पहले सभी शिक्षाकर्मियों का हो संविलयन..फिर हो शिक्षकों की नई भर्ती..विकास राजपूत की चेतावनी-करेंगे पूरी ताकत से विरोध


रायपुर।
नवीन शिक्षाकर्मी संघ के प्रदेशाध्यक्ष व मोर्चा के प्रदेश संचालक विकास सिंह राजपूत ने कहा है की अंग्रेजी व विज्ञान सहित अन्य विषयों के रिक्त पदों पर राज्य सरकार नियमित शिक्षको के भर्ती के पहले 1 जुलाई 2018 से प्रदेश मे कार्यरत शिक्षाकर्मियों का आठ वर्षबन्धन समाप्त कर समस्त शिक्षाकर्मियों का स्कूल शिक्षा विभाग मे संविलियन करने के बाद ही नई भर्ती प्रारम्भ करे ।विदित हो की 19 जून को राज्य स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव के दौरान सम्बोधित करते हुए घोषणा की गई है कि  जल्दी ही अंग्रेजी,विज्ञान या अन्य रिक्त पदो पर नियमित शिक्षको की भर्ती प्रारम्भ किया जायेगा  ।   अविभाजित मध्यप्रदेश के समय 1998-99 से नियमित शिक्षको की भर्ती आज तक नही हुई है  । सरकारी आंकड़ो के अनुसार लगभग 25000 शिक्षको का पद अभी भी रिक्त है।और वर्तमान मे जितने भी नियमित शिक्षक कार्यरत है। उनमे से अधिकांश 2025-26 तक सेवानिवृत हो जाएंगे ।

हमसे facebook पर जुड़े-  www.facebook.com/cgwallweb
twitter- www.twitter.com/cg_wall

विकास सिंह राजपूत ने इस निर्णय का स्वागत करते हुए कहा है, कि  नियमित शिक्षको की भर्ती विषय शिक्षक नही मिलने पर जरूर किया जाय ।  लेकिन समस्त शिक्षाकर्मियों का संविलियन शिक्षा विभाग मे  करने के बाद ही ।  क्योकि नई भर्ती से नियुक्त होने वाले शिक्षक पंचायत विभाग मे पहले से कार्यरत आठ वर्ष से कम शिक्षाकर्मियों से शिक्षा विभाग मे संविलियन होने से कनिष्ठ हो जाएंगे ।

इसलिए राज्य सरकार को सबसे पहले 18 जून को मन्त्रिमण्डल मे हुए निर्णय को संशोधित कर आठ वर्ष का बन्धन समाप्त कर वेतन विसंगति मे सुधार कर समयमान/क्रमोन्नति वेतनमान के आधार पर वेतन की गणना करते हुए शिक्षा विभाग मे संविलियन कर सातवां वेतनमान प्रदान कर सम्पूर्ण शासकीय सुविधा प्रदान किया जाय।
समस्त शिक्षाकर्मियों के संविलियन के पहले नियमित शिक्षको की भर्ती का पूरे शक्ति के साथ विरोध किया जायेगा और इस सम्बन्ध मे रणनीति बनाए जाने हेतु नवीन शिक्षाकर्मी संघ व शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा की जल्दी बैठक आयोजित कर आगे के संघर्ष के लिए ठोस रणनीति बनाई  जायेगी।

Comments

  1. By Sk

    Reply

  2. By Satyendra

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *