छत्तीसगढ़ के 20 हज़ार से अधिक गांवो का रेविन्यू रिकॉर्ड कम्प्युटर मे दर्ज

रायपुर-मुख्य सचिव अजय सिंह की अध्यक्षता में मंत्रालय में आयोजित बैठक में राजस्व विभाग के कामकाज की समीक्षा की गई। बैठक में बताया गया कि राज्य के 20 हजार 214 गांवों में से कुल 19 हजार 239 गांवों के भू-अभिलेखों के कम्प्यूटरीकरण का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। इसी तरह से राज्य की सभी 150 तहसीलों में डाटा सेंटर की स्थापना का कार्य पूर्ण हो गया है। मुख्य सचिव ने गांवों में आबादी सर्वेक्षण कार्य, नक्शों का कम्प्यूटरीकरण, पंजीयन कार्यालयों के कम्प्यूटरीकरण, ई-कोर्ट की स्थिति और राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के कार्यो की समीक्षा की।  बैठक में बताया गया कि राज्य के कुल 18 हजार 207 आबाद गांवों में 17 हजार 962 गांवोें का आबादी सर्वेक्षण का कार्य किया जा चुका है। राज्य की सभी तहसीलों और उप तहसीलों में इंटरनेट सुविधा है। भू-स्वामियों को उनके पंजीकृत मोबाईल पर एस.एम.एस. के जरिये भू-अभिलेखों में परिवर्तन इत्यादि की जानकारी दी जाती है। राजस्व विभाग के अभिलेखागारों को आधुनिक बनाया जा रहा है। सभी जिलों में अभिलेखागारों में मौजूद मिसल, चकबंदी और अधिकार अभिलेख, निस्तार पत्रक और संदर्भ नक्शों के स्केनिंग का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। बैठक में राजस्व विभाग के सचिव एन.के खाखा, संयुक्त सचिव पी. निहलानी, संचालक भू-अभिलेख रमेश शर्मा सहित राजस्व विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *