आंधी तूफान ने उडाया पंडाल..भगदड़ के बीच करंट लगने से बच्ची बेहोश…बिना भाषण लौटे धरम और रामविचार

बिलासपुर– कोटा विकासखण्ड के करगी कला में आयोजित रानी दुर्गावती बलिदान कार्यक्रम पर आंधी तूफान ने पानी फेर दिया। कार्यक्रम के बीच इतना तेज आंधी तूफान आया कि पंडाल में बैठे लोगों में भगदड़ मच गयी। इस दौरान मंच पर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष धरमलाल कौशिक भाषण दे रहे थे। अनसूचित जन जाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविचार नेताम भी मंच पर ही थे। आंधी तूफान इतना तेज था कि बांस बम्बू और तिरपाल कुछ दूर फेंका गया।

                       कोटा विकासखण्ड के करगी रोड में भाजपा का रानी दुर्गावती बलिदान दिवस कार्यक्रम आंधी तूफान का भेंट चढ़ गया। आंधी तूफान इतना तेज था कि पंडाल उखड़कर दूर फेंका गया। पंंडाल में मौजूद आदिवासी समाज के लोगों में भगदड़ मच गयी। इस रौदान कार्यक्रम को प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष धरमलाल कौशिक संबोधित कर रहे थे। लेकिन तेज आंधी ने सारी व्यवस्था को चौपट कर दिया।

             रानी दुर्गावती बलिदान दिवस कार्यक्रम में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के नेता और कार्यकर्ता भी शामिल हुए थे। कार्यक्रम में शामिल होने सुदूर आदिवासी क्षेत्र के लोग भी आए थे। बिलासपुर में पत्रकारों से बातचीत के बाद भाजपा राष्ट्रीय अनुसूचित जन जाति मोर्चा अध्यक्ष रामविचार करीब डेढ़ बजे के लिए रवाना हुए थे।

बच्ची को लगा करंट..लेकिन सुरक्षित

आंधी तूफान तेज होने के कारण पंडाल पत्ते की तरह उड़ गया। लोगों में भगदड़ की स्थिति बन गयी। इसी दौरान बिजली तार की चपेट में आने से एक बच्ची बेहोश हो गयी। आनन फानन में बच्ची को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कोटा में उपचार के लिए भर्ती किया गया। करंट से घायल आदिवासी बच्ची की उम्र करीब 5 साल और नाम अलिमा है।

करंट से घायल बच्ची को अस्पताल पहुंचने के कुछ देर बाद होश में लाया गया। डाक्टरों ने बताया कि बच्ची धीरे धीरे नार्मल स्थिति में आ जाएगी। खतरे की बात नहीं है। लोगों ने देखा कि होश में आने के बाद बच्ची काफी डरी सहमी थी। वही कार्यक्रम के अतिथि धरमलाल कौशिक और रामविचार नेताम ने अधिकारियों को बच्ची के स्वास्थ्य पर नजर रखने को कहा।

शिवतराई में आराम

आंधी तूफान के बाद कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया। रामविचार नेताम और धरमलाल कौशिक सभा स्थल से रवाना हो गए। बताया जा रहा है रामविचार नेताम रविवार को पेन्ड्रा में आयोजित रानी दुर्गावती बलिदान कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। आदिवासी समाज को भी संबोधित करेंगे। कार्यक्रम को ध्यान रखते हुए रामविचार नेताम रात्रि शिवतराई रिसार्ट में विश्राम करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *