शिक्षाकर्मी संविलयन विसंगति:पदोन्नति से वंचित सहायक शिक्षक को मिलेगा कम वेतन,सबका संविलयन और क्रमोन्नति ही उपाय

बिलासपुर।शिक्षक पंचायत एम्प्लॉइस एसोसिएशन प्रांताध्यक्ष कृष्णकुमार नवरंग ने बताया कि 8 वर्ष की सेवा बंधन वाले शिक्षक पंचायत संवर्ग की शिक्षा विभाग में संविलियन ने कई विसंगति को जन्म दिया है।संविलियन का पहला विसंगति 2 जुलाई 2010 के बाद व्याख्याता पंचायत पद में नियुक्त को 2 जुलाई 2019 में संविलियन किया जाएगा और 30 जून 2018 के पूर्व तथा 2 जुलाई 2010 से पदोन्नत् शिक्षक पं जो ब्याख्याता पं के पद पर पदोन्नत्ति प्राप्त किया है और स्कूल शिक्षा विभाग में संविलियन होकर वरिष्ठता निर्धारण में उनसे वरिस्ठ हो जाएगा और 2 जुलाई2010 के बाद नियुक्त व्याख्याता पँचायत कनिष्ट।

नवरंग ने बताया कि दूसरा विसंगति उन सहायक शिक्षक LB को भुगतना पड़ेगा जो पदोन्नत्ति के आस में उच्च पद पर परीक्षा के माध्यम से नही गए और निम्न पद में कार्यरत सहायक शिक्षक lb का वेतनमान कम तथा निम्न पद से उच्च पद पर गए व्याख्याता lb को 7 वेतन के साथ ही वरिष्ठता का भी लाभ पाने संघर्ष रत है।इस तरह संविलियन की सेवा व वर्ष बंधन से वरिष्ठता तथा वेतन में व्यापक अंतर होगा।

साथ ही अधिसंख्यक लोग लाभ से वंचित हो गए।संगठन ने सरकार से इस तरह उपेक्षा के बजाय सीमित लोग को लाभ देने के बजाय बहुसंख्यक को लाभ देने सहायक शिक्षक औऱ पदोन्नत्ति से वंचित को क्रमोन्नति का लाभ को जोड़कर सातवे वेतन मान से देते हुए सभी की संविलियन कर विसंगति को दूर किया जाय।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *