करोंड़ों के विकास कार्य पर एमआईसी की मुहर….गोकुलधाम के बहुंरेगे दिन…खर्च होंगे एक करोड़ 80 लाख…

बिलासपुर— विकास भवन में एमआईसी की बैठक हुई। बैठक में फैसला लिया गया कि 180 लाख रुपए से गोकुल धाम का विकास किया जाएगा। आरसीसी नाला, कलवर्ट और सीसी सड़क चैड़ीकरण के काम पहले चरण में होगा। बुधवार की शाम मेयर इन कौंसिल ने टेंडर फाइनल कर काम को हरी झंडी दी है।
             बुधवार की शाम विकास भवन में मेयर किशोर राय की अध्यक्षता में शाम पांच बजे एमआईसी की बैठक हुई। बैठक में 36 प्रस्तावों को चर्चा के बाद पास कर दिया गया। बैठक में गोकुलधाम के विकास कार्यों को लेकर प्राथमिकता से चर्चा हुई। टेंडर प्रक्रिया फाइनल होने के बाद कार्यादेश करने और जल्द से जल्द कार्य शुरू करने की स्वीकृति दी गयी है।
                बैठक में निकाय मंत्री अमर अग्रवाल के जनसंपर्क क्षेत्र के निवासियों की मांग पर 1 करोड़ 29 लाख 72 हजार रुपए की लागत से ग्रीन गार्डन कालोनी से मुंदड़ा हास्पिटल तक आरसीसी नाली निर्माण, सेंट फ्रांसिस चौक से मंगला चैक तक नाली मरम्मत और फुटपाथ निर्माण की सहमति बनी। जोन क्रमांक 1 में स्वीकृत विकास कार्यों पर 1 करोड़ 34 लाख रूपए खर्च किया जाएगा। स्वीकृत राशि से बाबजी पार्क गार्डन विकास, शेड निर्माण, सड़क डामरीकरण, नालियों का गहरीकरण, सीसी शोल्डर निर्माण, तार फेंसिंग, नालियों पर प्रीकास्ट स्लैब और अन्य सिविल कार्य किए जाएंगे।
                वार्ड क्रमांक 1 से 7 तक के लिए पूर्व में तय विकास कार्य क्रांक्रीट सड़क निर्माण, क्रांक्रीट नवीनीकरण, नई नाली निर्माण, नाली मरम्मत कार्य के लिए 1 करोड़ 52 लाख रुपए खर्च सीमा बढ़ाकर एक करोड़ 79 लाख रुपए किया गया। घड़ी टावर निर्माण के लिए 12 लाख 6 हजार रूपए अतिरिक्त राशि स्वीकृति दी गई। वार्ड क्रमांक 8 से 14 तक कार्यों में 25 प्रतिशत राशि अतिरिक्त की सहमति बनी। वार्ड क्रमांक 11 कांक्रीट सड़क निर्माण के लिए पर्वू में तय 88 लाख में 23.10 प्रतिशत वृद्धि कर 1 करोड़ 15 लाख रुपए से कार्य करने की स्वीकृति दी गई।  वार्ड क्रमांक 9 में विभिन्न सड़क, नाला-नाली सहित अन्य निर्माण के लिए 74 लाख से बढ़ाकर 80 लाख किया गया। वार्ड क्रमांक 10 के विकास कार्यों के लिए पूर्व में तय निविदा की राशि 1 करोड़ 5 लाख को बढ़ाकर 1 करोड़ 10 लाख किया गया।
                          ट्रांसपोर्ट नगर में सीसी सड़क के लिए पुनरीक्षित व्यय 10 करोड़ 81 लाख और अतिरिक्त व्यय राशि 184.68 लाख की अतिरिक्त तकनीकी स्वीकृति के लिए शासन को भेजने की स्वीकृति दी गई। निगम क्षेत्र अंतर्गत विभिन्न कालोनियों का नियमितिकरण संयुक्त संचालक नगर और ग्राम निवेश से तय दर पर करने की सहमति बनी। विकास नगर में निर्माणाधीन उद्यान के लिए 25 प्रतिशत राशि वृद्धि की स्वीकृति दी गई। अधोसंरचना मद से कन्या महाविद्यालय के सामने 36 लाख रुपए की लागत से बस्तर दर्शन सौंदर्यीकरण कार्य की स्वीकृति दी गई।
                         बैठक के दौरान एमआईसी सदस्यों के सवालों का जवाब कमिश्नर सौमिलरंजन चौबे ने दिया। बैठक में एमआईसी सदस्य प्रकाश यादव, उषा मिश्रा, उमेशचंद्र कुमार, रमेश जायसवाल, उदय  मजुमदार, राजकुमार पमनानी, श्याम साहू, बंशी लाल साहू, अंजनी कश्यप, मधुबाला टंडन और  निगम के सभी विभाग प्रमुख मौजूद थे।
मौसमी बीमारियों पर चिता
                एमआईसी बैठक की अंत में मेयर किशोर राय ने कहा कि मौसमी बीमारियों को लेकर सावधान रहने की जरूरत है। सभी वार्डों और संवेदनशील स्थानों पर नियमित सफाई और बिल्चिंग पाउडर छिड़काव करने को कहा। नियमित पेय जल सप्लाई के पहले पानी सकी शुद्धता की जांच जरूरी है। एमआईसी सदस्यों की शिकायत पर ईई प्रवीण शुक्ला को नियमित फागिंग मशीन से दवा का छिड़काव करने का निर्देश मेयर ने दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *