शिक्षा कर्मियों का संविलयनः MP जैसा न हो छत्तीसगढ़ का हाल….. मंत्री केदार कश्यप से मिले मोर्चा के पदाधिकारी

रायपुर । मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की ओर से शिक्षा कर्मियों के संविलयन के एलान के बाद संघठन के नेताओँ ने शिक्षा मंत्री केदार कश्यप से मिलकर खुशी का इजहार किया और सरकार की इस घोषणा को लेकर आभार व्यक्त किया। साथ ही शिक्षा मंत्री से यह अनुरोध भी किया कि संविलयन के आदेश से पहले मोर्चा के सभी संचालकों के साथ मीटिंग कर सरकार उन्हे विश्वास में ले और इस तरह से प्रक्रिया को आगे बढ़ाए जिससे छत्तीसगढ़ की हालत मध्यप्रदेश की तरह से न हो।
मंगलवार को विरेन्द्र दुबे और केदार जैन की अगुवाई में पदाधिकारियों औऱ शिक्षा कर्मियों का एक प्रतिनिधिमंडल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप से मिला। उन्होने  संविलियन के ऐतिहासिक निर्णय पर छत्तीसगढ़  शासन का आभार  व्यक्त किया । साथ ही कहा कि  समस्त शिक्षाकर्मियों के वेतन विसंगति दूर करते हुए संविलियन होने पर सर्वत्र खुशी का माहौल बनेगा । यह मांग भी रखी कि संविलियन आदेश के पहले मोर्चा संचालको के साथ बैठक कर सरकार उन्हे विश्वास में लें ।
 केदार जैन ने बताया कि हमनें आज मुख्यमंत्री  से धयवाद ज्ञापन देने मिलने का समय लिया है। और हम मिलने के बाद उंन्हे ये भी बताएंगे कि मध्यप्रदेश में हुए संविलियन के बाद भी शिक्षक संघो में क्यो नाराज़गी है। मध्यप्रदेश में संविलियन के बाद भी शिक्षक खुश क्यो नही है ।  इस मु्द्दे पर उंन्हे अवगत कराया जाएगा।
आज शिक्षक पँ ननि मोर्चा का प्रतिनिधि मंडल और शिक्षाकर्मियों का दल प्रदेश संचालक विरेन्द्र दुबे और केदार जैन के नेतृत्व में शिक्षामंत्री केदार कश्यप से मुलाकात कर आभार व्यक्त किया।शिक्षामंत्री ने भी संविलियन होने पर समस्त शिक्षाकर्मियों को बधाई दी और कहा कि छग शासन ने गुरुओं को संविलियन देकर गरिमा प्रदान किया है। प्रदेश की शिक्षा इससे उन्नत होगी।शिक्षामंत्री द्वारा शिक्षाकर्मियों का मुंह मीठा कराया गया। शिक्षामंत्री के समक्ष प्रदेश संचालक विरेन्द्र दुबे नेे सर्वप्रथम आभार व्यक्त करते हुए मांग रखी कि वेतन विसंगति दूर करते हुए समस्त शिक्षाकर्मियों का संविलियन आदेश जारी किया जावे जिससे सर्वत्र हर्ष का वातावरण बनेगा।
शिक्षामंत्री से मुलाकात करने वालो में प्रमुख पदाधिकारियों में धर्मेश शर्मा,चन्द्रशेखर तिवारी,जितेंद्र शर्मा,ताराचन्द जायसवाल, सांत्वना ठाकुर,दीपिका,अमित दुबे,पवन सिंह, जितेंद्र सिंहा, शिवराज ठाकुर,जितेन्द्र गजेंद्र, अतुल अवस्थी, एवम बड़ी संख्या में महिला शिक्षाकर्मी सम्मलित थे ।

Comments

  1. By Samshad ansary

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *