वैज्ञानिक तरीके से हो संस्कृत की तैयारी..डॉ. पुष्पा दीक्षित समेत विद्वानों ने कहा..पाठ्यक्रम में हो अभिरूचियों का ध्यान

बिलासपुर– हर साल की तरह इस साल भी बिलासा कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय में संस्कृत मंडल की महत्वपूर्ण बैठक हुई। बैठक में प्राचार्य एस.एस.निराला के निर्देश में संस्कृति व्याकरण की विदुषी डॉ.पुष्पा दीक्षित की उपस्थिति में कार्यशाला का आयोजन किया गया। बैठक में बताया गया कि प्राचार्य निराला के निर्देश में वरिष्ठ प्राध्यापकों की सक्रियता से संस्कृत विषय के पाठ्यक्रम में गुणात्मक सुधार किए गए हैं। छात्राओं को वैज्ञानिक पद्धति से पठन पाठन कराया जा रहा है।

                   महत्वपूर्ण बैठक का संचालन संस्कृत विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ.सीमा पाण्डेय ने किया। उन्होने संस्कृत के प्रति लोगों में अभिरूचि पैदा करने के सुझाव दिये। बैठक में विदुषी डॉ.पुष्पा दीक्षित ने स्नात्कोत्तर पाठ्यक्रमों में वैज्ञानिक पद्धति से व्याकरण अध्ययन की जरूरतों पर बल देने को कहा।

              इस दौरान डॉ.नरेन्द्र देव शुक्ला ने आधुनिक प्रश्नावली सिस्टम को अनुशरण किए की वकालत की।  डॉ.संतोष तिवारी ने छात्र हित में पाठ्यक्रम तैयार किए जाने पर बल दिया।

             अध्ययन मंडल के महत्वपूर्ण बैठक में हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ.डी.एस.ठाकुर संगीत विभागाध्यक्ष शैवाली गोलाप,मनोविज्ञान विभागाध्यक्ष मंजरी शर्मा ने भी अपनी बातों को तर्क के साथ पेश किया। इस दौरान संस्कृत विभाग के छात्राओं ने अपनी अभिरूचियों और अध्ययन से जुड़ी पहलुओं को विस्तार के साथ पेश किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *