जब जोगी ने कहा…अप्रासंगिक पार्टी के पास न नीति, न रणनीति…मुंगेरीलाल की तरह देख रहे CM का ख्वाब

रायपुर–पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कर्नाटक के चुनाव पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि अप्रासंगिक पार्टी कांग्रेस का कर्नाटक में पिछड़ना निश्चित था। इसकी मुख्य वजह कुशल रणनीति का अभाव और सत्ता में रहने के दौरान सर्वहारा वर्ग की उपेक्षा है। जोगी ने बताया कि चुनाव के ठीक पहले जिस तरह लिगायत समुदाय का ध्रुवीकरण करने की साम्प्रदायिक चाल चली गयी। परिणाम के रूप में जनता की भयंकर नाराजगी सामने आयी है। जोगी ने बताया कि अप्रासंगिक पार्टी ने गुजरात चुनाव की हार से सबक नहीं लिया है।

                        कर्नाटक चुनाव परिणाम पर अपनी प्रतिक्रिया में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कहा कि साम्प्रदायिक पार्टी को सत्ता से हटाने का माद्दा केवल क्षेत्रीय पार्टियों में ही है । जिसकी रणनीति जमीनी होती है, जनता से प्रत्यक्ष सम्बाद होता है। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ सत्तारूढ़ भाजपा को छत्तीसगढ़ की ढाई करोड़ जनता के आशीर्वाद से सत्ता से बाहर कर देगी।

                                 जोगी ने कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता भली भांति समझ चुकी है कि अप्रासंगिक विपक्ष अब कमरे की पार्टी हो चुकी है। कांग्रेस की जमीनी पकड़ भी कमजोर है। विधानसभा में मात्र औपचारिकता रूपी विपक्ष का कार्य कर रही है। 14 वर्षों में छत्तीसगढ़ को जिस तेजी से तरक्की करना था, वह नहीं कर पाया। तरक्की का दिखावा किया जा रहा है दरअसल तरक्की भी भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया है।

                                  जोगी ने बताया कि छत्तीसगढ़ में कमजोर विपक्ष के सत्तारूढ़ भाजपा को सहयोगात्मक रूख को जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ ने पूर्व में ही भांप लिया था। यही कारण है कि राजेन्द्र राय, सियाराम कौशिक के संयुक्त प्रयासों से चाहे वह शराबबंदी का मामला हो या पोलावरम बांध का मामला हो। इसके अलावा अन्य जनहित के मुद्दों को विधानसभा में जोरशोर से उठाया गया। प्रमुख विपक्ष के रूप में अप्रासंगिक पार्टी कांग्रेस के नेताओं ने अप्रत्यक्ष रूप से सत्तारूढ़ भाजपा को मदद पहुंचाने का काम किया है। अप्रासंगिक पार्टी ने औपचारिक विरोध कर जनता के छल किया है।

            जोगी ने दावा किया है कि आगामी विधानसभा चुनाव में छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस का मुख्य मुकाबला सत्तारूढ़ भाजपा से है।  कांग्रेस मैदान में कही भी नहीं है। उनके नेता केवल सी.एम. बनने के लिये मुंगेरीलाल की तरह सपने देख रहे हैं। अप्रासंगिक पार्टी का नेतृत्व विखंडित है। बूथ स्तर पर कार्यकताओं का टोंटा है। न नीति है और न ही रणनीति है। केवल राष्ट्रीय स्तर के नेताओं को समाचार पत्रों की कटिंग दिखाकर भ्रमित किया जा रहा है । जबकि धरातल में शून्य है।

                                 जोगी ने कहा कि जिस तरह कर्नाटक में जनता के सहयोग से क्षेत्रीय दल किंग और किंग मेकर की भूमिका में है। इससे स्पष्ट होता है कि पूरे देश में भाजपा को सत्ता से बाहर करने के लिये क्षेत्रीय पार्टियाँ ही दमखम रखती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *