मस्जिद से नोटों के बैग को पार करने वाले पकड़ाए..एक रायपुर में दूसरा तखतपुर में मिला..दोनों आदतन बदमाश

तखतपुर–(टेकचंद कारड़ा)– दो दिन पहले तखतपुर की मस्जिद से नमाजी का चार लाख रूपए से भरे बैग को पार करने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने धर दबोचा है। पुलिस ने दोनों को अलग अलग स्थान से पकड़ा है। एक आरोपी रायपुर से तो दूसरे को तखतपुर मुसलमान मोहल्ला से गिरफ्तार किया गया है। दोनों आरोपी तखतपुर के ही रहने वाले है। दोनों ने नमाज अदा करते वक्त नमाजी का चार लाख से भरे नोटों के बैग को पलक झपकते पार कर दिया था। पकड़े गए दोनों आरोपियों के नाम शोएब ऊर्फ गोल्डी और तौहीद है।
                                    मालूम हो कि दो दिन पहले तखतपुर का खाद व्यवसायी मस्जिद में नमाज पढ़ रहा था। इस दौरान उसने नोटों से भरे बैग को अपने पीछे रख दिया। इसी दौरान मस्जिद में घुसकर नोटों से भरे बैग को अज्ञात चोरों ने पार कर दिया। नोटों से भरे बैग को पार होने के बाद खाद व्यवसायी पार्षद नदीम अंसारी सीधे थाने पहुंचा। शिकायत में उसने बताया कि बैग में चार लाख रूपए थे। पुलिस ने लिखित शिकायत पार पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 380 के तहत दर्ज कर लिया।
                         अपनी शिकायत में पार्षद मुकीम अंसारी ने पुलिस को बताया था कि शाम लगभग 8:30 बजे दुकान बढाकर भाई नदीम अंसारी दुकान की बिक्री लेकर मस्जिद गए थे। बैग में दिन भर की बिक्री लगभग 4 लाख रूपए थी। नमाज अदा करते वक्त नोटों से भरे बैग को अपने पीछे रख दिया। इसी दौरान एक अज्ञात व्यक्ति मस्जिद के अंदर आया। नोटों से भरे बैग को पार कर दिया। मामले की सूचना थाना प्रभारी किरण राजपूत को दी गई। किरण ने मामले की जानकारी उच्च अधिकारियों को दी। इसके बाद नाकेबंदी की कार्रवाई शुरू हुई। शिकायत के बाद आसपास के सभी सीसीटीवी कैमरों को खंगाला गया। मस्जिद में लगे कैमरे में बैग को पार करते देखा गया। फुटेज देखने के बाद पुलिस ने  2-1 संदिग्ध से पूछताछ की ।
मोबाइल चोरी से हुआ खुलासा
             सूत्रों ने बताया कि लगभग 2 माह पहले जून में मस्जिद से एक मोबाइल चोरी हुई थी। मोबाइल की आईएमआई नंबर से साइबर सेल ने पाता लगाया कि मोबाइल बरेला में किसी आशीष गुप्ता नामक व्यक्ति चला रहा है। पुलिस ने  आशीष को पकड़ा तो उसने बताया कि मोबाइल शोएब ऊर्फ गोल्डी निवासी मुसलमान मोहल्ला तखतपुर से खरीदा है। शोएब इस समय रायपुर में है। उसका पुलिस रिकार्ड भी ठीक नहीं है। पुलिस ने शोएब को रायपुर जाकर गिरफ्तार किया। कड़ी पूछताछ के दौरान शोएब ने बताया कि वह तखतपुर के ही अपने दूसरे साथी तौहीद के साथ मिलकर नोटों से भरे बैग को पार किया है।
                        लगभग 50000 रूपए दूसरे साथी तौहिद के पास हैं। पुलिस ने शोएब के पास से लगभग ढाई लाख रूपये जब्त किए। तौहीद को भी धर दबोचा। पचास हजार रूपए भी जब्त किए। जानकारी के अनुसार युवक ने मोबाइल चोरी जून माह में की थी।  लेकिन मोबाइल चोरी की जाच पड़ताल के दौरान चार लाख की चोरी का खुलासा हो गया।
               वरिष्ठ पुलिस कप्तान आरिफ शेख के निर्देश और एडिश्नल एस पी अर्चना झा ने एसडीओपी विश्व दीपक त्रिपाठी और थाना प्रभारी किरण राजपूत की सामुहिक प्रयास से दोनों चोरों को पकड़ लिया गया।
 रायपुर की मस्जिद में भी चोरी
                       आरोपी युवक शोएब उर्फ गोल्डी आदतन चोर है। गोल्डी ने तखतपुर की मस्जिद से लगभग 4 लाख रूपए से भरे बैग को पार किया था । जुलाई महीनें में रायपुर की मस्जिद की दान पेटी में रखे लगभग 40000 रूपए चुराए थे। समाज के लोगों की माफी पर छोड़ दिया गया।  मई महीने में तखतपुर मस्जिद की दानपेटी से भी शोएब ने 10000 रूपए की चोरी की थी। फिलहाल पता लगाया जा रहा है कि कहीं इसमें भी दोनों युवकों का ही हाथ तो नहीं है।
बैग पड़रिया रोड में फेंका
           पुलिस से शोएब ने बताया कि मस्जिद के अन्दर जाकर उसी ने बैग पार किया। चोरी के बाद बैग को पंड़रिया रोड स्थित दिलीप देवांगन साईं मंदिर दरबार के पीछे झाड़ियों में  फेंक दिया। शिकायतकर्ता नदीम के अनुसार बैग में जमीन खरीदी के स्टांप और दुकान के बही खाते हैं। फिलहाल पुलिस ने फैसला किया है कि मौके पर जाकर बैक को ढूढा जाएगा।
50, हजार उड़ा दिए
           पूछताछ के दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि दोनों आरोपियों ने मस्जिद से पार किए गए नोटों के बैग से 2 दिन में लगभग 50 हजार खर्च कर दिए हैं। युवकों ने चोरी के बाद रायपुर में खूब मौजमस्ती की। एक मंहगे होटल में भी एक रात बिताई है। फिलहाल मामले में जांंच पड़ताल अभी चल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *