प्रदेश की 40 लाख बहनों को स्मार्ट फोन तीजा का उपहार,मुख्यमंत्री ने किया दुर्ग जिले के नौ शहरी क्षेत्रों में स्मार्ट फोन वितरण की शुरूआत

दुर्ग।मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि तीजा के त्योहार में हर भाई अपनी बहन को कुछ न कुछ उपहार देता है, राज्य सरकार की संचार क्राति योजना में प्रदेश की 40 लाख बहनों को फोर जी स्मार्ट फोन एक भाई की ओर से बहनों को तीजा का उपहार है।  डॉ. सिंह आज दोपहर  जिला मुख्यालय दुर्ग के रविशंकर स्टेडियम में आयोजित मोबाइल तिहार के कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कुछ हितग्राहियों को मोबाइल फोन का वितरण कर जिले के नौ शहरी क्षेत्रों के लिए स्मार्ट फोन वितरण की शुरूआत की। कार्यक्रम में उन्होने थर्ड जेण्डर के लोगों को भी स्मार्ट फोन देने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर जिले के विकास के लिए लगभग 384 करोड़ रूपए के 104 निर्माण कार्यों की सौगात दी। उन्होंने इनमें से 68 करोड़ 29 लाख रूपए के 35 पूर्ण हो चुके निर्माण कार्यों का लोकार्पण और करीब 316 करोड़ रूपए के नये स्वीकृति 69 निर्माण कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास किया। मोबाइल तिहार में मुख्यमंत्री के हाथों शासन की विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत 89 हजार से अधिक हितग्राहियों को लगभग 32 करोड़ रूपए की सामग्री और सहायता राशि के वितरण की भी शुरूआत हुई। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ने जिन निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें दुर्ग-राजनांदगांव मार्ग पर शिवनाथ नदी में 25 करोड़ रूपए की लागत से निर्मित उच्च स्तरीय पुल भी शामिल है।

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि दुर्ग संभाग में अगस्त -सितंबर माह तक 11 लाख 3 हजार लोगों के हाथों में मोबाइल फोन आ जाएंगे। उन्होंने कहा कि मोबाइन फोन वितरण के लिए 60 दिनों की कार्य योजना बनायी गई है। उन्होंने कहा कि दुर्ग जिले के 2 लाख 41 हजार मोबाइल फोन वितरण के साथ दुर्ग जिला भी स्मार्ट जिला बन जाएगा।  डॉ. सिंह ने बताया कि संचार क्रांति योजना 1467 करोड़ रूपए की योजना है जिसमें 50 लाख स्मार्ट फोन का वितरण किया जाएगा। इसके वितरण होने के बाद ग्रामीण क्षेत्रों में मोबाइल कव्हरेज 66 प्रतिशत से बढ़कर 90 प्रतिशत हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि संचार क्रांति योजना के माध्यम से छत्तीसगढ एक डिजिटल युग में प्रवेश कर रहा है। योजना के तहत स्मार्ट फोन वितरण के अलावा 16 सौ नए मोबाइल टावर लगाए जाएंगे। इससे चार हजार नए गांवों में मोबाइल नेटवर्क का विस्तार होगा।  स्मार्ट फोन एक कम्प्यूटर लेपटाप का काम करेगा। इसके जरिए घर बैठे ही रेल और सिनेमा की टिकिट, रूपए एक खाते से दूसरे खाते में भेजना, बिजली बिल का भुगतान, और विभिन्न परीक्षाओं जैसे पीएमटी, हाईस्कूल परीक्षा आदि के परिणाम प्राप्त किए जा सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्जवला गैस योजना में जिले के 3 लाख 79 हजार परिवारों में रसोई गैस पहुंच चुका है। ये बड़ी उपलब्धि है यह बताता है कि विकास की दिशा किस ओर है।मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने जो वादा किया पूरा करके दिखाया है, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी ने हमें नया राज्य दिया। हमने गांव गरीब और किसानों के विकास के लिए अनेक योजनाएं शुरू की। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश के इतिहास में पहली बार किसानों के लिए धान के समर्थन मूल्य में 200 रूपए की बढो़तरी की ।

उन्होंने कहा कि धान का समर्थन मूल्य में दो सौ की बढ़ोतरी के बाद 1750 रूपए हुआ। इसके साथ ही राज्य सरकार की ओर से तीन सौ रूपए की बोनस भी दिया जाएगा।  इस प्रकार इस वर्ष किसानों को धान का प्रति क्विंटल 2050 रूपए मूल्य मिलेगा। उन्होंने कहा कि किसानों को एक से अधिक सिचाई पम्प होने पर भी उन्हें फ्लेट रेट में बिजली बिल देने की सुविधा मिलेगी। साथ ही नलकूप के विद्युतीकरण के लिए फिर से एक लाख रूपए का अनुदान देना शुरू कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि कर्मचारियों के लिए राज्य सरकार ने तीन स्तरीय वेतनमान को बढाकर चार स्तरीय वेतनमान देने का निर्णय लिया है। उन्होंने आयुष्मान भारत योजना का भी उल्लेख किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *