सरपंच को फंसाया गया…पिता ने कहा..उप-सरपंच का हाथ..परिजनों ने एसपी से कहा..पुलिस करे निष्पक्ष जांच

बिलासपुर— तखतपुर थाना क्षेत्र में एक दिन पहले जिन्दा कारतूस देशी कट्टा के साथ पकड़े गए सरपंच के समर्थन में परिजनों पुलिस कप्तान से गुहार लगाई है। परिजनों ने बताया कि लीलानाथ पोर्ते को साजिश के तहत फंसाया गया है। साजिश रचने में प्रमुख भूमिका उप-सरपंच दीवाकर ठाकुर की है। परिजनों ने  मामले में निष्पक्ष पुलिस जांच की मांग की है।

           मालूम हो कि दो दिन पहले हरदी सरपंची की स्कूटर की डिग्गी से तखतपुर पुलिस ने देशी कट्टा और जिंदा कारतूस बरामद किया था। पुलिस ने सरपंच के खिलाफ कार्रवाई कर जेल भेज दिया। आज हरदी सरपंच लीलानाथ के परिजनों ने पुलिस कप्तान से लिखित में बताया कि उनके बेटे के खिलाफ साजिश हुई है। लड़का मात्र 22 साल का है। बहुत कम समय में मिली लोकप्रियता और विनम्र स्वभाव के कारण विरोधियों ने साजिश की है।

                       सरपंंच के पिता ने बताया कि 5 अगस्त 2018 को लीलानाथ पोर्ते पंचायत भवन में बैठा था। इस दौरान कुछ ग्रामीणों के अलावा उपसरपंच,सचिव और पंच भी मौजूद थे। उसी दिन स्वच्छता टीम हरदी ग्राम पंचायत में सफाई निरीक्षण के लिए आने वाली थी।

                                   सरपंच के पिता ने बताया कि उपसरपंच दीवाकर सिंह किसी काम से चन्द्रभान बघेल को लीलानाथ पोर्ती की स्कूटी लेकर देवतरी गाव स्थित अपने घर भेजा। घर पहुंंचने के कुछ देर बाद चन्द्रभान का साथी और गांव कोटवार ने दीवाकर को फोन किया। दीवाकर सिंह लीलानाथ अपनी गाड़ी से देवतरी गया। घर में गाड़ी रखने के बाद लीलानाथ की स्कूटी से बीजा गया।

                       सरपंच के पिता ने बताया कि देवतरी पहुंचने के बाद उप सरपच दीवाकर पंचायत भवन पहुंचा। इसके बाद लीलानाथ स्कूटी लेकर अपने घर चार बजे आया। इसी दौरान किसी की शिकायत पर तखतपुर पुलिस भी घर पहुंच गयी। स्कूटी की डिग्गी खंगालने के दौरान पुलिस ने एक देशी कट्टा और जिन्दा कारतूस बरामद किया।

                   सरपंच पिता ने कहा कि लीलानाथ के साथ साजिश हुई है। उसके बेटे को उप सरपंच दीवाकर सिंंह ने फंसाया है। लीलानाथ मिलनसार जनसेवक है। लोगों में लोकप्रिय है। यही विशेषता उसके लिए समस्या बन गयी। दीवाकर सिंह हमेशा लीलानाथ से खुन्नस रखता था। उसी ने सरपंच को फंसाया है। मामले में निष्पक्ष पुलिस जांच की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *