…जब कथा वाचक ने कहा…यू-ट्यूब में दी गयी भ्रामक जानकारी…मुझे बताया टोनहा..मान सम्मान को पहुंची ठेस

बिलासपुर– कथा वाचक ने तखतपुर निवासी अनिल ठाकुर के खिलाफ पुलिस प्रशासन से शिकायत की है। कथा वाचक नरेन्द्र नयन शास्त्री ने बताया कि वह सात्विक रूप से कथा वाचन कर लोगों को प्रेम और भाई चारा का संदेश देता हूं। भागवत कथा कर लोगों के विचारों को शुद्ध करता हूं। लेकिन अनिल सिंह ठाकुर ने मेरे खिलाफ यू – ट्यूब पर टोना टोटका का आरोप लगाया है। मेरी छवि को धूमित किया है। इसलिए अनिल सिंह के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाए।

                           कथा वाचक नरेन्द्र शास्त्री ने बताया कि तखतपुर में सुखनन्दन ठाकुर के कहने पर उनके निवास स्थान पर 24 जुलाई 2017 को कथा वाचन किया। इस दौरान जानकारी मिली कि सुखनन्दन ठाकुर का उनके बेटे अनिल से अच्छे संबध नहीं है। यह भी जानकारी मिली कि अनिल ठाकुर की पत्नी से भी संबध ठीक नहीं है। मैने दोनों परिवार को जोड़ने का प्रयास किया। लेकिन बात नहीं बनी।

       नरेन्द्र शास्त्री ने बताया कि अनिल ठाकुर तखतपुर में मेडिकल दुकान का संचालन करते हैं। मैं जहां भी कथा वाचन करने जाता हूं। इसके पहले अनिल ठाकुर वहां पहुंचकर मेरे खिलाफ यजमानों को भड़काता है। लोगों को गलत जानकारी देता है कि मैं टोना टोटका करता हूं। आम जनता के बीच में भी मेरे खिलाफ अनाप शनाप गलत जानकारी देता है। जिससे मेरी छवि धूमिल हुई है। जबकि मैं सात्विक पूजा पाठ,भागवत कथा,प्रवचन के अलावा कुछ भी नहीं करता हूं।

                       शास्त्री ने पुलिस प्रशासन को बताया कि समाज सेवा भी करता हूं। कथा वाचन के बाद जो कुछ हासिल होता है उससे गरीब लड़कियों की शादी में मदद करता हूं। गौशाला निर्माण में भी अर्जित आय को दान में देता हूं।

                 पुलिस प्रशासन को लिखित शिकायत में नरेन्द्र शास्त्री ने बताया कि करीब 20 दिन पहले वाट्सअप पर एक वीडियों वायरल हो रहा है। वीडियो यू-ट्यूब में भी है। जिसमें अनिल ठाकुर ने बताया है कि मैं व्यास पीठ से संतो का अपमान कर रहा हूं।वीडियो देखने के बाद मुझे मानसिक पीड़ा हुई है। जबकि मेरे कार्यक्रम में बहन बेटियों का आना जाना परिवार के साथ होता है। मेरी छवि पर अनिल ठाकुर ने गहरा अघात किया है।

                      नरेन्द्र शास्त्री ने कहा कि अनिल ठाकुर और मनोज गुप्ता ने विडियो को यू-ट्यूब में डाला है। पेसबुक और वाट्सअप पर भी चलाया जा रहा है। दोनों दुष्प्रचार कर मुझे बदनाम कर रहे हैं। इन दोनों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *