सचिव पर भारी पड़ी नाफरमानी..जिला पंचायत सीईओ ने किया सस्पेंड…जानकारी देने में किया आनाकानी

बिलासपुर—जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी फरिहा आलम सिद्धकी ने जनपद पंचायत बिल्हा ग्राम पंचायत बहतराई सचिव को निलंबित कर दिया है। बहतराई सचिव लखन सिंह को निराश्रित पेंशन मामले में दोषी पाया गया है। इसके अलावा प्रधानमंत्री आवास योजना को लेकर जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी के पास लखन सिंह की लगातार शिकायत मिल रही थी।
               जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी फरिहा ने बहतराई सचिव को निलंबित कर दिया है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी को स्थानीय लोगों से सचिव के खिलाफ पेंशन और प्रधानमंत्री आवास योजना को लेकर लगातार शिकायत मिल रही थी। शिकायतों के मद्देनजर जिला पंचायत सीईओ ने निलंबन का सख्त कदम उठाया है।
                सीईओ के अनुसार लखन सिंह निराश्रित पेंशन भुगतान संबंधी जानकारी समय पर प्रस्तुत नहीं किया है। कई बार नोटिस भी भेजा गया। बावजूद इसके काम में लापरवाही की है। लखन सिंह पर प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास निर्माण में रूचि नहीं लिए जाने की शिकायत को भी सहा पाया गया है।  जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत सचिव का प्रिया साॅफ्ट में एंट्री वर्ष 2015-16 से नहीं है। जनपद पंचायत में आयोजित सचिवों के समीक्षा बैठक में भी लखन सिंह हमेशा अनुपस्थित रहता है। लखन सिंह ने निर्देश के बाद भी शासन को चाही गयी जानकारी समय पर पेश नहीं किया है।
            लगातार लापरवाहीऔर स्थानीय लोगों की शिकायतों को सही पाए जाने के बाद लखन सिंह को निलंबित किया गया है। निलबंन की अवधि में लखन सिंह को जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी। निलंबन काल में निलंबित सचिव का मुख्यालय कार्यालय जनपद पंचायत बिल्हा किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *