कांग्रेस की विकास खोजो यात्रा में नई नई कहानी..ODF गांव में शौचालय नहीं…तो बालोद में छलका किसानों का दर्द

रायपुर—छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी की टीम विकास खोजो यात्रा अभियान के तहत मोहला मानपुर डौंडीलोहारा दल्लीराजहरा चिकलाकसा गुजरा और बालोद पहुंची। मीडिया प्राभारी विकास तिवारी के अनुसार मोहला मानपुर के निवासियों ने बताया कि साल भर पहले इंदिरा आवास योजना के तहत मकान के लिए आवेदन किया। साल भर बीतने के बाद भी गरीब वृद्ध महिलाओं को इंदिरा आवास योजना से लाभ नहीं मिला है। जिसके कारण वृद्ध महिलाएं अब भी झुग्गी-झोपड़ी में रहने को मजबूर हैं।
              विकास खोजो यात्रा के दौरान कांग्रेस पार्टी की टीम को डौंडीलोहारा में नागरिकों ने बताया कि आदिम जाति सेवा सहकारी समिती भर्रीटोला शाखा डौंडी में है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत खरीफ की फसल के लिए अऋणी किसानो और ऋणी किसानो से बीमा कंपनी रिलायंस और इफको टोकियो कंपनियों ने  बीमा कराया। प्रीमियम राशि कोई 2 करोड़ 72 लाख 12 हजार 655 रुपए लिया गया। इसमें 8 ग्राम पंचायतों के 1321 किसानों ने बीमा का किश्त पटाया है। इसमें 190 महिला किसान भी शामिल हैं।कुल क्लेम राशि 7 लाख 22 हजार में से मात्र केवल 64 811 बीमा राशि का ही भुगतान किया गया है। मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और कृषिमंत्री प्राभारी बालोद बृजमोहन अग्रवाल के दावो की पोल पट्टी खुल गयी। दोनों नेताओं ने कहा था कि प्रदेश के एक एक किसान को फसल बीमा राशि का भुगतान हो चुका है।
                            मीडिया प्राभारी विकास तिवारी ने बताया कि डौंडी की निवासी कमला देवी ने  उज्ज्वला योजना में गैस सिलेंडर लिया था। एक साल हो गया है  महंगे गैस सिलेंडर नही ले पाने के कारण फिर से चूल्हे में खाना पकाना शुरू कर दिया है। कमला देवी ने बताया कि कल मुख्यमंत्री आये थे उनसे बात करना चाह रही थी लेकिन पांच मिनट में ही चले गये। कहते है कि डौंडी लोहारा का विकास देखो। बालोद निवासी लता बाई देवार उज्ज्वला योजना तहत गैस चूल्हा और  सिलेंडर के लिये आवेदन जमा की। आज तक गैस कनेक्शन नही मिला है। लता चूल्हे में खाना पकाने को मजबूर है।
               बालोद विधानसभा निवासी मोहित ने साल भर पहले भारत सरकार की मुद्रा लोन योजना के तहत आवेदन किया। मोहित को मोदी और रमन सरकार से बहुत उम्मीद थी। मुद्रा लोन योजना के तहत पैसा मिलेगा और व्यापार प्रारंभ करेगा। एक साल हो गए आवेदन जमा किए लेकिन आज तक ना तो लोन मिला ना ही व्यापार ही चालू हुआ।  आजकल मोहित ऑफिस-ऑफिस खेल में व्यस्त है।
            विकास ने बताया कि बालोद जिले में शौचालय निर्माण में भारी अनियमितता हो रही है। एक दिव्यांग ने बताया की गाँव मे बने शौचालय में न तो पानी की उचित व्यवस्था है और न ही निर्माण कार्य गुणवत्ता के अनुरूप है। मजबूरन परिवार को खुले में शौच को जाना पड़ता है। जबकि क्षेत्र को रमन सरकार ने ओडीएफ घोषित कर दिया है।
                              विकास खोजो यात्रा में वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के अलावा प्रदेश समन्वयक अरुण भद्रा, सह समन्वयक आकाश शर्मा, विधायक अनिला भेड़िया, जिलाध्यक्ष अभिषेक शुक्ला, ब्लाक अध्यक्ष मुकेश पौशय, संगीता नायर, शिबू नायर, आईटी सेल के अनिल चेनानी, महिला कांग्रेस, किसान कांग्रेस, एनएसयूआई के पदाधिकारी समेत सैकड़ों नागरिक शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *