचालक कृषि अहिरवार, जिला सहकारी बैंक मुख्य कार्यपालन अधिकारी अभिषेक तिवारी विशेष रूप से मौजूद थे।

धान खरीदी समीक्षा बैठक

                 जिला सहकारी बैंक में बैठक के बाद कलेक्टर पी.दयानन्द मंथन सभागार में धान खरीदी 2018-19 समीक्षा बैठक को संबोधित किया। किसान पंजीयन और धान खरीदी की प्रारंभिक जानकारी ली। इस दौरान कलेक्टर ने जरूरी दिशा निर्देश भी दिया। बैठक में अपर कलेक्टर बी.एस उइके, जिला सहकारी बैंक मुख्य कार्यपालन अधिकारी अभिषेक तिवारी, एसडीएम देवेन्द्र पटेल,एसडीएम कोटा, कोटा उपपंजीयक, बिलासपुर डीडीए,डीएमओ शशांक दुबे, आशीष दुबे, समेत शाखा प्रबंधक, समिति के संस्था प्रबंधक भी मौजूद थे।

                             बैठक में कलेक्टर ने निर्देश दिया कि किसान पंजीयन 16 अगस्त 2018 से 31 अक्टूबर 2018 तक किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *