आगजनी से पीड़ित परिवार को मिली 94 हजार की सरकारी मदद……. जागृति महिला मंडल की भूमिका सराहनीय

मुंगेली ( आकाश दत्त मिश्रा ) ।  बीते माह चकरभाठा ग्राम में रहने वाला एक गरीब परिवार का मकान आगजनी की चपेट में आ गया और देखते ही देखते उस परिवार का आशियाना पूरी तरह जलकर खाक हो गया । इस आगजनी में ना सिर्फ घर बल्कि दैनिक उपयोग से सम्बंधित सभी सामान कपड़े राशन जरूरी दस्तावेज जलकर खाक हो गए और एक दीवार के गिरने से परिवार की एक बच्ची को गम्भीर चोट लगी । घटना के बाद सूचना थाने पहुँची और सारी औपचारिकताएं पूरी की गई । लेकिन उस गरीब परिवार के सामने ना सिर्फ पेट भरने की चुनौती खड़ी थी,  बल्कि सर छिपाने को छत भी नही बची थी ।   ऐसी स्थिति में परिवार की मुखिया राही साहू ने प्रशासन का दरवाजा खटखटाया  । लेकिन सरकारी औपचारिकताओं की धीमी प्रक्रिया ने उसके हौसले को तोड़मरोड़ कर रख दिया ।  ऐसे में जागृति महिला मंडल की महिलाओ ने राही साहू की मदद करने की ठानी और अपने संगठन द्वारा एकत्रित किये गए राशन सामग्री और नगद राशि की मदद की  । लेकिन राही की समस्याएं अभी खत्म नही हुई थी  ।  जिसे लेकर जितनी चिंतित राही साहू थी उतनी ही चिंता में जागृति महिला मंडल की महिलाएं भी थी। अंततः जागृति महिला मंडल ने जिला कलेक्टर  डी. सिंह से पीड़ित महिला के परिवार सहित मुलाकात की और वर्तमान स्थिति  से अवगत कराते हुए जल्द से जल्द प्रशासन के मद से मदद की मांग की  ।  जिस पर कलेक्टर डी सिंह ने तहसीलदार अविनाश ठाकुर को तत्काल आदेश दिया और सबसे पहले राही साहू के परिवार को राहत दिए जाने की बात कही  ।  जागृति महिला मंडल ने बिना देर किए तहसीलदार अविनाश  ठाकुर के दफ्तर पर पीड़िता के परिवार समेत मुलाकात की और परिणामस्वरूप प्रशासन ने पीड़िता को  सहायता राशि के रूप में 94 हजार रुपए का चेक देने का आश्वासन दिया  ।  तहसीलदार अविनाश ठाकुर ने बताया कि आपदा से पीड़ित महिला के परिवार को दो दिन के भीतर चेक प्रदान किया जाएगा जिससे उनके परिवार की लगभग सभी समस्याएं दूर हो जाएगी।
  राही साहू को प्रशासन से मिली सहायता में थोड़ी देर जरूर हुई   । लेकिन ऐसा नही है कि प्रशासन राही साहू के परिवार कीआपबीती भूल गया ।  इस मसले पर प्रकाश डालते हुए अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट करने काम जागृति महिला मंडल ने किया जो कि काबिले तारीफ है।
पुलिस जवान ने महिला मंडल को दी जानकारी पीड़ित परिवार की
चकरभठा ग्राम में हुई आगजनी की घटना के बाद मुंगेली पुलिस ने घटना स्थल का मुआयना किया और अपनी औपचारिकता पूरी की। समय बीतने के साथ इस घटना में अपना सबकुछ गवां चुके राही साहू के परिवार को लगभग सभी भूल चुके थे  । लेकिन 9 सदस्यों का बेघर परिवार जिनमे 2 बेटियों के साथ विधवा माँ की तकलीफें पुलिस विभाग में पदस्थ धर्मेंद्र ठाकुर को बार बार मन को विचलित कर रही थी   । जिस पर धर्मेंद्र ठाकुर ने जागृति महिला मंडल को राही साहू के परिवार की परेशानियों की जानकारी दी  ।  जिसपर जागृति महिला मंडल को कार्य करने की दिशा मिली।
पुलिस अधीक्षक पारुल माथुर ने की प्रशंसा
पुलिस जवान धर्मेंद्र ठाकुर के द्वारा अपनी ड्यूटी से हटकर विधवा महिला के परिवार की मदद के लिए जो प्रयास किये वो सराहनीय है।  ऐसे कार्य और मानसिकता आमजनता और पुलिस के सम्बन्धो को बेहतर बनाती है हमे इसी तरह से अपने आम जनजीवन में भी कार्य करने चाहिए।*
 इस दौरान जागृति महिला मंडल से  नगर पालिका अध्यक्ष  सावित्री सोनी, जिला पंचायत अध्यक्ष कृष्णा दुर्गा बघेल, प्रमिला चौरसिया  जागृति महिला मंडल अध्यक्षा मेघा मिश्रा, सरिता बाजपेयी, लक्ष्मी सोनी, सुधा राजपूत उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *