कांग्रेस वाचाल संगठन..एल्डरमैन का आरोप…घटिया राजनीति से बाज आएं केशरवानी…हार के बाद खुलेगी आंख

बिलासपुर–एल्डरमैन मनीष अग्रवाल ने कांग्रेस पार्टी को कर्महीन और वाचाल संगठन बताया है। मनीष ने मीडिया में बयान जारी कर बताया है कि काम में अडंगा की नीति कांग्रेसियों की आदत है। कांग्रेस के वाचाल नेताओं को अनाप शनाप बोलने की बीमारी है। वहीं भारतीय जनता पार्टी को केवल जनता के हितों को ध्यान में रखकर काम करने की आदत है। क्योंकि भाजपा के नेता बोलने में नहींं बल्कि जनहित में काम करने पर विश्वास करते हैं। बताते चलें कि मनीष अग्रवाल का बयान पौधरोपण को लेकर जिला ग्रामीण अध्यक्ष विजय के्शरवानी के बयान के बाद आया है।

                       भाजपा नेता और एल्डरमैन मनीष अग्रवाल ने प्रेस नोट जारी कर बताया है कि निश्चित रूप से विकास में शहर का हरा भरा होना भी शामिल है। प्रत्येक नाागरिक की जिम्मेदारी है कि सीमेंट के उगते जंगलों पर रोक लगाए। इसमें प्रशासन और शासन सहभागिता भी जरूरी है। लेकिन कांग्रेस ने कसम खा ली है कि केवल विरोध के लिए विरोध करना है।

                मनीष ने बताया कि पौधरोपण को लेकर जिला अध्यक्ष ग्रामीण विजय केशरवानी का बयान निंदनीय है। उन्होने जून में अरपा बचाओ अभियान चलाया। प्रशासन  ने अरपा संरक्षण की बात भी कही। केशरवानी को मालूम होना चाहिए कि चुनाव चार महीने बाद है…लेकिन मंत्री अमर अग्रवाल ने अरपा  संरक्षण को लेकर एक दशक पहले ही विकास का खाका खींच लिया था।

               मनीष ने बताया कि केशरवानी को जब से पद मिला है, उन्हें छपास का रोग हो गया है। अनाप शनाप बयानबाजी करना उनकी आदत हो गयी है। कांग्रेसियों को कोई बात तभी आती है, जब समाधान दिखाई देने लगता है। अरपा प्रोजेक्ट की सफलता जब दिखाई देने लगी तो आंदोलन कर कांग्रेसियों ने लोगों का ध्यान खींचना शुरू कर दिया।

                       मनीष ने कहा कि सीवरेज प्रोजेक्ट लगभग पूरा होने को है। इससे पहले कांग्रेसियों का आंदोलन कहां था। सड़कें पूरी बन गईं, तो श्रेय लूटने के लिए सड़क पर दिखावे का आंदोलन शुरू हो गया। कांग्रेसी सिर्फ दिखावे के लिए समस्या पैदा करते हैं। एल्डरमैन ने बताया कि विकास सतत प्रक्रिया । है और विकास के साथ साथ छोटी-बड़ी मुश्किलें भी आती हैं। सब मिलकर सामना करते हैं। विकास कार्य के पीछे का मूल उद्देश्य जनता का हित और खुशी है।

                    मनीष के अनुसार कांग्रेसी घबरा गए हैं। क्योंकि उन्हें मालूम है कि इस बार चुनाव के बाद कांग्रेस में नाम लेने वाला भी नहीं रह जाएगा। खासकर बिलासपुर में कांग्रेसियों को अच्छी तरह से मालूम है कि उनकी दाल नहीं गलने वाली है। मंत्री अमर अग्रवाल को जनता का भरपूर प्यार मिल रहा है। बिलासपुर की जनता ने अमर अग्रवाल को चार बार विधायक बनाया । उनके व्यवहार, काम की बदौलत जनता के बीच उनका विशेष स्थान है। खुद कांग्रेसी भी इस बात को स्वीकार करते हैं।लेकिन सार्वजनिक रूप से कहने से बचते हैं। ऐसा करना उनकी मजबूरी है। बहरहाल, कांग्रेसियों को ऐसे मुद्दे ढूंढने चाहिएं, जो ना केवल व्यवहारिक हों..बल्कि जनहित में भी हो।

                                                मनीष ने प्रेस नोट जारी कर बताया कि शहर के सभी वार्डों में भारतीय जनता पार्टी खुलने के बाद कांग्रेसियों में तकलीफ है। जब कांग्रेसियों को कुछ नही मिला तो कार्यालय को लेकर झूठा आरोप लगाना शुरू कर दिया । शासन प्रशासन से शिकायत कर बताया जा रहा है कि भाजपा का वार्ड कार्यालय सामुदायिक भवन और सरकारी स्कूलों में खोला गया है। मनीष ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता और नगर विधायक अमर अग्रवाल ने हमेशा दलगत राजनीति से ऊपर होकर बिलासपुर के विकास कार्यों को प्राथमिकता दी है।  इस बात को शायद कांग्रेसी तभी समझेंगे जब विधानसभा चुनाव में उनकी करारी हार होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *