जांच के बाद PWD वरिष्ठ लिपिक संस्पेंड…गुप्ता पर टीडीआर और करोंड़ों की फाइल से छेड़छाड़ का आरोप..सीई की कार्रवाई

बिलासपुर। बिलासपुर संभाग क्रमांक वरिष्ठ लिपिक सुरेश कुमार गुप्ता को निलंबित कर दिया गया है। गुप्ता पर टीडीआर और बैंक गारंटी के कागजात पर हेराफेरी करने का आरोप लगा है। संस्पेशन के पहले गुप्ता के खिलाफ जांच बैठायी गयी थी। जांच पड़ताल के दौरान जांच टीम ने आरोपों को सही पाया। इस दौरान गुप्ता से पूछताछ भी हुई।

                              लोक निर्माण विभाग संभाग क्रमांक 1 के मुख्य लिपिक सुरेश कुमार गुप्ता को मुख्य कार्यपालन अभियंता के अनुशंसा पर सस्पेंड कर दिया गया है। गुप्ता पर आरोप है कि उन्होने टीडीआर और करोंड़ों की बैंक गारंटी दस्तावेंजों की हेराफेरी की है।

    जानकारी के करीब पन्द्रह बीस दिन पहले डिवीजन एक के ईई मधेश्वर प्रसाद यकायक शाम को कार्यालय पहुंचे। इस दौरान एस.के.गुप्ता को फाइलों के साथ छेड़छाड़ करते पाया। प्रसाद ने एस.के. गुप्ता के शर्ट और बैग से कई टीडीआर और अनुबंध के सरकारी दस्तावेज भी जब्त किये। इसके बाद मधेश्वार प्रसाद ने मामले की जानकारी मुख्य कार्यापालन अभियंता मंधान को दी। मधेश्वर प्रसाद ने बताया था कि घटना के समय कार्यालय का एक अन्य लिपिक बलभद्रे भी मौजूद था।

                दोनों मिलकर टर्न डिपॉजिट रिसिप्ट,अनुबंध और बैंक गारंटी फैला कर छेड़छाड़ करते हुए पाए गये थे। सभी कागजात टेबल पर फैले हुए थे। सीई को सूचना के बाद पंचनामा कार्यवाई भी हुई। इसके बाद केबिन को सील किया गया। मामले की जांच के लिए अधीक्षण अभियंता ने 5 सदस्यीय जांच टीम का गठन किया।

                           जानकारी के अनुसार जांच टीम ने रिपोर्ट पेश कर दिया है। रिपोर्ट के आधार और सीई मंधान की अनुशंसा पर वरिष्ठ लिपिक एस.के.गुप्ता को निलंबित कर दिया गया है। निलंबन के दौरान गुप्ता पर अटैच की कार्रवाई की गयी है। अग्रिम कार्रवाई तक गुप्ता को जिविकोपार्जन के लिए गुजारा भत्ता के रूप में वेतन दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *