शिक्षाकर्मीः कमेटी की फायनल रिपोर्ट तैयार…CM खोलेंगे किस्मत का पिटारा.. सदस्यों ने मांगा मुखिया से समय

बिलासपुर, अम्बिकापुर, दुर्ग ,जगदलपुर,ट्रांजिट हॉस्टल,chhattisgarh,pwdबिलासपुर—राज्य शासन ने पंचायत और नगरीय निकाय संवर्गों के शिक्षकों की विभिन्न मांगों पर विचार करने के लिए मुख्य सचिव अजय सिंह की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय समिति ने रिपोर्ट तैयार कर ली है। पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों ने बताया कि रिपोर्ट मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को सौंपी जाएगी।
                    मालूम हो कि सामान्य प्रशासन विभाग ने शिक्षकों के वेतन-भत्तों और पदोन्नति, अनुकम्पा नियुक्ति और स्थानांतरण नीति से संबंधित मांगों पर विचार करने पांच दिसम्बर 2017 को समिति का गठन किया था। कमेटी को तीन महीने के अन्दर रिपोर्ट देना था लेकिन मसौदा तैयार नहीं होने की सूरत में दो बार एक एक महीने का समय कमेटी को दिया गया ।
              अधिकारियों ने बताया कि समिति ने समय-समय पर बैठकों का आयोजन किया। बैठकों में पंचायत एवं नगरीय निकाय संवर्ग के शिक्षक संगठनों के पदाधिकारियों से सुझाव भी लिए। सुझावों पर गहन विचार-विमर्श के बाद समिति ने अंतिम प्रतिवेदन तैयार कर लिया है। समिति ने फैसला किया है कि प्रतिवेदन मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को जल्द ही सौंप दिया जाएगा।
                अधिकारियों ने बताया कि समिति ने सीएम से मुलाकात के लिए समय मांगा है। समय मिलते ही रिपोर्ट को मुख्यमंत्री को सौंप दिया जाएगा। मालूम हो कि  राज्य शासन ने शिक्षाकर्मियों की माांग को लेकर आठ सदस्यों वाली कमेटी का गठन किया था। समिति में पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव आर.पी. मंडल, वित्त विभाग के प्रमुख सचिव अमिताभ जैन, सामान्य प्रशासन विभाग की प्रमुख सचिव ऋचा शर्मा, नगरीय प्रशासन और विकास विभाग प्रमुख सचिव डॉ. रोहित यादव, स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव गौरव द्विवेदी, आदिम जाति विकास विभाग की विशेष सचिव रीना बाबा साहब कंगाले और पंचायत संचालनालय के संचालक तारण प्रकाश सिन्हा शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *