वर्ष बंधन के बिना सभी शिक्षाकर्मियों का हो संविलयन,विभाजनकारी नीति का होगा पुरजोर विरोध


बिलासपुर।
नवीन शिक्षाकर्मी संघ छ.ग.के प्रान्तीय मीडिया प्रभारी मनोज चन्द्रा ने बताया है की नवीन शिक्षाकर्मी संघ छ.ग.की मासिक प्रान्तीय बैठक कलेक्टर गार्डन रायपुर मे प्रदेशाध्यक्ष विकास सिंह राजपूत के नेतृत्व मे सम्पन्न हुआ बैठक मे संगठन मंत्री अभिनय शर्मा,सचिव गिरीश साहू,उपाध्यक्ष प्रकाश चन्द कांगे,रूपेंद्र सिन्हा, ब्रिज नारायण मिश्रा,महिला प्रकोष्ठ प्रवक्ता गंगा पासी,महामंत्री अमिताभ सरकार ने सम्बोधित करते हुए कहा की अम्बिकापुर के जनसभा मे माननीय मुख्यमंत्री जी के द्वारा शिक्षाकर्मियों का संविलियन किया जायेगा का घोषणा किया गया है जिसका पूरे प्रदेश के शिक्षाकर्मियों द्वारा स्वागत किया जा रहा है साथ ही विभिन्न माध्यम से वर्ष बन्धन पुनः आठ वर्ष रखने की चर्चा चल रहा है इस पर भी नवीन शिक्षाकर्मी संघ के रुख पर भी गहन मंथन की जरूरत है।जिलाध्यक्ष बालोद वेदप्रकाश साहू व राजनांदगांव छन्नूलाल साहू ने दिवंगत शिक्षाकर्मियों के परिजन को अनुकम्पा नियुक्ति नही मिलने पर चिंता जाहिर किया साथ ही पदोन्नति के पात्र योग्य शिक्षाकर्मियों को विषय रिक्तता के बाद भी पदोन्नति नही किये जाने पर आक्रोश व्यक्त किया।

निर्मला पांडेय व गीता चन्द्राकर ने सभी मुद्दों पर संगठन को सरकार के सम्भावित निर्णय पर रणनीति बनाने पर जोर दिया,लोकेश साहू व चन्द्रजीत यादव ने शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा के संचालको द्वारा अलग अलग मंत्रियो या नेताओ से मुलाकात को गलत बताते हुए सभी संचालको को एक साथ मुलाकात कर एकजुटता का सन्देश सभी शिक्षाकर्मियों को देना चाहिए।

प्रदेश अध्यक्ष विकास सिंह राजपूत ने अपनी बात रखते हुए कहा की शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा पूरी तरह से एकजुट है दिवंगत साथियो के परिजन को अनुकम्पा नियुक्ति मे नियमो मे शिथलीकरण कर नियुक्ति मे प्राथमिकता देने की मांग शासन के समक्ष पुरजोर तरीके से रखा गया है व बि.लिब,बीपीएड व अन्य विषय मे डिग्री प्राप्त शिक्षाकर्मियों को विषय रिक्तता के आधार पर पदोन्नति हेतु लगातार शासन के अधिकारियो तक बात पहुंचाई जा रही है दोनो मुद्दे पर सकारात्मक परिणाम की उम्मीद है।संविलियन की मुख्यमंत्री द्वारा किये गये घोषणा का स्वागत करते हुए विकास सिंह राजपूत ने नवीन शिक्षाकर्मी संघ के माध्यम से मोर्चा के अन्य संचालको से वेतन विसंगति मे सुधार कर आठ वर्ष का बन्धन समाप्त कर शिक्षा विभाग मे सबका संविलियन करने हेतु शासन व सरकार पर पहले की तरह दबाव बनाये रखने की अपील करने की बात कही।

साथ ही स्पष्ट शब्दो मे यह भी कहा की अगर 2013 जैसे सरकार द्वारा पुनः आठ वर्ष का बन्धन  कर संविलियन किया जाता है तो नवीन शिक्षाकर्मी संघ छ.ग.ऐसे विभाजनकारी नीति या निर्णय का पुरजोर तरीके से विरोध करेगा नवीन शिक्षाकर्मी संघ छ.ग. ने शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा के माध्यम से सरकार तक एक लाख अस्सी हजार शिक्षाकर्मियों के संविलियन की मांग को पहुंचा दिया है।वर्ष बन्धन समाप्त व वेतन विसंगति मे सुधार नही किया जायेगा तो पूरे प्रदेश के शिक्षाकर्मी पुनः आन्दोलन व धरना प्रदर्शन के लिए बाध्य होगा ।इसलिए सरकार स्थाई व समग्र समाधान कर समस्त शिक्षाकर्मियों का वेतन विसंगति मे सुधार कर शिक्षा विभाग मे संविलियन कर सम्पूर्ण शासकीय सुविधा प्रदान करने का निर्णय 18 जून को होने वाली केबिनेट बैठक मे ले जिससे शिक्षाकर्मियों स्कूल छोड़कर सड़क पर उतरने की आवश्यकता ही न पड़े और एक लाख अस्सी हजार शिक्षकर्मियो व उनके परिवार के चेहरे मे खुशियां ही खुशियां रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *