शिक्षाकर्मी प्रतिनिधिमंडल की जोगी से मुलाकात..कहा…शिक्षक बनने से पहले हो जाएंगे रिटायर्ड…संविलियन में गिनायी खामियां

बिलासपुर–नवीन शिक्षाकर्मी संघ के नेता दिल्ली में पूर्व मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ से मुलाकात कर संविलियन की विसंगतियों को दूर करने समर्थन मांगा। इसके शिक्षाकर्मी नेताओं ने जोगी का कुशलक्षेम भी पूछा। मुलाकात के दौरान कोटा विधायक रेणु जोगी भी मौजूद थीं। अजीत जोगी और रेणु जोगी ने नवीन शिक्षाकर्मी संघ नेताओं को आश्वासन दिया कि उनकी समस्याओं को गंभीरता के साथ सरकार के सामने उठाया जाएगा। जोगी ने यह भी आश्वासन दिया कि जनता कांग्रेस की सरकार बनते ही शिक्षाकर्मियों को एक लाइन के आदेश में सरकारी शिक्षक बना दिया जाएगा। इसके बाद संविलियन या अन्य मांगों को लेकर किसी प्रकार की चिकचिक नहीं होगी। उन्होने यह भी कहा कि जनता कांग्रेस शिक्षाकर्मियों की सभी नीतिगत मांगो का समर्थन करती है।

               नवीन शिक्षाकर्मी संघ के पदाधिकारी उपाध्यक्ष अमित कुमार नामदेव की अगुवाई में मंगलवार को दिल्ली में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी से मुलाकात की। अमित नामदेव ने बताया कि प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों ने अजीत जोगी के बेहतर स्वास्थ्य के लिए शुभकामनाएं दी। जल्द ही प्रदेश लौटने की मांग की है।

                              अमित कुमार नामदेव ने बताया कि मुलाकात के दौरान अजीत जोगी ने शिक्षाकर्मियों की मांग को जायज बताया। उन्होने कहा कि शिक्षक समाज को संस्कार और शिक्षा देता है। देखकर पीड़ा होती है कि उन्ही शिक्षकों को अपनी मांग को लेकर सड़क पर उतरना पड़ रहा है।

        बातचीत के दौरान शिक्षाकर्मी प्रतिनिधिमंडल ने विधायक रेणु और अजीत जोगी को बताया कि संविलयन तो मिल गया। लेकिन ऐसा लगता है कि यह तोहफा सरकार ने केवल चुनाव को ध्यान में रखकर दिया है। क्योंकि संविलियन में किसी भी मांग को स्पष्ट रूप से स्वीकार नहीं किया गया है। प्रक्रिया को इतना जटिल बना दिया गया है कि शिक्षाकर्मी सरकारी शिक्षक बनने से पहले ही रिटायर्ड हो जाएंगे। ना तो क्रमोन्नति स्पष्ट है..और ना ही पदोन्नति की मांग को स्पष्टरूप से स्वीकार किया गया है। अमित नामदेव ने बताया कि सवालाख शिक्षाकर्मियों पर संविलियन के 8 साल का शर्त थोप दिया गया है। इसे हटाया जाना जरूरी है।

                         अमित नामदेव ने बताया कि नई दिल्ली स्थिति इंडियन स्पाइनल इंजुरी रिसर्च सेंटर में स्वास्थ्य लाभ ले रहे है अजीत जोगी और रेणु जोगी से मुलाकात के दौरान मरवाही विधायक अमित जोगी भी मौजूद थे। प्रतिनिधिमंडल की बातों को दोनो विधायक और पूर्व मुख्यमंत्री ने गंभीरता से लिया। अजीत जोगी और रेणु जोगी ने संविलियन रिपोर्ट की त्रुटियों को शिक्षकों के साथ मजाक बताया। उन्होने कहा कि मरवाही विधायक अमित जोगी मामले को गंभीरता से लेंगे।

Comments

  1. By Sunil Kumar nureti

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *