PM मोदी ने मध्यप्रदेश में की छत्तीसगढ़ के स्मार्ट शहर नया रायपुर की जमकर तारीफ,इंदौर के प्रोग्राम में नया रायपुर के एकीकृत कमाण्ड-नियंत्रण केन्द्र का किया जिक्र

रायपुर।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वच्छता सर्वेक्षण के राष्ट्रीय पुरस्कारों के लिए मध्यप्रदेश के इंदौर में आयोजित कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ की नया रायपुर स्मार्ट सिटी परियोजना की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा-देश के 100 शहरों को स्मार्ट बनाने का काम तेज गति से चल रहा है। अभी कुछ दिनों पहले मैं मध्यप्रदेश के पड़ोस में छत्तीसगढ़ में देश की पहली स्मार्ट सिटी नया रायपुर में था। नया रायपुर में इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर का उदघाटन किया था। यह बेहतरीन सिस्टम है, जहां एक ही जगह से पूरे शहर की व्यवस्था का संचालन किया जाता है। बिजली, पानी, ट्रांसपोर्ट इस पर निगरानी का काम सिर्फ एक ही जगह से ऑपरेट किया जाता है।उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री श्री मोदी ने लगभग दस दिन पहले इस महीने की 14 तारीख को नया रायपुर में इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर का लोकार्पण किया था। केन्द्र सरकार की स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत नया रायपुर में यह देश का पहला एकीकृत कमाण्ड एवं नियंत्रण केन्द्र है। प्रधानमंत्री ने इसका लोकार्पण करते हुए कहा था कि नया रायपुर का यह केन्द्र देश के अन्य स्मार्ट शहरों के लिए भी रोल मॉडल बनेगा। उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह सहित नया रायपुर विकास प्राधिकरण (एनआरडीए) के सभी पदाधिकारियों को बधाई दी थी। उल्लेखनीय है कि नया रायपुर देश का पहला ऐसा स्मार्ट शहर है, जिसने बिजली, पानी, सड़क, संचार और स्वच्छता जैसी नागरिक सुविधाओं की ऑनलाइन निगरानी के लिए और इन सेवाओं से जुड़ी अपनी जनसमस्याओं के निराकरण के लिए एकीकृत कमांड एवं नियंत्रण केन्द्र की स्थापना की है।

लोकार्पण के बाद प्रधानमंत्री ने इस केन्द्र में बैठकर इसके संचालन की गतिविधियों को और पूरी प्रक्रिया को बारीकी से देखा था। नया रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष अमन कुमार सिंह ने प्रस्तुतिकरण देते हुए उन्हें बताया था कि इस सेंटर के जरिए बिजली, पानी, स्वच्छता, यातायात प्रबंधन, एकीकृत भवन प्रबंधन, सिटी कनेक्टिविटी एवं इंटरनेट अधोसंरचना (डाटा सेंटर) और सम्पूर्ण नया रायपुर शहर की निगरानी की जा सकेगी। उन्होंने बताया कि शहर की परिवहन व्यवस्था, बिजली एवं जल आपूर्ति, स्ट्रीट लाईट और आधारभूत सुविधाओं से जुड़ी प्रत्येक व्यवस्था की निगरानी चौबीसों घंटे की जा सकेगी. वर्तमान में भूमि खरीद, किसी प्रकरण की शिकायत अथवा नो ओब्जेक्शन सर्टिफिकेट आदि प्राप्त करने के लिए ऑफलाइन आवेदन दिया जाता है। जिससे समय की काफी हानि होती है। सीसीसी व्यवस्था के शुरू हो जाने से ये सभी सुविधाएँ नागरिकों को केवल एक क्लिक में उपलब्ध हो सकेंगी।  शहर में लगे सभी सेंसर्स जैसे पब्लिक ट्रांसपोर्ट बसों में लगे जीपीएस सेन्सर्स, डायल 100 वाहन की स्थिति, 108 एम्बुलेंस की स्थिति, स्मार्ट लाईटिंग, ट्रैफिक मैनेजमेंट कैमरे, पब्लिक बाईक शेयरिंग, सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, मौसम विभाग, सोलर पैनल्स, स्मार्ट मैप इत्यादि व्यवस्थाओं एवं परियोजनाओं का डाटा यहाँ स्टोर होगा। इस सेंटर में पूरे शहर की व्यवस्थाएं एक ही छत के नीचे रियल टाईम में देखी जा सकेगीं।

इस एकीकृत कण्ट्रोल एंड कमांड सेंटर से आपातकालीन स्थिति एवं आपदा प्रबंधन में तुरंत कार्यवाही करने में सहयोग मिलेगा, जैसे कि दुर्घटना या किसी अन्य आपात स्थिति में नियंत्रण कक्ष से लाइव विडियो देखकर जरूरी सेवाओं जैसे फायर बिग्रेड, डायल 100 एवं 108 एम्बुलेंस को तुरंत सूचित किया जा सकेगा। इस मॉडल के अंतर्गत शहर के आंकड़े डाटा सेंटर में स्टोर किए जाएंगे,  जिनका समय-समय पर विश्लेषण होगा। यह डाटा एनालिसिस शहर की सेवाओं के संदर्भ में विभागीय योजना बनाने में सहायक होगा। इस केंद्र के माध्यम से जरूरी जानकारियों का एकत्रीकरण, एकीकृत प्रबंधन, तेज क्रियान्वयन व स्वतः प्रमाणीकरण और आपदा प्रबंधन प्लेटफॉर्म,, स्मार्ट सेंसर्स का कम्युनिकेशन इंटरफेस तथा सुरक्षा कंपोनेंट्स, अलर्ट मैनेजमेंट, स्मार्ट पार्किंग, डायल 100, स्मार्ट स्ट्रीट लाईट, डायल 108 एवं महतारी एक्सप्रेस, फायर बिग्रेड कण्ट्रोल सिस्टम, स्मार्ट मैप (जीआईएस), मौसम विभाग से जुडी जानकारी, इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम, एरिया बेस्ड डेवलपमेंट (एबीडी) सर्विसेज, ट्रैकिंग ऑफ सॉलिड वेस्ट एंड वाटर मैनेजमेंट सिस्टम आदि के प्रबंधन में सहायता मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *