52 दिनों बाद टूटा हड़ताल…निगम का सफाई कर्मचारियों को तोहफा…अब होगा कांग्रेस नेताओं का सम्मान

बिलासपुर– आखिरकार पूरे 52 दिनों बाद कांग्रेस पार्षदों को अपने आंदोलन का रिजल्ट मिल ही गया। मेयर किशोर राय और निगम आयुक्त सौमिल रंजन ने 300 सफाई कर्मचारियो की नियमित की मांग को मानते हुए एमआईसी से हरी झण्डी दिखा दिया। प्रस्ताव को शासन के हवाले भी कर दिया। इसी के साथ कांग्रेस संगठन के नेता और पार्षदों ने क्रमिक भूख हड़ताल को खुशी का इजहार करते हुए खत्म भी कर दिया।

                           कांग्रेस पार्षद दल प्रवक्ता शैलेन्द्र ने मांग पूरी होने पर कहा कि सत्य और अहिंसा की जीत हुई है। महापौर और आयुक्त जायज मांग को बहुत दिनों तक दरकिनार नहीं कर सकते थे। सफाई कर्मचारियों के लगातार समर्थन से कांग्रेस साथियों ने 52 दिनों तक क्रमिक हड़ताल किया। अंत में निगम प्रशासन को झुकना पड़ा।

              शैलेन्द्र ने बताया कि 300 से अधिक निगम के अस्थायी सफाई कर्मचारियों की नियमितिकरण की मांग को एमआईसी ने पास कर दिया गया है। प्रस्तावन को शासन के पाले में भेज दिया गया है। निश्चित रूप से यह कांग्रेस और 300 सफाई कर्मचारियो की बड़ी जीत है। शैलेन्द्र ने बताया कि इन 52 दिनों में निगम प्रशासन और मेयर ने धरना पर बैठे कांग्रेसियों को हटाने के लिए साम दाम दण्ड भेद नीतियों का सहारा लिया। लेकिन कांग्रेस साथियों और अनियमित कर्मचारियों के सामने सत्ता पक्ष की एक नहीं चली।

                          शैलेन्द्र ने बताया कि कांग्रेस पार्षद दल ने फैसला किया है कि सफाई कर्मचारियों ने फैसला किया है कि 21 मई दोपहर एक बजे कांग्रेस साथियों का सम्मान विकास भवन में करेगा। इस दौरान कांग्रेस पार्षद दल की तरफ से मीडिया को भी आभार व्यक्त किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *