15 दिनों की न्यायिक रिमाण्ड में रहेंगे नेता पुत्र…पुलिस के सामने नहीं चली हेकड़ी..केन्द्रीय जेल पहुंचे दोनों भाई

बिलासपुर–भाजपा के पूर्व विधायक चोवादास खाण्डेकर के दोनों बेटे तरूण और निक्की खाण्डेकर को कोर्ट ने 15 दिनों के न्यायिक रिमाण्ड में भेज दिया है। पूर्व विधायक के दोनों लड़कों ने बीती रात पेट्रोलिंग पार्टी के आरक्षक और उप निरीक्षक से साथियों के साथ मारपीट की थी। पुलिस प्रशासन ने गुरूवार को दोनों युवकों को घर से गिफ्तार कर विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर कोर्ट में पेश किया। न्यायालय ने तरूण और निक्की खाण्डेकर को जमानत देने से इंकार कर दिया। दोनों आरोपियों को 15 दिनों के न्यायिक रिमाण्ड में जेल भेज दिया।

                                     मालूम हो कि बुधवार  की रात को पेट्रोलिंग पार्टी के जवानों पर तखतपुर स्थित चौक में कुछ लोगों ने हमला कर दिया। बताया जा रहा है कि पुलिस आरक्षक डहरिया भीड़ को घर जाने के लिए कहा। लेकिन भीड़ में शामिल लोगों को पुलिस की समझाईश नागवार गुजरी। तरूण खाण्डेकर ने यकायक आरक्षक के प्रायवेट पार्ट में लात मार दिया। निक्की खाण्डेकर समेत अन्य लोगों ने लात घुंसों से मारना पीटना शुरू कर दिया।

   तरूण खाण्डेकर ने यकायक पेट्रोलिंग जीप में बैठे उप निरीक्षक साहू को कालर खींचा जिससे अधिकारी की वर्दी फट गयी। खाण्डेकर फोन से एसडीओपी को भी धमकी दिया। मामले की जानकारी मिलने के बाद बिलासपुर पुलिस कप्तान ने जवानों का एनाइलजर टेस्ट कराया। इसके बाद आरोपियों को सुबह करीब 8 बजे गिरफ्तार किया गया।

सभी आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 186307,332,34,353 और 392 के तहत मामला दर्ज कर कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने जमानत देने से इंकार करते हुए तरूण और निक्की खाणडेकर को 15 दिनों की न्यायिक रिमाण्ड में भेज दिया।

नहीं काम आया रसूख

गिरफ्तारी के बाद निक्की और तरूण खाण्डेकर ने मंत्री और सरकार का रूतवा दिखाया। लेकिन पुलिस के सामने सारी होशियारी धरी की धरी रह गयी। इसके पहले पुलिस पर दबाव बने। दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर दिया गया। मालूम हो कि निक्की और तरूण खाण्डेकर पर पहले भी कई मामले कायम है।

तरूण और निक्की खाण्डेकर पूर्व बीजेपी विधायक चोवाराम खाण्डेकर के लड़के हैं। चोवाराम खाण्डेकर छत्तीसग़ढ़ सरकार में मंत्री पुन्नूलाल मोहले के साले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *