स्वास्थ्य मंत्री अजय चन्द्राकर ने छत्तीसगढ़ी भाषा में ‘परिवार स्वास्थ्य वाणी 104’ टोल फ्री नम्बर का किया शुभारम्भ

रायपुर।स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री अजय चन्द्राकर ने आज यहां अपने निवास कार्यायल में छत्तीसगढ़ी भाषा में ‘परिवार स्वास्थ्य वाणी 104’ टोल फ्री नम्बर का शुभारंभ किया। प्रदेश के कोई भी व्यक्ति टोल फ्री नम्बर 104 डायल कर स्थानीय भाषा में भी निःशुल्क परिवार नियोजन संबंधी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
स्वास्थ्य मंत्री ने इस अवसर पर कहा कि वर्तमान में राज्य शासन द्वारा संचालित 104 टोल फ्री सेवा के अन्तर्गत ही परिवार स्वास्थ्यवाणी का लाभ भी लिया जा सकेगा। उन्होने विश्वास व्यक्त किया कि समुदाय स्तर पर लोग इस सेवा का भरपूर लाभ उठायेंगे एवं परिवार नियोजन सेवाओं के अन्तर्गत सम्मानजनक देखभाल को सुदृढ बनाने के लिये अपनी प्रतिक्रिया दर्ज करायेंगे।

उल्लेख है कि मातृत्व एवं शिशु उत्तरजीविता कार्यक्रम के तहत शिशु एवं मातृत्व मृत्यु को कम करने के लिए प्रयास किये जा रहे हैं। इस कार्यक्रम के तहत परिवार नियोजन साधनो की उपलब्धता एवं सेवाओं की गुणवत्ता को बढाने के लिए किये जा रहे प्रयास, भारत की परिवार नियोजन 2020 प्रतिबध्दता को पूरा करने में सहायक होंगे। इसके लिए सामुदायिक सहभागिता, लैंगिक समानता, सम्मानजनक देखभाल एवं हितग्राही द्वारा सम्पूर्ण जानकारी के आधार पर परिवार नियोजन के साधन के चयन को प्राथमिकता दी जा रही है।
इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के संचालक डॉ. सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे ने बताया कि भारत शासन की डिजिटल भारत की अवधारणा के पूरक के रूप में यह प्रयास किया जा रहा है जिससे परिवार नियोजन सम्बन्धी जानकारी आसानी से उपलब्ध हो सके एवं हितग्राहियों द्वारा प्राप्त सेवाओं की गुणवत्ता के बारे में प्रतिक्रिया दर्ज कराई जा सके, जिससे सेवाओं में ओैर भी सुधार किया जा सकेगा। उन्होने बताया कि इस सेवा के अन्तर्गत तीन विकल्प होंगे।प्रथम विकल्प के माध्यम से परिवार नियोजन साधनो की जानकारी प्राप्त की जा सकेगी। द्वितीय विकल्प के माध्यम से प्राप्त सेवाओं की गुणवत्ता के बारे में प्रतिक्रिया दर्ज कराई जा सकेगी एवं तृतीय विकल्प के माध्यम से परिवार नियोजन सेवाओं हेतु अग्रिम नाम पंजीकृत कराया जा सकेगा।
इस मौके पर सेन्टर फॅार केटलाईजिंग चेंज संस्था की कार्यकारी निदेशक डॅा. अपराजिता गोगोई द्वारा बताया गया कि परिवार स्वास्थ्य वाणी 104 के माध्यम से एकत्रित प्रतिक्रियाएं, इन्टरनेट आधारित डैशबोर्ड के रूप में उपलब्ध होंगी। इनका उपयोग कर विभिन्न स्तरों पर स्वास्थ्य सेवा प्रबन्धकों द्वारा आवश्यक निर्णय लिए जा सकेंगे, जिनसे परिवार नियोजन सेवाओं के अन्तर्गत सम्मानजनक देखभाल के स्तर को सुदृढ करने में सहायता मिलेगी।  उन्होने बताया कि, यह डैशबोर्ड, जीवनदीप समिति जैसे समुदाय का प्रतिनिधित्व करने वाले मंचों के लिए भी उपलब्ध होगा।
डॉ. विवेक यादव ने बताया कि परिवार स्वास्थ्य वाणी 104 ऐसा पहला प्रयोग होगा जिसके माध्यम से परिवार नियोजन की गुणवत्तापूर्ण सेवाएं लेने के लिए हितग्राही द्वारा अपने वंाछित स्वास्थ्य केन्द्र में अग्रिम पंजीकरण कराया जा सकेगा। ऐसा होने से निर्धारित से अधिक संख्या में सेवा लेने के लिए हितग्राहियों के आ जाने की स्थिति में होने वाली असुविधा से बचा जा सकेगा।
वर्तमान में यह सेवा राज्य के 6 जिलों, रायपूर, धमतरी, दुर्ग, राजनान्दगंाव, बिलासपुर एवं जंाजगीर चाम्पा के लोगों को निःशुल्क उपलबध होगी। इस प्रयास की सफलता के आधार पर भविष्य में इसका विस्तार किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *