PNB प्रबंधन का नया अभियान…गरीब बच्चियों को देंगे मुफ्त शिक्षा…जनता के सहयोग से पूरी करेंगे जरूरतें

बिलासपुर—पंजाब नैशनल बैंक ने प्रत्येक शाखा में ”गुडनेस बिन” लगाने का निर्णय लिया है। बैंक स्टॉफ, ग्राहक और आम जनता के सहयोग से ”गुडनेस बिन” में साफ सुथरे पैक कपड़े, सही स्थिति की पुस्तके और एक्सपायरी तिथि अंकित उपयोगी दवाईयों को दान स्वरूप में एकत्रित किया जायेगा। सामान्य बैंकिग के साथ साथ निश्चित अंतराल में शाखा प्रमुख खुद्र या एनजीओ के सहयोग से संग्रहित सामग्री को जरुरतमन्द तक पहुचायेंगे। पीएनबी ने बिलासपुर के नागरिकों से नई योजना में सहयोग मांगा है।

                            पंजाव नेशनल बैंक के वरिष्ठ प्रबंधक ललित अग्रवाल ने बताया कि ग्रामीण और अर्धशहरी क्षेत्र की बच्चियों के लिए बैंक ने विशेष योजना लांच किया है। कक्षा 6वी से कक्षा 10वी तक शासकीय स्कूलों, कालेजों में पढ़ने वाली आर्थिक रूप से कमजोर बच्चियों को पढ़ाने के लिए पंजाब नैशनल बैंक ने “पीएनबी लाडली” योजना लाया है। योजना के तहत मंडल कार्यालय, एलडीएम और सम्बन्धित स्कुल के प्राचार्य की सहमति से  चयनित छात्राओं को पुस्तके, स्टडी मटेरियल निशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। आवश्यक हुआ तो बच्चियों की फीस का भी भुगतान पीएनबी करेगा। पीएनबी लाडली” स्कीम के तहत  छात्राओं के नाम पर बचत खाता खोलकर प्रतिमाह रु.100/-जमा भी किया जाएगा।

                                            पीएनबी बिलासपुर मंडल के प्रमुख के एल कुकरेजा ने बताया कि पंजाब नैशनल बैंक ने जरुरतमन्द को ऋण देकर लोगों की  आर्थिक , सामाजिक स्तर  को बढ़ाने के साथ समय समय पर विभिन्न जनहितकारी कार्य भी किये जाते रहे है। पीएनबी की सभी शाखाओ में नये बचत और चालू खाते खोलने का अभियान शुरू कर दिया गया है।

               कुकरेजा ने बताया कि पीएनबी की पहल पर जनता से अनुपयोगी सामग्री का कलेक्शन किया जाएगा। अनुपयोगी सामाग्रियों को गरीब बच्चियों के निशुल्क शिक्षा में उपयोग किया जाएगा।  पाठ्यपुस्तकें.  गणवेश भी बैंक ही उपलब्ध करायेगा। विश्वास है कि आम जनता से पंजाब नैशनल बैंक की मुहिम को भरपूर सहयोग मिलेगा। कुकरेजा ने चूककर्ता ऋणीओ से आग्रह किया है कि सम्बंधित शाखा प्रबंधक से सम्पर्क कर ओवरड्यू राशी शीघ्र जमा कर अपने खातो को नियमित करवाने में सहयोग करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *