10 सालों से पट्टा का इंतजार…ग्रामीणों ने बताया विस्थापित कर बनाया स्टेडियम…अब कौनो पुछाड़ी नहीं

बिलासपुर–बहतराई के ग्रामीणों ने जिला प्रशासन को बताया कि विस्थापित होने के 9 साल बाद भी पट्टा नहीं मिला है। सरकार ने स्टेडियम के लिए घर तोड़ा। घर तो़ड़ने से पहले बताया गया कि विस्थापित लोगों को पट्टे की जमीन पर घर बनाकर दिया जाएगा। बिजली पानी की व्यवस्था निःशुल्क होगी। नाली सड़क भी बनाया जाएगा। लेकिन आज तक शासन ने एक भी वादे को पूरा नहीं किया है। जिला प्रसासन को लिखित में ग्रामीणों ने बताया कि जीवन मुश्किल हो गया है। बरसात आते ही विस्थापित 80 परिवार के लोग अन्जाने डर से परेशान रहते हैं।

                           जिला प्रशासन से लिखित शिकायत कर खमतराई के ग्रामीणों ने बताया कि पिछले 9 साल से नरक की जिन्दगी जीेने को मजबूर हैं। ग्रामीणों के अनुसार आज जिस स्थान पर स्टेडियम है..वहां 2009 से पहले कभी हमारा घर हुआ करता था। लेकिन 2009 में स्टेडियम निर्माण के लिए हम लोगों को विस्थापित कर दुसरी जगह भेज दिया गया।

                   ग्रामीणों के अनुसार विस्थापन के समय बताया कि जमीन खाली करने पर सभी विस्थापित 80 परिवारों को सरकार विशेष सुविधा देगी। मुप्त में मकान के अलावा बिजली पानी और सड़क नाली की व्यस्था होगी। लेकिन 9 बीतने के बाद भी आज तक इनमें से एक भी वादे पूरे नहीं किये गए। किसी तरह बताए गए जमीन पर खुद के खर्च पर हम लोगों ने घर बनाया। आज तक पीने के लिए पानी की ठीक से व्यवस्था नहीं है। दो हैण्डपम्प तो है लेकिन वह भी बीमार है। मुफ्त की बिजली का आज तक इंतजार है।पेयजल की व्यवस्था ठीक से नहीं होने पर दर्जनों परिवार के सदस्य बीमारी की चपेट में रहते हैं।

                                 ग्रामीणों ने कहा कि सड़क के नाम पर चारो तरफ गड्ठे ही गड्ठे हैं। बरसात आते ही अन्जाना सा डर सताने लगता है। कई लोगो विषैले जीव जन्तु का शिकार हो चुके हैं। समस्याओं को कई बार पेश किए जाने के बाद भी शासन ने आज तक हमारी गुहार को अनसुना किया है। यदि इस बार हमारी समस्या को गंभीरता से नहीं लिया गया तो। विस्थापित सभी 80 परिवार के एक सदस्य कलेक्टर कार्यालय में धरना देंगे। उग्र प्रदर्शन भी करेंगे। मांग करेंगे यदि सरकार वादा परा नहीं कर सकती है तो हमें हमारे पुराने स्थापन पर भेजे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *