कोर्ट के आदेश पर टूटा घर..घर की महिलाओं ने किया विरोध…कहा हमारे खिलाफ लोगों ने की गहरी साजिश

बिलासपुर– हाईकोर्ट के निर्देश के बाद एसबीआर कालेज के पास जरहाभाटा बस्ती से अतिक्रमण हटाया गया। अतिक्रमण हटाने के दौरान जिला प्रशासन के साथ पुलिस के जवान भी मौजूद थे। इस दौरान बस्ती के लोगों के साथ घर की महिलाओं ने दस्ते का विरोध किया। लेकिन जिला प्रशासन की कार्रवाई और न्यायालय के आदेश के सामने किसी की कुछ नहीं चली। घर को एक झटके में गिरा दिया गया। घर की महिलाएं रोती बिलखती रहीं।

                                          मालूम हो कि एसबीआर कालेज के पास जरहाभाठा बस्ती के एक घर को उच्च न्यायालय ने अतिक्रमण होना बताया। साथ ही जिला प्रशासन को आदेश दिया कि अतिक्रमण को हटाकर जानकारी भेजें। जानकारी के अनुसार बस्ती के ही रहने वाले  मसीह ने हाईकोर्ट में याचिका लगाकर घर को रास्ते में होना बताया। मसीह ने कोर्ट को बताया कि जिस जगह मकान बनाया गया है। दरअसल वह आम निकासी का रास्ता है। लेकिन एक परिवार ने बलात रूप से रास्ते पर अतिक्रमण कर हड़पकर घर बनवा लिया है। जिसके चलते निस्तार में लोगों को परेशानी होती है।

                    याचिका पर सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने जिला प्रशासन को अतिक्रमण को हटाने का आदेश दिया। कोर्ट के आदेश के बाद आज जिला प्रशासन की टीम जरहाभाटा बस्ती जेसीबी के साथ पहुंची। इस दौरान पुलिस के जवान भी मौजूद थे। यद्यपि कुछ स्थानीय लोगों के साथ घर की महिलाओं ने तोड़फोड़ का जमकर विरोध किया। लेकिन किसी की कुछ तरकीब काम नहीं आयी। अन्त घर को तोड़कर गिरा दिया गया।

                            बताते चलें कि जिस घर को अतिक्रमण बताकर गिराया गया। उसमें चार महिलाएं रहती है। मकान मालकिन हरजीत और परमिन्दर कौर ने बताया कि हम लोगों का यहां सालों से साल से घर है। जमीन के कागजात भी हमारे पास हैं। लेकिन झठे लोगों ने कोर्ट को गुमराह कर हम लोगों को बेघर कर दिया। घर टूटते देख चारो महिलाओं की रो रो कर हालत बहुत खराब थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *