शिक्षाकर्मियों की पदोन्नति में गड़बड़ीःराज्य स्तरीय टीम से जाँच कराएगे CM डॉ.रमन

जगदलपुर । शिक्षक पंचायत एम्प्लाइज एसोसिएशन की ओर से शिक्षक पंचायत के प्रमोशन में की गई अनियमितताओँ के खिलाफ धरना प्रदर्शन लगातारर जारी है। इस सिलसिले में एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से मुलाकात कर पूरे मामले से अवगत कराया। जिसे गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री ने राज्यस्तरीय जाँच टीम भेजकर आगे की कार्रवाई के लिए आश्लासन दिया है।
धरना प्रदर्शन के  33वें दिन  13 मई को  जिला बस्तर , जगदलपुर के सर्किट हाऊस में समय 10:30 बजे छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह  के प्रेस वार्ता के पश्चात शिक्षक पंचायत , नगरीय निकाय एम्पलॉइज एसोशियन  जिला बस्तर छत्तीसगढ़ के उप प्राँताअध्यक्ष एम .के .राना  के नेतृत्व मुलाकात की । उन्हे बताया गया कि जिला पंचायत बस्तर के 21 जून 17 के पदोन्नत्ति आदेश में छत्तीसगढ़  लोक सेवा पदोन्नत्ति नियम 2003 के पूरक निर्देश 11फरवरी  2008 के कंडिका 2 की गलत ब्याख्या कर अनु जनजाति प्रवर्ग के वरिस्ठ शिक्षक पं संवर्ग को आरक्षण का लाभ लिए जाने के कारण का हवाला देकर आरक्षण  रोस्टर के अनारक्षित बिंदु पदोन्नत्ति से वंचित  कर सामान्य वर्ग के लिए आरक्षित करते हुए कनिष्ट को पदोन्नत्ति दी है  ।
जिसके कारण अनु जनजाति के 156 वरिस्ठ होते हुए पदोन्नत्ति से वंचित हो गए  मुख्यमंत्री ने गंभीरता से सुनकर जानकारी होने की बात कही और राज्य स्तरीय जांच शीघ्र बस्तर आकर रिपोर्ट देने की जानकारी देते हुए बस्तर कलेक्टर धनंजय देवांगन से जानकारी लेकर शीघ्र कार्यवाही कर तीनो पक्ष के साथ बैठक कर निराकरण करने का निर्देश दिया । साथ ही पूरे प्रकरण की जानकारी होने की बात मुख्यमंत्री  ने बताया  ।
ज्ञात हो शिक्षक पं एम्प्लॉइज एसोसिएसन छग के प्रांताध्यक्ष कृष्णकुमार नवरंग ने मुख्यसचिव की अध्यक्षता में आयोजित प्रांतीय हाई पॉवर कमेटी की बैठक में पक्ष रखा और तत्काल जिला पंचायत  से प्रतिवेदन मांगा  । सही जवाब नही होने के कारण पंचायत एवं ग्रामीण विभाग  ने राज्य स्तरीय कमेटी का गठन कर 15 दिवस में रिपोर्ट मांगी है । साथ ही  जिला बस्तर  के अनु जाति जनजाति के शिक्षक पं विद्यालय कार्य के बाद दिनाँक 11 अप्रैल से अनिश्चित  कालीन हड़ताल करते हुए 26 अप्रैल को इन्द्रावती नदी में जल सत्याग्रह कर 02 मई को जिला पंचायत  का घेराव किया  ।
मुख्यमंत्री से मुलाकात के समय   उच्च शिक्षा एवं राजस्व मंत्री प्रेम प्रकाश पांडे , शिक्षा मंत्री  केदार कश्यप , बस्तर सांसद दिनेश कश्यप , जिला बस्तर कलेक्टर , धनंजय देवांगन  आदि प्रशासनिक  अधिकरियों की उपस्थित  रहे ।
उप प्रांताध्यक्ष एम के राणा राजेन्द्र बघेल ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि  जिला पंचायत बस्तर में हुई विसंगतिपूर्ण पदोन्नति  की बात गभीरता से सुनी और  मुख्यमंत्री  ने तत्काल जिला कलेक्टर धनंजय देवाँगन  को निर्देशित किया और  जवाब में कहा की  जिला पंचायत द्वारा की गई विसंगति पदोन्नति मेरे जानकरी में है और मैंने सामान्य प्रशासन  विभाग GAD को निर्देशित किया है और  कमेटी बनाकर जल्द से जल्द इसकी जांच कर सही सूची जारी करने का निर्देशित किया है।  अंत में मुख्यमंत्री ने   आश्वासन दिया की बस्तर st ‘ sc शिक्षकों की मांग जायज है और जल्द ही आपकी  मांगों पूरी की जायेगी ।  मुख्यमंत्री से मिलने वालों में  उमाकांत नेताम , बंशीधर बघेल  आदि  शामिल रहे ।

Comments

  1. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *