शिक्षाकर्मियों की पदोंन्नति का क्या है ड्राफ्ट..?वरिष्ठ शिक्षाकर्मी संघ ने मंत्रालय मे सौपे सुझाव


रायपुर।
वरिष्ठ शिक्षाकर्मी संघ छत्तीसगढ़ द्वारा संविलयन के बाद पदोन्नति संबंधी सुझाव मंत्रालय मे प्रस्तुत किया गया है जिसमे वरिष्ठ शिक्षा कर्मियों के लिए दस साल की वरिष्ठता के लिए क्रमोन्नति की मांग शामिल है।ज्ञात हो कि वरिष्ठतम शिक्षा कर्मी 1995 से लगातार 23साल से वर्ग तीन के पद पर कार्यरत हैं जिन्हें पे स्केल 5200 कुछ की पदोन्नति लंबित है तो कुछ शिक्षा कर्मियों को 9300का स्केल दिया जा रहा है।ऐसे शिक्षा कर्मियों के लिए वरिष्ठ शिक्षा कर्मी संघ छत्तीसगढ़ ने क्रमोन्नति की मांग अगस्त के वेतन के साथ किया है।संस्था प्रमुखों के पदों पर पदोन्नति के लिये खाका तैयार किया गया है जिसमे प्रभारी प्रधान पाठकों को उसी स्थान पर 23साल की वरिष्ठता के आधार पर प्रधान पाठक बनने व प्राचार्य के पद पर नि:शर्त पदोन्नति देने सुझाव शामिल है।शिक्षा कर्मी संघ छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष अजय उपाध्याय ने बताया कि शिक्षक/व्याख्याता एल बी पदोन्नति मे नये नियम का सुझाव व आनुपातिक पदोन्नति साल भर खुला रखने की मांग के अनुसार सहायक शिक्षक एल बी से शिक्षक एल बी,शिक्षक से व्याख्याता एल बी पर पदोन्नति संविलयन के तत्काल बाद की गई है। सीधी भर्ती केवल सहायक शिक्षक एल बी पर करने का सुझाव दिया गया है । 
शेष पद सिर्फ और सिर्फ पदोन्नति से भरने की मांग शामिल है।इन सभी के लिये वरिष्ठता को आधार मानने किसी तरह की परीक्षाएं न लेने का आग्रह किया गया है। जो सहायक शिक्षक एल बी हैं उन्हें प्राथमिक बी एड शिक्षक के स्थान पर  शिक्षक/व्याख्याता एल बी मे इसी सत्र मे पदोन्नति देने की मांग किया गया है इससे शिक्षा मे उत्तरोत्तर गुणात्मक सुधार की बात कही गयी है। इस सुझाव मे खास बात यह है कि विषय बंधन फार्मूला का सुझाव शिक्षा कर्मियों के लिए कड़वा साबित होने के साथ साथ शिक्षा के बहुगुणात्मक सुधार शत प्रतिशत दिखने के साथ बच्चों को इसका लाभ ज्यादा मिलेगा ।इसका फार्मूला साफ है हाई स्कूल हायर सेकेंडरी स्कूल स्नातक व स्नातकोत्तर सभी मे एक ही विषय लेकर पढाई किए एल बी शिक्षकों की पदोन्नति शिक्षक या व्याख्याता के रूप मे करने का सुझाव दिया गया है। ऐसा इसलिए कहा गया है कि अपने विषयों में पकड़ रखने वाले शिक्षकों को पदोन्नति का बहुत ही कम अवसर मिलता है।कड़वा लगने वाले शिक्षक एल बी की पदोन्नति के लिए संविलयन की वरिष्ठता बिंदु के अनुसार पात्रता होने पर प्राथमिक प्रधान पाठक से लेकर हायर सेकेंडरी प्राचार्य तक की पदोन्नति का रास्ता खुला रहेगा। इसे वरिष्ठ शिक्षा कर्मी संघ छत्तीसगढ़ ने पदोन्नति मे तरलता से संबोधित किया है।
इनके अलावा वरिष्ठ शिक्षाकर्मियों के लिये कई महत्वपूर्ण सुझाव प्रेषित किया गया है।इसके साथ ही वरिष्ठ शिक्षा कर्मी संघ छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष अजय उपाध्याय ने प्रमुख सचिव से संविलयन के लिए पुख्ता दस्तावेजों को कमेटी मे गहन अध्ययन करके सभी बिन्दुओं पर संविलयन पर सहमत होते हुए संविलयन के निर्णय के लिये शासन व सरकार का आभार व्यक्त किया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *