PHOTO:शिक्षाकर्मियों में खुसुर फुसुर,क्या 24 वीं कमिटी तक करँगे इंतजार,फिर विश्व की सबसे ऊंची चोटी पर लिखा संविलियन

रायपुर।छत्तीसगढ़ में शिक्षाकर्मियों की संविलियन सहित अन्य मांगों को लेकर बनाई गई कमेटी लगता है कि अब ये अंतिम दौर में पहुंच गई है। मुख्यमंत्री का दिया हुआ बयान इसी ओर इशारा भी करता है।शिक्षाकर्मियों पर बनी अब तक 23 कमेटियों के बाद यह 24वीं कमेटी अपनी क्या रिपोर्ट पेेेेश करेगी। यह तो कमेटी की रिपोर्ट जब सार्वजनिक होगी तभी पता चल पाएगा।इधर संविलियन का जुनून शिक्षा कर्मियी के बढ़ चढ़ कर बोल रहा है।परिवार के साथ सेल्फी हो या नारो के साथ वाल पेंटिंग हो , संविलियन का ठप्पा हो या हाल ही में जारी हुआ संविलियन का रिंग टोन मीडिया और सोशल मीडिया में छाया हुआ है। संविलियन कि प्रति दीवानगी सर चढ़ कर बोल रही है

संविलियन का जुनून अब शिक्षाकर्मियो पर कुछ इस कदर हावी हो गया है कि उन्होंने 18380 फिट की ऊंचाई पर बर्फ के बीच संविलयन उकेर दिया ।

संयुक्त शिक्षा कर्मी संघ जिला सुरजपुर के अध्यक्ष सचिन त्रिपाठी ने बताया कि सुरजपुर द्वारा संविलियन के लिए सेल्फी विथ फैमिली,संविलियन ठप्पा अभियान चलाया जा चुका है। औऱ अब इस कड़ी को आगे बढ़ाते हुए और अब फिर सुरजपुर जिले के शिक्षाकर्मियों साथियो ने लद्दाख में 18380 फिट की ऊँचाई पर विश्व के सबसे ऊंचे रोड के पास खरदोंगला के बर्फ में संविलियन लिख दिया है।सचिन ने बताया कि मेरे साथ मेरे संयुक्त शिक्षाकर्मी संघ सुरजपुर के गिरिवर यादव,राकेश शुक्ला, भुवनेशवर सिंह,विक्रम सिंह तोमर ने अपनी लेह लद्दाख यात्रा दौरान विश्व के सबसे ऊंचे रोड पास खरदुंगला में बर्फ पर संविलियन लिख अपनी आवाज बुलंद की है।

उन्होंने बताया कि हम जहाँ भी रहे हमारे दिल मे संविलियन कितना महत्वपूर्ण है ये भाव हम लद्दाख की सबसे ऊंची चोटी में जाकर दर्शाया है। सरकार संविलियन की भावना को समझें और शिक्षा कर्मियो का मध्यप्रदेश से बेहतर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *