कोल माफियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई….दो कोल डिपो संचालक गिरफ्तार…एसपी के आदेश से दोनों कोल डिपो सील

बिलासपुर— बिलासपुर पुलिस कप्तान ने एक बार फिर कोयला माफियों  पर नकेल लगाया है। पुलिस कप्तान के निर्देश पर पुलिस की आलाधिकारियों की टीम ने दो अलग अलग ठिकानों पर छापामार कार्रवाई की है। पुलिस कार्रवाई से कोयला माफियों में हड़कम्प मच गया है।  छापामार कार्रवाई में पुलिस को दोनों अलग अलग ठिकाने से 60 और 40 टन कोयला बरामद हुआ है। बताया जा रहा है कि दोनों कोलडिपो में बरामद कोयला अवैध है। कागजात मांग जाने पर कोल डिपो संचालकों ने हाथ खड़ा कर दिया है। पुलिस दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया है।

                     बिलासपुर पुलिस कप्तान के निर्देश पर पुलिस के आलाधिकारियों की टीम ने एक साथ दो अलग-अलग जगह कोयला डिपो में छापामार कार्रवाई की है। दोनों ही जगह पुलिस को भारी मात्रा में कोयले का अवैध भण्डार मिला है। दोनों कोलडिपो संचालकों को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है।

                 पुलिस कप्तान को मुखबिर तंत्र से जानकारी मिली कि लोग लायसेंस की आड में अवैध भण्डारण कर मिलावट के साथ कोयला बेच रहे हैं। खबर मिलने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरिफ हुसैन शेख ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज चन्द्राकर और नगर पुलिस अधीक्षक नसर सिद्दीकी की अगुवाई में दो अलग-अलग टीम का गठन किया। दोनों टीमों को पुलिस कप्तान ने हिर्री थाना क्षेत्र स्थित सन्तू कोल डिपो और मुन्ना कोल डिपो में छापा मारने का आदेश दिया।

                               पुलिस को अलग-अलग कोल डिपो में छापामार कार्रवाई के दौरान भारी मात्रा में अवैध भण्डारण का कोयला मिला। एडिश्नल एसपी नीरज चन्द्राकर और डीएसपी नसर सिद्दीकी ने बताया कि बोड़सरा स्थित सन्तू जैसवानी के कोल डिपो में कुल 60 टन कोयला मिला है। जबकि मुरू स्थित मुन्ना गुप्ता पिता महेन्द्र गुप्ता के कोल डिपो में 40 टन अवैध भण्डार मिला है।

                 दोनों अधिकारियों ने बताया कि कोल डिपो संचालकों से इस दौरान कोयला की रायल्टी पर्चा समेत अन्य कागजतों की मांग की गयी। लेकिन दोनों ने कागजात नहीं दिखाया है। साथ ही कोयला कहां से लाया गया। जानकारी नहीं दे पाये।

                                       उचित जवाब और कागजात नहीं मिलने के बाद दोनों डिपो को संचालकों की मौजूदगी में सील कर दिया गया है। दोनों कोल डिपो संचालकों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया है।

लगातार होगी कार्रवाई

पुलिस कप्तान आरिफ शेख ने बताया कि लगातार शिकायत मिल रही थी। इसके बाद जांच पड़ताल में शिकायत को सही पाया गया। मौका मिलने पर अवैध भण्डारण करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की गयी है। लायसेंस की आड़ में चोरी और अवैध कोयला भण्डारण करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। किसी को बख्शा नहीं जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *