चंदन यादव ने किया पदयात्रा रूट का निरीक्षण..कहा…लौटाना होगा अरपा का गौरव…नहीं चलेगा टेम्स का बहाना

बिलासपुर—जिला कांग्रेस कमेटी ने संयुक्त रूप से अरपा विकास योजना के विरोध में अरपा बचाओ यात्रा का एलान किया है। कांग्रेस नेताओं ने दावा किया है कि अरपा तट पर रहने वालों ने भी अरपा बचाओ पदयात्रा का समर्थन किया है। आज पदयात्रा की जरूरी रणनीति की बैठक के बाद कांग्रेसियों ने कहा कि तट के दोनों तरफ रहने वालों की समस्याओं को पुरजोर तरीके से उठाया जाएगा। भयादोहन समाप्त करने के अलावा अरपा नदी को कचरा मुक्त करने का भी कांग्रेस ने बीड़ा उठाया है। इसके अलावा कांग्रेस ने निश्चित किया है कि अरपा गौरवशाली रूप देने के लिए 9 जून से 13 जून तक अरपा बचाओं पदयात्रा कर सरकार पर दबाव बनाया जाएगा।
               जिला अध्यक्ष विजय केशरवानी ने बताया कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी राष्ट्रीय सचिव प्रदेश प्रभारी चंदन यादव ने दाई मंदिर से सेंदरी तक यात्रा मार्ग का निरीक्षण किया। इस दौरान मस्तूरी विधायक दिलीप लहरिया, प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव, जिलाध्यक्ष नरेन्द्र बोलर प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अभय नारायण राय के अलावा कई वरिष्ठ कांग्रेसी भी थे। पदयात्रा मार्ग को लेकर प्रभारी नेता जरूरी दिशा-निर्देश भी दिया।
             केशरवानी ने बताया कि अरपा बचाओ पदयात्रा 9 जून को मस्तूरी विधानसभा क्षेत्र में दोमुहानी ग्राम पंचायत के आश्रित ग्राम बूटापारा स्थित प्रसिद्ध मनकादाई मंदिर से प्रारंभ होगी। मनका दाई से आशीर्वाद लेने के बाद पदयात्रा बूटापारा देवरीखुर्द चौक बरखदान होते हुये देवरीडीह के कृष्णा चौक पहुँचेगी। इसके पहले बूटापारा में आमसभा का आयोजन किया जाएगा।
              हाउसिंग बोर्ड चौक, कृष्णा चैक में भी पदयात्रा के दौरान सभायें होंगी। पदयात्रा के पहला दिन का समापन जगमल चौक के पास तोरवा प्रायमरी स्कूल और पास पार्षद तजम्मुल हक के घर के पास होगा। 10 जून को यात्रा तोरवा प्रायमरी स्कूल से प्रारंभ होकर, तोरवा बस्ती, जगमल चौक, दयालबंद चौक, नारियल कोठी, मधुवन चौक, कतियापारा, जूना बिलासपुर होते हुये पचरीघाट पहुँचेगी। दूसरे दिन पदयात्रा का समापन माँ अरपा की आरती के साथ होगा।
           केशरवानी ने बताया कि तीसरे दिन 11 जून को पचरीघाट से यात्रा प्रारंभ होकर चैपाटी होते हुये, बिलासा दाई चौक, वाल्मिकी चौक, रिवर व्यू, प्रताप चौक, राम मंदिर, तिलक नगर होते हुये कुदुदण्ड से मंगला बस्ती होते स्थित धुरीपारा पहुंचकर खत्म होगी। 12 जून को तखतपुर विधानसभा के लोखंड़ी, निरतु होते हुये पदयात्रा टीम नदी के रास्ते सेंदरी पहुँचेगी। यहां आमसभा का आयोजन किया जाएगा।  कोनी में पदयात्रा का समापन होगा।
                      13 जून को पदयात्रा का अंतिम दिन होगा। पदयात्रा टीम राजू यादव के पेट्रोल पंप से प्रारंभ होकर जबड़ापारा, ईरानी मोहल्ला, चांटीडीह होते हुये लिंगियाडीह पहुँचेगी। यहीं पर पदयात्रा का समापन होगा।
             केशरवानी ने बताया कि देवरीखुर्द  में पदयात्रा की जिम्मेदारी देवरीखुर्द उप-सरपंच ब्रम्हदेव सिंह, पूर्व सरपंच मनिहार निषाद, पूर्व सरपंच पंजू सिंह नेताम, रामकुमार कश्यप, संतू चैहान को दी गयी है। तोरवा में पार्षद तजम्मुल हक को भी पदयात्रा को सफल बनाने को कहा गया है। गुरूनानक चौक में महामंत्री रेलवे क्षेत्र प्रभारी राकेश सिंह को भी जवाबदारी सौंपी गयी है।
                       प्रदेश कांग्रेस अभयनारायण राय ने बताया कि पदयात्रा मार्ग निरीक्षण के बाद कांग्रेस भवन में प्रभारी सचिव ने बैठक लेकर सभी को जरूरी दिशा निर्देश दिया है। बैठक में शहर अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर, जिलाध्यक्ष विजय केशरवानी के अलावा अन्य कांग्रेस नेताओं के साथ चंदन यादव बिलासपुर विधानसभा क्षेत्र की तैयारियों को लेकर चर्चा की है।
                    बैठक में पूर्व शहर अध्यक्ष रविन्द्र सिंह, महिला कांग्रेस अध्यक्ष सीमा पाण्डेय, युवा कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष महेन्द्र गंगोत्री, जिलाध्यक्ष भावेन्द्र गंगोत्री, शहर अध्यक्ष शिवा नायडू, एन.एस.यू.आई. के राष्ट्रीय प्रतिनिधि अमितेश राय, जिलाध्यक्ष तनमीत छाबड़ा, विराज रजक, कार्यालय सचिव सुभाष ठाकुर, सेवादल के अशोक शुक्ला, मनोहर कुर्रे समेत कई कांग्रेसी मौजूद थे।
                   चंदन यादव ने बताया कि अरपा बिलासपुर की जीवनदायिनी नदी है। अरपा के सूखने से बिलासपुर का जलस्तर लगातार गिरा है। पिछले 15 सालों से शहर की जनता को छला गया है। अरपा को टेम्स बनाने का ख्वाब दिखाकर चुनाव जीता जा रहा है। बिलासपुर का विकास सिर्फ कागजों में है। इन तमाम पहलुओं को ध्यान में रखते हुए जिला कांग्रेस कमेटी ने अरपा बचाओं पदयात्रा का निर्णय लिया है।
                प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव ने कहा कि अरपा विकास प्राधिकरण का गठन कर केवल कागजों में है। 2008 और 2013 के चुनाव में भी अरपा और टेम्स का सपना दिखाया गया। करोड़ों रूपये फूंककर सरकार ने कोई काम नहीं की। अरपा विकास योजना के नाम पर लोगों का भयादोहन किया जा रहा है। जिले की जनता समझ चुकी है कि अरपा विकास योजना ना होकर यह अरपा बंधक योजना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *