कांग्रेस प्रवक्ताओं ने दागे 6 सवाल…मंत्री से मांगा जवाब…अभय और शैलेश ने कहा..अरपा और खारून की हालत नाजुक..इसलिए राष्ट्रीय नेता कर रहे अगुवाई

बिलासपुर— कांग्रेस भवन में पत्रकार वार्ता के दौरान प्रदेश कांग्रेस के दोनों प्रवक्ताओं ने एक..दो नहीं बल्कि पूरे 6 सवालों का जवाब निकाय मंत्री अमर अग्रवाल से मांगा है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अभय नारायण और शैलेश पाण्डेय इस दौरान प्रदेश की सरकार और स्थानीय मंत्री पर जमकर निशाना साधा। शैलेश पाण्डेय ने जहां भावुक होकर भोली भाली अरपा को छलनी करने का आरोप लगाया है। तो वहींं अभयनारायण राय ने मंत्री और निगम से अरपा से मिलने वाली रायल्टी का हिसाब किताब मांंगा है। दोनों प्रवक्ताओं ने कहा कि सरकार ने बिलासपुर की 50 हजार जनता को पिछले 10 साल से बंधक बनाया है। जनता अब कांग्रेस के साथ आ गयी है। इस दौरान शैलेश पाण्डेय ने मेयर किशोर राय को मंत्री का एजेन्ट भी बताया।

                                     राजनीतिक के इतिहास में पहली बार एक साथ पांच प्रवक्ताओं ने प्रेसवार्ता ली है। कांग्रेस भवन में आयोजित प्रेसवार्ता में केवल प्रदेश प्रवक्ताओं ने ही मुंह खोला। अभय और शैलेश ने एक साथ मंत्री के साथ प्रदेश सरकार पर निशाना साधा। पहला तीन सवाल शैलेश पाण्डेय ने तो दूसरा तीन सवाल अभयन नारायण ने दागा है। दोनों प्रवक्ताओं ने मंत्री और सरकार से 6 सवालों का जवाब मांगा है। इस दौरान अभय ने भाजपा नेता मनीष अग्रवाल,दुर्गा सोनी समेत एक अन्य नेता को अभी अभी राजनीति में आना बताया।

                        सवाल जवाब से पहले पांचो प्रवक्ताओं ने अरपा बचाओ पदयात्रा की जानकारी दी। यद्यपि तीन अन्य प्रवक्ताओं ने तो प्रेस वार्ता के दौरान कुछ नहीं कहा। लेकिन दोनों प्रदेश प्रवक्ताओं ने बारी बारी से अरपा बचाओ पदयात्रा के उद्देश्यों को सामने रखा। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि पिछले तीन दिनों में लोगों का भरपूर समर्थन मिल रहा है। लोगों की उम्मीदें जगी है। उन्हें अब लगने लगा है कि अरपा को अब न्याय मिलकर रहेगा।

बिना पदाधिकारी का प्राधिकरण

                    शैलेश पाण्डेय ने प्रेस वार्ता में मंत्री से तीन सवालों का जवाब मांगा। उन्होने कहा कि मंत्री को बताना होगा कि अरपा तट बसे लोगों की जमीनों को प्राधिकरण के कब्जे से कब तक आजाद कराया जाएगा।मतलब तुगलकी फरमान कब वापस होगा। प्रदेश का एकलौता प्राधिकरण है जिसमें ना तो अध्यक्ष और ना ही सचिव..शैलेश ने इसकी वजह जानना चाहा है। इसके अलावा शैलेश ने पूछा है कि पिछले आठ सालों में अरपा कितना सौंदर्यीकरण पर कितना काम किया गया। हरे भरे पेड़ लगाए गए हैं तो उसकी जानकारी दें। यह भी बताएं की यदि अरपा को टेम्स बनाना ही था तो पिछले 15 सालों में कितना जल भराव किया गया।

मरणासन्न अरपा के लिए जिम्मेदार कौन

                     इसी तरह दूसरे प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अभय नारायण ने भी मंत्री से तीन सवालों का जवाब चाहा है। अभय ने एक के बाद एक तीन सवाल करते हुए कहा कि मंत्री बताएं कि अरपा तट की बंधक बनाए गए जमीन में कितनी सरकारी हैं और कितनी गैर सरकारी। पिछले पन्द्रह सालों में अरपा की रेत और पानी से निगम को कितनी रायल्टी मिली। जब केन्द्र और राज्य में भाजपा सरकार है तो फिर अरपा को मरणासन्न हालत में लाने के लिए कौन जिम्मेदार है।

                                            सवाल जवाब के दौरान शैलेश पाण्डेय ने कहा कि अरपा चुनावी मुद्दा नहीं है। ना ही कांग्रेस के पास मुद्दों की कमी ही है। अरपा हमारी मां है। हम अपनी मां को इस हालत में देख नहीं सकते हैं। भोली भाली अरपा मां को इस हालत में लाने के लिए जिम्मेदार को कांग्रेस पार्टी और बिलासपुर की जनता कभी माफ नहीं करेगी। हर हालत में अरपा को हरा भरा बनाकर कांग्रेस पार्टी बिलासपुर की जनता के साथ बनाकर रहेगी।

खारून पर भी करेंगे यात्रा

                           क्या खारून नदी के लिए भी ऐसा प्रयास किया जाएगा। अभय नारायण राय ने बताया कि खारून अब खत्म होने के कगार पर है। नदी के बीच में निगम सभापति अशोक विधानी का भठ्ठा चल रहा है। हम अरपा नहीं बल्कि उसकी सहायक नदी खारून के लिए भी संघर्ष करेंगे। अभय ने बताया कि भाजपा नेता अक्सर नदी के तट पर खाली जमीन की तलाश करते हैं। बाद में उसकी रजिस्ट्री करवा लेते हैंं। अभय ने कहा कि भाजपा नेता बताएं कि किस कांग्रेसी नेता की जमीन अरपा तट पर है। किस कांंग्रेसी ने अरपा की जमीन पर बेजाकब्जा का प्रयास किया है।

अतिथि स्वागत हमारी परम्परा

              चन्दन यादव अरपा बचाने आए हैं या फूल माला पहनने। सवाल के जवाब में पाण्डेय और अभय दोनों ने ही बारी बारी से बताया कि चन्दन यादव कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय नेता हैं। हर कार्यकर्ता अपने नेता का स्वागत करना चाहता है। इसलिए उनका जगह जगह स्वागत किया जा रहा है। अतिथियों की स्वागत हमारी परम्परा में है। लेकिन स्वागत के केन्द्र में अरपा बचाओ अभियान प्रमुख है।

                              कांग्रेस नेताओं ने बताया कि दम तोड़ती अरपा ना केवल बिलासपुर के लिए बल्कि देश के लिए भी बहुत बड़ी समस्या है। यही कारण है कि अरपा बचाओ अभियान की अगुवाई हमारे राष्ट्रीय नेता कर रहे हैं।

                                    ऐसा लग रहा है कि चन्दन का सम्मान करने टिकटार्थियों में होड़ है। क्या अरपा को चुनावी मुद्दा बनाकर मैदान में उतरने की तैयारी है। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि हरगिज नहीं। हमारे पास मुद्दों की कमी नही है। नसबन्दी,सिवरेज समेत अन्य कई मुद्दे हैं। किसानों का मुद्दा,फसल बीमा मुद्दा,सूखा राहत मुआवजा मुद्दा,मनरेगा मजदूरी भुगतान मुद्दा इसमें एक है। यहां हम बिलासपुर की जीवन रेखा को बचाने की कोशिश कर रहे हैं। टिकटार्थी ही नहीं बल्कि सभी कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता चंदन यादव का सम्मान कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *