जिला प्रशासन की ताबड़तोड़ छापामार कार्रवाई…तीन ठिकानों से सिलेन्डर का अवैध जखीरा बरामद…कार्रवाई अभी भी जारी

बिलासपुर—जिला प्रमुख पी दयानंद के निर्देश पर आज शहर के विभिन्न इलाकों में अवैध सिलेन्डर बेचने और भण्डारण करने वालों के खिलाफ प्रशासन ने ताबड़तोड़ कार्रवाई की है। अवैध सिलेंडर रिफलिंग करने वालों और रेस्टोरेंट में घरेलू सिलेंडर का उपयोग करने वालों के खिलाफ जिला प्रशासन की कार्रवाई के बाद शहर में सिलेन्डर का अवैैध कारोबार करने वालों में हड़कम्प मच गया है।

                     जानकारी के अनुसार जिला प्रशासन प्रमुख पी.दयानन्द के निर्देश पर शहर में एक साथ कई स्थानों पर सिलेन्डर का अवैध कारोबारियों के खिलाफ छापामार कार्रवाई हुई है। कलेक्टर को सूचना मिल रही थी कि कई इलाकों में दुकानों और हाटलों से गैस सिलेन्डरों का अवैध कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है।

             लगातार मिल रही शिकायत के बाद कलेक्टर पी.दयानन्द ने टीम गठन कर बताए गए ठिकानों पर सिलसिलेवार छापामार कार्रवाई का निर्देश दिया। तहसीलदार अमित सिन्हा और अतिरिक्त तहसीलदार नारायण गभेल की अगुवाई मे शहर के कई हिस्सों और प्रतिष्ठानों में छापामार कार्वराई हुई। कार्रवाई के दौरान सरकंडा स्थित महामाया डेलीनीड्स में 33 सिलेंडर मिले। अधिकारियों ने बताया कि महामाहाया डेलीनीड्स से कुल 31 भरे और 2 खाली सिलेंडर जब्त किये गये हैं।

                 अमित सिन्हा और नारायम गभेल ने बताया कि दुकानों में घरेलू सिलेंडरों को अवैध रूप से ब्लैक मार्केटिंग की जा रही थी। इसी तरह मुंगेली नाका स्थित जायका रेस्टोरेंट में एक घरेलू सिलेंडर और बजरंग चौक स्थित इंडियन कैफे से पांच घरेलू सिलेंडरों को कमर्शियल उपयोग करते हुए जब्त किया गया है। सभी जब्त सिलेंडरों को गैस एजेंसी को सुपुर्द कर खाद्य विभाग को आवश्यक कार्रवाई के लिये निर्देशित किया गया है। रवखबर लिखे जाने तक प्रशासनिक अमला की कार्रवाई चल रही थी। बताया जा रहा है कि कई बड़े ठिकानों पर भी छापामार कार्रवाई हो सकती है।

कलेक्टर के आदेश पर कार्रवाई

अलग अलग ठिकानों पर की गयी छापामार कार्रवाई करने वाले अधिकारी तहसीलदार अमित सिन्हा और अतिरिक्त तहसीलदार नारायण गभेल ने बताया कि कलेक्टर के निर्देश पर कार्रवाई की गयी है। जब्त सिलेन्डरों को खाद्य विभाग के हवाले किया जाएगा। इसके बाद कानून सम्मत कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *