सिर पर मटका रख ग्रामीणों ने घेरा तहसील कार्यालय….कहा साहब…बाद में देखेंगे अच्छे दिन..पहले पानी दो

   बिलासपुर— अप्रैल महीने में ही सूर्य देवता ने प्रचंंड रूप ले लिया है। ताल तलैया कुआ,बावड़ी और अन्य जल स्रोतों का सूखने का सिलसिला शुरू हो गया है। पेयजल की समुचित व्यवस्था नहीं होने से परेशान बेलतरा विधानसभा के एक दर्जन से अधिक ग्रामीणों ने आज तहसील कार्यालय का घेराव किया। भीड़ आने की सूचना मिलते ही जिला प्रशासन ने पुलिस बल को कलेक्टर और तहसील कार्यालय के आस पास तैनात कर दिया। स्थिति बिगड़ने की सूरत में नेहरू चौक पर पुलिस डग्गा भी तैनात नजर आया।

                 कांग्रेस नेता पिनाल उपवेजा की अगुवाई में बेलतरा विधानसभा के करीब दर्जभर गांव के ग्रामीणों ने तहसील कार्यालय का घेराव किया। पिनाल ने बताया कि कई बार शिकायत के बाद भी जिला प्रशासन ने ग्रामीणों की शिकायत को कभी भी गंभीरता से नहीं लिया है। जबकि गांव के लोग 12 महीना ओंगंदा पानी पीने को मजबूर हैं।

                                  पिनाल उपवेजा के साथ दर्जनों ग्रामीण महिला सिर पर घड़ा लेकर तहसील कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया। इस दौरान ग्रामीणों ने पानी समस्या की शिकायत को तहसील प्रशासन के सामने रखा। पिनाल उपवेजा और ग्रामीणों ने बताया कि गर्मी के पहले हम लोग गंदा पानी पीने को मजबूर थे। गर्मी के चलते हालात बद से बदतर हो गए हैं। अब तो गंदा पानी भी नसीब नहीं हो रहा है। हैंडपंप भी सूख चुके हैं। तालाब में भी पानी नहीं है।

              पुलिस और तहसील प्रशासन से पिनाल ने बताया कि हम लोग ना तो आंदोलन करने आए हैं। और ना ही हमारी कुछ ऐसी मंशा ही है कि पुलिस और जिला प्रशासन को परेशान करें। हमारी एक मात्र विनती है कि हमारे सूखे घड़े को साफ पानी से भर दिया जाए। ग्रामीणों को पानी के लिए दर दर भटकना पड़ रहा है।

                           पिनाल ने बताया कि बेलतरा विधानसभा के दर्जनों गांव भयंकर सूखे की मार झेल रहे हैं। खासतौर पर अकलतरी,मदनपुर,बेलतरा,खमतराई,अटल आवास,मोपका,खैरमुंडी, पौंसरा,रमतला,पेंडरवा,रानीगांव, जैसे क्षेत्र ग्रामीण क्षेत्रों में साफ पानी के लिए लोग परेशान हैं। तालाब सूखने के कारण मवेशियों को भी परेशानी हो रही है। कांग्रेस नेता ने बताया कि चिंगराजपारा,लिंगियाडीह,राजकिशोर नगर वासी भी भीषण गर्मी में पानी की कमी को लेकर चिंतित हैं।

         ग्रामीणों की शिकायत पर नायब तहसीलदार ने शिकायत को सक्षम अधिकारी के सामने रखने का आश्वासन दिया। इस दौरान नाराज ग्रामीणों ने कहा यदि उनकी शिकायत को गंभीरता से नहीं लिया जाता है। फिर से कलेक्टर और कलेक्टर कार्यालय का घेराव करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *