शिक्षाकर्मी संविलयन :10 अगस्त को रायपुर में बड़ा प्रदर्शन, फ़ेडरेशन ने कहा -2011 का इतिहास दोहराएंगे

शिक्षक पंचायत,बस्तर,शिक्षामंत्री.धरना प्रदर्शन,शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा,प्रान्तीय संचालक विकास सिंह राजपूत,नवीन शिक्षाकर्मी संघ,प्रदेशाध्यक्ष व शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चारायपुर।छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फैडरेशन के प्रांतीय संयोजक शिव सारथी,जाकेश साहू,अजय गुप्ता,इदरीश खान,छोटेलाल साहू सहित सभी संयोजको ने 10 अगस्त को संकल्प सभा के माध्यम से सभी सहायक शिक्षक lb को तथा आठ वर्ष से कम सेवा अवधी वालो को रायपुर बुलाया है।इस सभा के माध्यम से बहुसंख्यक वर्ग 3 यह तय करेगा कि क्रमोन्नत माँग,वेतन विसंगति,वर्ष बन्धन और अनुकम्पा नियुक्ति के लिए सरकार से किस हद तक लड़ाई लड़ सकते है। आंदोलन से जुड़े जशपुर के अजय गुप्ता ने बताया कि इस बार सरकार और शिक्षाकर्मी संघ से जुड़े घोषणा बाज नेता हम लोगो को गुमराह नही कर सकते अब वर्ग 3 राजनैतिक मुद्दा और चन्दा खोरी का अड्डा नही है।

बल्कि अपने पैरों पर खड़ा हो गया है जो आगे की सभी लड़ाई अपने दम पर ही लड़ेगा इसी की ध्यान में रखकर सभी वर्ग 3 के संघो को मिलाकर फैडरेशन बनाया गया हैं जो 10 अगस्त को जबदस्त प्रदर्शन करने को तैयार है।

बिलासपुर के शिव सारथी का कहना है कि वर्ग 3 को शासन और पुराने संघो के नेता 2013 की वेतन विसंगति की भांति फिर झुंनझुना पकड़ने की तैयारी में थे पर ये वक्त पर इनका आक्रोश बाहर आ गया और शासन के कान खड़े हो गए उन्होंने आगे बताया कि यही कारण है कि शासन प्रशासन से जुड़े लोग क्रमोन्नत और वर्ष बन्धन पर मंथन चालू के दिये है यह इस बात से भी समझा जा सकता है कि मोर्चा से जुड़े नेताजी लोगो का अचानक से सक्रियता बढ़ गया है और वे तरह-तरह की अटकलों के बाजार को गर्माने में लगे हुए है वे डर गए है कि कही वर्ग 3 का सारा फैडरेशन न ले ले।

रायपुर से छोटे लाल साहू का कहना है कि 2011 में फैडरेशन ही क्रमोन्नत वेतनमान का आदेश कराया था वही इतिहास एक बार 2018 में दुहराने जा रहा है।

इदरीश खान का कहना है सरकार का महासम्मेलन भी होगा और सरकार 4 थी पारी भी खेलेगा पर उसके लिए वर्ग 3 की संतुष्टि जरूरी है। राजनांदगांव के जाकेश साहू लगातार वर्ग 3 को संगठित करने में लगे है जिनके प्रयास से पुराने संघो से जुड़े पदाधिकारी और वर्ग 3 के साथी पूरा मोह छोड़कर फैडरेशन से जुड़ रहे है।

इससे बैखलाये ये लोग अपने जनाधार को बचाने और वर्ग 3 के माँग को मटियामेट करने का कोई कसर नही छोड़ रहे है यही कारण है कि इनके स्वामी भक्त पदाधिकारी लोगों के बीच तरह तरह की भ्रामक प्रचार कर रहे है जो उनके गन्दे मानसिकता को दर्शाता हैं।,पर इससे फैडरेशन के आंदोलन को कोई फर्क नही पड़ने वाला है हम वर्ग 3 पूरी एकजुटता से अपने बहुसंख्यक बल के आधार पर 2011 की ही भाँति शासन को अपनी मांगों के लिए मजबूर कर देंगे और अपने साथियो को वेतन विसंगति,क्रमोन्नति और वर्ष बन्धन सहित अनुकम्पा नियुक्ति की सौगात दिलाकर सरकार का प्रदेश भर में सम्मान करके यशस्वी मुख्यमंत्री के मिशन को आगे बढाने में कोई गुरेज नही करेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *