जिला कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा…मांग से आपूर्ति कम…हाईकमान का आदेश…किसानों के हितों से समझौता नहीं

बिलासपुर–बीज विकास निगम बिलासपुर ने वादे के अनुसार कांग्रेसियों के घेराव के दो दिन बाद लिखित आश्वासन को पूरा किया है। कांग्रेस नेताओं ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि यद्यपि बीज की आपूर्ति में अभी भी कमी है। बावजूद इसके किसानों ने राहत महसूस किया है। जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष विजय केशरवानी ने बताया कि यदि बीज आपूर्ति मांग के अनुसार नहीं किया गया तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

                  मालूम हो कि दो दिन पहले जिला और बेलतरा कांग्रेस कमेटी ने किसानों के साथ सेन्दरी स्थित बीज विकास निगम का घेराव किया था। उग्र कांग्रेसियों ने रीमझिम बारिश के बीच मुख्यमंत्री का पुतला भी जलाया । किसानों के साथ बीज विकास निगम कार्यालय में ताला लगाने का प्रयास किया। कांग्रेसियों ने बताया कि जिले की 93 सोसाटियों से मानसून शुरू होने के बाद भी खाद बीज का वितरण नहीं किया जा रहा है। किसान बिचौलियों और व्यापारियों के हाथों ठगे जा रहे हैं। कांग्रेसियों के उग्र तेवर को देखते हुए बीज विकास निगम अधिकारी जैन ने आश्वासन दिया कि दो दिनों के भीतर सोसायटियों में मानक बीज और खाद की आपूर्ति कर दी जाएगी। दो दिन बाद कांग्रेस नेताओं ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि सोसायटी से किसानों को खाद बीज मिलना शुरू हो गया है। यद्यपि आपूर्ति मांग के अनुसार नहीं है। यदि किसानों को खाद बीज को लेकर किसी प्रकार की परेशानी होती है तो ना केवल उग्र आंदोलन किया जाएगा। बल्कि किसानों की लड़ाई को अंजाम तक पहुंचाए जाएगा।

                       जिला कांग्रेस कमेटी ग्रामीण अध्यक्ष विजय केशरवानी ने बताया कि साल 2017 में 22 हजार क्विंटल प्रमाणित बीजों का वितरण सहकारी समितियों के माध्यम से किया गया था। इस साल न्यूनतम 26 हजार क्विंटल प्रमाणित बीजों की जरूरत है। बीज विकास निगम ने 20 हजार क्विंटल बीज का ही वितरण किया है। इसकी मुख्य वजह समय पर बीज का स्टाॅक नहीं किया जाना है।

                  केशरवानी के अनुसार भाजपा सरकार ने जानबूझकर खाद बीज का कृत्रिम संकट पैदा किया है। आश्वासन के बाद भी किसानों को मांग से कम बीज दिया जा रहा है। ऐसा बिचैलियों, दलालों और कुछ कंपनियों को लाभ पहुंचाने की नीयत से किया जा रहा है। जिला कांग्रेस अध्यक्ष ने बताया कि पार्टी किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए हर समय संघर्ष के लिए तैयार है। हाईकमान ने अन्नदाताओं की समस्याओं को पुरजोर तरीके से प्रमुखता के साथ उठाने का निर्देश भी दिया है।

              जिला कांग्रेस कमेटी महामंत्री और प्रवक्ता अनिल सिंह चौहान और मो. जस्सास ने प्रेस नोट जारी कर बताया कि खरीफ फसल के लिए किसानों को मानसून आते ही त्वरित खेती करनी पड़ती है।  बीज के लिए किसान इंतजार नहीं कर सकते हैं। देरी से बुआई होेने पर फसल खराब होने का अंदेशा रहता है। बावजूद इसके शासन ने कृत्रिम संकट पैदा किया। किसानों को व्यापारियों का कठपुतली बना दिया गया। अनिल सिंह ने बताया कि जिला कांग्रेस के उग्र आंदोलन के बाद बीज विकास निगम बीज की समुचित उपलब्धता का दावा कर रहा है। पेण्ड्रा ब्लाॅक की दो सहकारी समितियों, कोटा की तीन समितियों, सेंदरी, नवागांव समेत आठ से दस समितियों में प्रमाणित बीज तत्काल भेजा गया है। किसान सेंदरी स्थित जिले के बीज विकास निगम से भी प्रमाणित बीज खरीद रहे हैं।

             जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी ने जिला व ब्लाॅक स्तर पर किसानों से जुड़ी बीज, खाद, कीटनाशक से लेकर सभी समस्याओं को समिति बनाकर निगरानी करने के निर्देश ब्लाॅक अध्यक्षों को दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *