कांग्रेस प्रवक्ता ने जोन अधिकारियों को बताया परबुधिया…कहा…यात्रियों की इसलिए बढ़ रही समस्या

बिलासपुर। कांग्रेस प्रवक्ता अभय नारायण राय ने दक्षिण पूर्व मध्य रेल प्रबंधन पर विजन नहीं होने का आरोप लगाया है। अभय ने बताया कि दक्षिण पूर्व मध्य रेल जोन के अधिकार यदि दिमाग से काम लें तो यात्रियों की समस्या बहुत कुछ खत्म हो जाएगी। लेकिन रेलवे अधिकारी परबुधियां बनकर काम करते हैं। जिसके चलते रेल यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा है।

                         प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अभय नारायण ने बताया कि उत्तर रेलवे लखनऊ रेल मंडल ने जंघई वाराणसी से क्सन के अंतर्गत जंघई से सूरियावां के बीच अपग्रेडेशन का कार्य किया रहा है। जिसके चलते रेल प्रशासन ने ब्लाक किया  है। ब्लाक की वजह से दुर्ग-छपरा और  छपरा दुर्ग सारनाथ एक्सप्रेस को 27 मई से 2 जून तक रद्द कर दिया गया है।

रेलवे के इस फैसले से फिलहाल यह तय हो गया है कि रेल प्रशासन को अपग्रेडेशन और रियपेयरिंग का काम करने वाले ठेकेदारों की चिंता है। इस फैसले से प्रभावित होने वाले यात्रियों की कोई परवाह नही है। सारनाथ के रद्द होने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता डीआरयूसीसी के पूर्व सदस्य अभयनारायण राय ने कहा कि दुर्ग छपरा सारनाथ एक्सप्रेस छ.ग. वासियों के लिए इलाहाबाद जाने के लिए एक मात्र टेन है। जबकि छ.ग. में लाखों की संख्या में पूर्वाचंल जाने वालों के लिए भी इलाहाबाद बनारस से होते हुए छपरा जाने हेतु एक मात्र ट्रेन है। गर्मी की छुट्टियाऔर शादी ब्याह का सीजन होने से हजारों की संख्या में यात्रियों ने 27 से 2 जून तक महीनों पहले आरक्षण करा रखा था।

                        दुर्ग छपरा को दुर्ग से इलाहाबाद तक और इलाहाबाद से दुर्ग तक प्रतिदिन चलाया जा सकता था। मगर रेलवे को इन संभावनाओं पर विचार करने की आवश्यकता ही महसूस नही हुई। छत्तीसग़ढ़ से प्रतिदिन सैकड़ों लोग इलाहाबाद अस्थी विसर्जन करने जाते हैं। उनकी भी चिंता जोन के अधिकारियों को नही है। लखनऊ रेल मंडल के आदेश के बहाने बिलासपुर जोन ने भी ट्रेन रद्द करने का आदेश जारी करने में देरी नही की।  न अपने जोन के यात्रियों की चिंता ही की। जोन के अधिकारियों के इस निर्णय से यूपी बिहार के निवासियों में आक्रोश है। वैसे भी रेलवे जोन बिलासपुर इलाहाबाद बनारस और छपरा तक चलने वाली ट्रेन  यात्रियों की परवाह नही करता। सारनाथ सहित सभी ट्रेन  बिना पेंट्रीकार के चलती हैं। लेट चलने का रिकार्ड इन्हीं ट्रेनों  के नाम दर्ज हैं। जबकि सारनाथ और दुर्ग नवतनवा पूरेवर्ष प्रतिक्षा सूची लगी रहती है।अभयनारायण राय ने यह भी कहा कि पूर्वांचल के जनसंगठनों से चर्चा कर अधिकारियों से मिला जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *