MP में अध्यापकों के संविलयन को लेकर कुछ भी साफ नहीं….. भ्रम औऱ तनाव के बीच एक बार फिर आँदोलन की तैयारी… CM के गृह जिलें में मीटिंग 8 को….

भोपाल ।मध्यप्रदेश में अध्यापकों के संविलयन की घोषणा कर दी गई है । लेकिन इसे लेकर अध्यापकों में भ्रम की स्थिति है और उनके सामने अभी भी यह स्पष्ट नहीं है कि उन्हे आखिर क्या मिलेगा..। भ्रम औऱ तनाव के दौर से गुजर रहे अध्यापकों ने एक बार फिर से आँदोलन का बिगुल फूंक दिया है। इस सिलसिले में अध्यापक संघर्ष समिति मध्यप्रदेश के संचालन समिति की मीटिंग रविवार 8 जुलाई को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जिले सिहोर में रखी गई है। जिसमें आगे की रणनीति पर विचार किया जाएगा।
अध्यापक आंदोलन मध्यप्रदेश के बैनर पर विभिन्न संघों एवं संघर्ष समिति के संयुक्त प्रयास से आंदोलन के रूप में 24 मई को भोपाल के यादगार-ए-शाहजहानी पार्क हुआ था । दो दिन चले  इस आंदोलन को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा अध्यापकों की अधिकांश मांगों को पूरा करने का आश्वास देने के कारण आमरण अनशन खत्म हो गया था। आश्वसन से असन्तुष्ट अध्यापक सँघर्ष समिति ने एक बार फिर आंदोलन का बिगुल फूंक दिया है।
अध्यापक सँघर्ष समिति  के नेता हीरा नंद नरवरिया ने बताया कि वर्तमान परिस्थितियों में अध्यापक अत्यंत तनाव के दौर से गुजर रहा है। ना आदेश का ठिकाना है और ना क्या मिलने वाला है इसका किसी को पता है। उन्होंने बताया कि अध्यापक संघर्ष समिति मध्यप्रदेश के संचालन समिति सदस्य और समर्थकों की प्रांतीय बैठक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के गृह जिले सिहोर में आठ जुलाई रविवार को क्रीसेंट रिसोर्ट पार्क सिहोर में  दिन में 11 बजे से आयोजित होने वाली है।
उन्होंने बताया कि इस बैठक में संविलियन की वर्तमान स्थिति में महत्वपूर्ण मुद्दे क्या हो जिस  पर सहमत हुआ जा सकता है पर चर्चा होगी।अध्यापक संघर्ष समिति मध्यप्रदेश को विस्तारित रूप देने हेतु चर्चा होगी एवं सम्भव हुआ तो इस बैठक मे ही संघर्ष समिति का विस्तार किया जाएगा।
 उन्होने बताया कि संविलियन आदेश पश्चात संपूर्ण अधिकार संपन्न ना होने अर्थात विसंगति रहने की स्थिति में आगामी संघर्ष की रणनीति पर विचार किया जाएगा । संघर्ष का वातावरण बनाकर साझा संघर्ष मे सहयोग किसके साथ पर  बी विचार होगा ।अन्य समसामयिक विषय अंतरनिकाय संविलियन के अवरोध को दूर करना,अनुकंपा नियुक्ति,ccl अवकाश की जटिलता आदि उपस्थित  सदस्यो द्वारा उठाए जाने वाले विषयो पर भी  चर्चा  होगी ।इस बैठक में समस्त अध्यापक संघों के  प्रांतीय नेतृत्व एवं प्रांतीय पदाधिकारी भी  आमंत्रित किए गए  हैं।उन्होने सभी से  आग्रह  किया है कि  अध्यापक संघर्ष समिति की बैठक मैं अवश्य ही सहभागिता निभाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *